कोरोना वायरस : गूगल ने अपने कार्यालयों में आवाजाही सीमित की, ऑस्ट्रेलियाई एयरलाइंस ने बंद की ज्यादातर उड़ानें, सीईओ नहीं लेंगे वेतन

By भाषा पीटीआई
March 11, 2020, Updated on : Wed Mar 11 2020 07:01:30 GMT+0000
कोरोना वायरस : गूगल ने अपने कार्यालयों में आवाजाही सीमित की, ऑस्ट्रेलियाई एयरलाइंस ने बंद की ज्यादातर उड़ानें, सीईओ नहीं लेंगे वेतन
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

सैन फ्रांसिस्को, घातक कोरोना वायरस के खिलाफ सावधानी बरतते हुए गूगल ने सिलिकॉन वैली, सैन फ्रांसिस्को और न्यूयॉर्क स्थित अपने कार्यालयों में आवाजाही को प्रतिबंधित कर दिया।


k


इससे पहले एप्पल ने अपने कर्मचारियों को घर से काम करने की सलाह दी थी और अप्रैल में होने वाले प्रतिष्ठित टेड सम्मेलन को टाल दिया गया है।


गूगल के प्रवक्ता ने बताया कि कोरोना वायरस के जोखिम को कम करने के लिए गूगल के कुछ कार्यालयों में “बाहरी / सामाजिक यात्राओं” को प्रतिबंधित कर दिया गया है, और निकट भविष्य में नौकरियों के लिए सभी साक्षात्कार आमने-सामने के बजाए “वर्चुअल” होंगे।


गूगल, फेसबुक, माइक्रोसॉफ्ट और अमेजन सहित कई प्रौद्योगिकी कंपनियां पहले ही अपने कर्मचारियों को कार्यालय जाने के बजाय घर से काम करने का विकल्प दे चुकी हैं।


ऑस्ट्रेलियाई एयरलाइंस ने बंद की ज्यादातर उड़ानें

ऑस्ट्रेलियाई विमानन कंपनी क्वांटास ने मंगलवार को कहा कि कोरोना वायरस के प्रकोप के चलते वह अपने ज्यादातर एयरबस ए-380 विमानों की उड़ान बंद कर रही है और चूंकि उसकी ज्यादा अंतरराष्ट्रीय उड़ानें बंद हो गई हैं, इसलिए उसके सीईओ अपना वेतन नहीं लेंगे।


क्वांटास और उसकी सस्ती विमानन सेवा जेटस्टार ने अगले छह महीनों के लिए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों में लगभग 25 प्रतिशत की कटौती की है। इनमें से ज्यादातर उड़ानें एशिया और अमेरिका के रूट की हैं।


क्वांटास ने कहा कि वह अपने 10 डबल-डेकर एयरबस ए380 में से आठ विमानों की उड़ानों को बंद कर देगा। एयरलाइन अपने बेड़े के बड़े विमानों की जगह छोटे विमानों का परिचालन करेगी और उड़ानों की संख्या को भी कर कर दिया जाएगा।


कंपनी के सीईओ एलन जॉयस ने कहा,

“दुनियाभर में कोरोना वायरस का प्रकोप जारी है, जिसके चलते पिछले पखवाड़े में हमने अपने अंतरराष्ट्रीय नेटवर्क की बुकिंग में तेज गिरावट देखी है।’’


उन्होंने कहा,

“हमारा अनुमान है कि अगले कुछ महीनों तक मांग कम बनी रहेगी, इसलिए हम सितंबर के मध्य तक अपनी क्षमता में कटौती कर रहे हैं।’’

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close