प्रेग्नेंसी के आखिरी दिनों में भी काम कर बनाई कोरोना टेस्ट किट, देश भर में हो रही है तारीफ

By yourstory हिन्दी
March 30, 2020, Updated on : Mon Mar 30 2020 05:07:03 GMT+0000
प्रेग्नेंसी के आखिरी दिनों में भी काम कर बनाई कोरोना टेस्ट किट, देश भर में हो रही है तारीफ
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

वायरलॉजिस्ट मीनल दाखवे भोंसले कोरोना वायरस जांच किट पर काम कर रही थीं और इस दौरान वे अपनी प्रेग्नेंसी के आखिरी महीनों में भी थीं।

वायरलॉजिस्ट मीनल दाखवे भोंसले की हर ओर हो रही है तारीफ

वायरलॉजिस्ट मीनल दाखवे भोंसले की हर ओर हो रही है तारीफ (चित्र: ट्विटर)



कोरोना वायरस के खिलाफ जारी लड़ाई में पूरा देश अपने स्तर पर सहयोग कर रहा है, इसी बीच पुणे की वायरलॉजिस्ट मीनल दाखवे भोंसले ने भी ऐसा सराहनीय काम किया है, जिसके लिए हर ओर उनकी तारीफ़ हो रही है।


वायरलॉजिस्ट मीनल दाखवे भोंसले कोरोना वायरस जांच किट पर काम कर रही थीं और इस दौरान वे अपनी प्रेग्नेंसी के आखिरी महीनों में भी थीं। मीनल ने तय डेडलाइन के भीतर टेस्ट किट विकसित की और बीते हफ्ते ही उन्होने एक बेटी को जन्म दिया।


मीनल पुणे की डायग्नोस्टिक फर्म माइलैब डिस्कवरी सॉल्युशंस के लिए काम कर रही थीं। कुछ दिन पहले इस फर्म को कोरोना टेस्ट किट निर्माण की मंजूरी मिली थी। इस संबंध में मीनल ने मीडिया से बात करते हुए उन्हे देश की सेवा करनी थी और इस लिए उन्होने इसे चुनौती की तरह लिया।


मीनल की टीम में 10 सदस्य थे और टीम ने प्रोजेक्ट पूरा होने के साथ टेस्टिंग किट नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ वायरलॉजी को 18 मार्च को ही सौंप दी है।


माइलैब की इस कोरोना टेस्टिंग किट से 100 सैंपल टेस्ट किए जा सकते हैं और इस टेस्ट का खर्च भी 12 सौ रुपये आता है, जबकि विदेशी किट के साथ टेस्ट का खर्च 45 सौ रुपये आता है।


माइलैब डिस्कवरी सॉल्युशंस फिलहाल रोजाना 15 हज़ार टेस्ट किट के उत्पादन की क्षमता रखती है, जबकि क्षमता बढ़ाने पर उत्पादन प्रतिदिन 25 हज़ार टेस्ट किट तक जा सकता है।


रविवार दोपहर 2 बजे तक भारत में कोरोना वायरस संक्रमण के 1045 मामलों की पुष्टि हो चुकी है, जबकि अब तक 86 लोग इससे रिकवर हुए हैं।