मध्य प्रदेश में 2,400 करोड़ रपये से अधिक का निवेश करेंगी अमेरिकी कंपनियां

By PTI Bhasha
September 06, 2016, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:17:15 GMT+0000
मध्य प्रदेश में 2,400 करोड़ रपये से अधिक का निवेश करेंगी अमेरिकी कंपनियां
आईटी कंपनियों का निवेश 1,000 करोड़ रुपये का होगा जिससे 10,000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा कि प्रदेश में अमेरिकन कंपनियां भविष्य में सूचना प्रौद्योगिकी, निर्माण और अन्य क्षेत्रों में 2,400 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करेंगी। इसमें आईटी कंपनियों का निवेश 1,000 करोड़ रुपये का होगा जिससे 10,000 से अधिक लोगों को रोजगार मिलेगा। पांच दिन की अमेरिका यात्रा से लौटने के बाद भोपाल लौटे मुख्यमंत्री निवास में चौहान ने संवाददाताओं को बताया, ‘‘मेरी अमेरिका यात्रा अपने उद्देश्यों में उम्मीदों से अधिक सफल रही। प्रदेश में रोजगार के अधिक से अधिक अवसर बढ़ाने का विशेष प्रयास किया गया। आईटी क्षेत्र ऐसा है जिसमें कम पूंजी निवेश से रोजगार के अधिक अवसर हासिल होते हैं। उन्होंने मध्य प्रदेश को हासिल हुए निवेश प्रस्तावों की जानकारी देते हुए बताया कि आईटी कंपनी से सहमति ज्ञापन :एमओयू: किये हैं जिनमें 1,000 करोड़ के पूंजी निवेश से 10,000 से अधिक लोगों को रोजगार प्राप्त होगा। कुल 25 कंपनियों से आमने सामने चर्चा की गई एवं 100 कंपनियों ने निवेशक सम्मेलन में भाग लिया।

चौहान ने बताया कि आईटी क्षेत्र की अमेरिकी कंपनी यूएसटी ग्लोबल द्वारा 650 करोड़ रपये के निवेश से 5,000 व्यक्तियों को रोजगार देने का प्रस्ताव मिला है। इसमें 1,000 महिलाओं के लिये रोजगार शामिल हैं। इसी प्रकार सिरियस एक्सम द्वारा 100 करोड़ रूपये के निवेश से 3,000 व्यक्तियों को, टीडब्ल्यूआर द्वारा 100 करोड़ रपये के निवेश से 1,000 और एरेक्स इन्फोटेक्ट द्वारा 100 करोड़ रपये के पूंजी निवेश से 1,000 व्यक्तियों को रोजगार देने के परियोजना प्रस्ताव दिये गये हैं। इसके साथ ही कौल ग्रुप के राजीव कौल को आईटी पार्क की स्थापना के लिए 25 एकड़ भूमि पूर्व से ही दी जा चुकी है। कंपनी ने शीघ्र इस पार्क में निर्माण प्रारंभ करने का आश्वासन दिया है। इसी तरह आरएमसी कंपनी इंदौर क्रिस्टल आईटी पार्क में एक बीपीओ की स्थापना करेगी। इस बीपीओ में कम से कम 500 लोगों को रोजगार प्राप्त होगा।

image


मुख्यमंत्री चौहान ने निर्माण क्षेत्र में निवेश प्रस्तावों की जानकारी देते हुए बताया कि आईटी स्ट्रैटजी, टीआरडब्ल्यू जो विश्व की वाहन कलपुर्जे बनाने के प्रसिद्ध जापानी कंपनी है, ने लगभग 1,000 करोड़ रपये के पूंजी निवेश से वाहन कलपुर्जा इकाई की स्थापना की सहमति दी, जिसमें 400 लोगों को रोजगार प्राप्त होगा। उन्होंने बताया कि प्रोग्रेस रेल कंपनी द्वारा रेल कम्पोनेंट के निर्माण के प्रस्ताव पर सहमति बनी है। कंपनी द्वारा इसकी लागत और रोजगार की जानकारी पृथक से दी जायेगी।

