बायजूज ने तिरुवनंतपुरम में 140 एंप्लॉयीज को निकालने का फैसला वापस लिया

यह फैसला ऐसे समय में आया है जब मीडिया रिपोर्ट्स में खबरें चल रहीं थी कि बायजूज 140 एंप्लॉयीज को निकालकर तिरुवनंतपुरम में अपना कामकाज बंद करने जा रही है.

बायजूज ने तिरुवनंतपुरम में 140 एंप्लॉयीज को निकालने का फैसला वापस लिया

Wednesday November 02, 2022,

3 min Read

BYJU'S ने केरल में 140 एंप्लॉयीज को निकालने और तिरुवनंतपुरम में कामकाज बंद करने के फैसले को वापस ले लिया है. बुधवार को बायजूज के फाउंडर बायजू रविंद्रन ने केरल के मुख्यमंत्री पी विजयन से मुलाकात के बाद ये फैसला लिया है.

बायजूज के स्पोक्सपर्सन ने इस बारे में बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी. बयान में स्पोक्सपर्सन ने कहा, 'केरल के मुख्यमंत्री श्री पी विजयन और बायजू के फाउंडर बायजू रविंद्रन के बीच गहन चर्चा के बीच कंपनी ने फैसला किया है कि हम तिरुवनंतपुरम में प्रॉडक्ट डिवेलपमेंट सेंटर जारी रखेंगे. और यहां काम करने वाले 140 असोसिएट्स भी इस सेंटर में काम करना जारी रखेंगे.'

उन्होंने आगे कहा, बायजू रविंद्रन जो खुद केरल से आते हैं उन्होंने इस फैसले के जरिए राज्य के प्रति अपनी प्रतिबद्धता दोहराई है. बायजूज की टीम भी उनकी अगुवाई में केरल राज्य में ग्रोथ स्ट्रैटजी पर काम करते रहेगी.

आपको बता दें कि कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में ऐसी खबर आई थी कि कंपनी कॉस्ट कटिंग उपायों के तहत बायजूज तिरुवनंतपुरम में 140 एंप्लॉयीज को निकालकर वहां अपना कामकाज बंद करने जा रही है.

इस खबर के बाद वहां के सेंटर में काम करने कई एंप्लॉयीज ने केरल के लेबर मिनिस्टर वी सिवनकुट्टी से मुलाकात की थी, जिसके बाद उन्होंने इस कथित छंटनी के मामले में जांच के आदेश देगी. इसके तुरंत बाद लेबर डिपार्टमेंट ने कोई समाधान निकालने के लिए मीटिंग बुलाई.

पिछले सप्ताह ही इंडिया के सबसे ज्यादा वैल्यूएशन वाले एडटेक स्टार्टअप के फाउंडर बायूज रविंद्रन ने कंपनी से निकाले जाने वाले लोगों को मेल भेजकर माफी मांगी थी.

उन्होंने मेल में लिखा था, ‘मैं उन सभी से माफी मांगना चाहता हूं जिन्हें बायजूज को छोड़कर जाना पड़ रहा है. आप लोग मेरे लिए महज एक नाम भर नहीं हैं. ना ही कोई हेड काउंट, आप लोग मेरी कंपनी का महज 5 फीसदी हिस्सा भर नहीं हैं, आप लोग मेरे खुद का 5 फीसदी हिस्सा हैं.’

मालूम हो कि एडटेक डेकाकॉर्न पिछले कुछ महीनों से उसकी अकाउंटिंग फ्रैक्टिसेज और छंटनी को लेकर चर्चा में है. बायजूज ने अपनी नतीजे जारी करते हुए कहा था कि उसका ध्यान अब प्रॉफिटेबिलिटी पर है और जो भी छंटनी वो कर रही वो सभी कॉस्ट-कटिंग का हिस्सा है ताकी इस टारगेट को हासिल किया जा सके.

कंपनी अपने वित्तीय नतीजों के बाद से लगातार आलोचनाओं का शिकार हो रही है. मगर इसी बीच कुछ दिनों पहले खबर आई कि एडटेक क्षेत्र की इस दिग्गज कंपनी ने 22 अरब डॉलर के वैल्यूएशन पर मौजूदा निवेशकों से 250 मिलियन डॉलर की फंडिंग जुटाई है.

 


Edited by Upasana