मुख्यमंत्री ने बताया कि कोका कोला द्वारा प्रदेश में एक इकाई की स्थापना 750 करोड़ रूपये की लागत से की जा रही है। कंपनी खाद्य प्रसंस्करण के क्षेत्र में और अधिक निवेश करना चाहती है। इसके अलावा सनलाइट फाइनेंशियल कंपनी ने प्रदेश में सौर ऊर्जा संयंत्र तथा फोटोवोल्टि सेल के निर्माण की इकाई स्थापित करने में रचि जाहिर की है।

उन्होंने बताया कि कासमी (चीन का लघु एवं मध्यम उपक्रमों का संगठन) प्रदेश में कम से कम 500 एकड़ भूमि में एक हजार औद्योगिक पार्कों की स्थापना करेगा जिसमें चीन की कंपनी पूंंजी निवेश करेगी।

मुख्यमंत्री ने बताया कि उन्होंने प्रदेश में निवेश की संभावनाओं, प्रदेश की औद्योगिक नीति, कारोबार सुगमता, त्वरित निर्णय लिये जाने के बारे में बताते हुए कंपनियों को मध्य प्रदेश में पूंजी निवेश के लिये एवं इन्दौर में होने वाले वैश्विक निवेशक सम्मेलन :जीआईएस: के लिये आमंत्रित किया। लगभग दो सौ से अधिक उद्योग समूहों के प्रतिनिधि जीआईएस 2016 में भाग लेंगे।

image


चौहान ने बताया प्रदेश को कम दरों पर रिण उपलब्ध कराने का प्रस्ताव भी मिला है। सोलारइनों कंपनी ने मेट्रो तथा अन्य बुनियादी ढांचा परियोजनाओं में तीन अरब डॉलर तक का रिण उपलब्ध कराने का प्रस्ताव दिया। इस प्रस्ताव का राज्य शासन द्वारा परीक्षण किया जायेगा। उन्होने बताया कि अमेरिका यात्रा के दौरान स्वास्थ्य एवं सामाजिक क्षेत्र में कार्य के अत्यंत महत्वपूर्ण प्रस्ताव प्राप्त हुए, जिनका क्रियान्वयन पीड़ित मानवता की सेवा में एक महत्वपूर्ण कदम होगा। विश्व की प्रसिद्ध दवा निर्माता कंपनी फाइजर कैंसर की शीघ्र पहचान के लिये स्वास्थ्य विभाग के साथ काम करना चाहती है। प्रदेश का स्वास्थ्य विभाग विशेषकर अनुसूचित जाति-जनजाति बहुल क्षेत्रों में कंपनी के साथ कैंसर रोग की पूर्व खोज के क्षेत्र में काम करेगा।

उन्होंने बताया कि शंकराआई फाउंडेशन ट्रस्ट द्वारा इंदौर शहर में चैरिटेबल आई हॉस्पिटल की स्थापना के लिये दो एकड़ भूमि आवंटित किये जाने का प्रस्ताव दिया है। इस अस्पताल में 25 हजार लोगांे का ऑपरेशन प्रतिवर्ष नि:शुल्क किया जायेगा तथा आम नागरिकों को कम दरों पर विश्वस्तरीय इलाज मिल सकेगा।

मुख्यमंत्री ने बताया कि अमेरिका में भारतीय चिकित्सकों के सबसे बड़े संगठन अमेरिकन एसोसिएशन ऑफ फिजीशियन ऑफ इंडियन ओरिजन (आपी) के अध्यक्ष अजय लोधा ने एसोसिएशन द्वारा बड़वानी एवं इंदौर में ट्रामा सेंटर की स्थापना का प्रस्ताव दिया गया। जिस पर सहमति दी गई।

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close