कोरोना: कर्नाटक में बस को बना दिया बनाया मोबाइल फीवर क्लीनिक, यहाँ डॉक्टर और मरीज दोनों के लिए हैं बेहतर इंतजाम

By yourstory हिन्दी
April 26, 2020, Updated on : Sun Apr 26 2020 10:31:31 GMT+0000
कोरोना: कर्नाटक में बस को बना दिया बनाया मोबाइल फीवर क्लीनिक, यहाँ डॉक्टर और मरीज दोनों के लिए हैं बेहतर इंतजाम
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोरोना वायरस के बढ़ते प्रकोप के बीच कर्नाटक स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन ने अपनी एक बस को मोबाइल फीवर क्लीनिक में तब्दील कर दिया है।

KSRTC ने बस को मोबाइल फीवर क्लीनिक में बदल दिया है।

KSRTC ने बस को मोबाइल फीवर क्लीनिक में बदल दिया है।



देश में कोरोना वायरस के मामले लगातार सामने आ रहे हैं, इसी के साथ देश भर इस समय लोगों से लॉकडाउन का पालन करने की अपील की जा रही है। देश के कई हिस्सों में कोरोना संक्रमण के कुछ मामले ऐसे सामने आए हैं जहां संक्रमित व्यक्ति में कोई लक्षण नज़र नहीं आए थे।


कोरोना वायरस को मात देने के लिए कई संस्थाएं अपने स्तर पर सरकार की मदद कर रही हैं, अब इस बीच कर्नाटक की राज्य बस सेवा KSRTC (कर्नाटक स्टेट रोड ट्रांसपोर्ट कॉर्पोरेशन) ने अपनी एक बस को मोबाइल फीवर क्लीनिक में तब्दील कर दिया है।


इस बस को एक अस्पताल की तरह तैयार किया गया है, जहां मरीज के लिए एक बिस्तर और डॉक्टर के लिए एक केबिन की व्यवस्था की गई है। बस में बैठने की सुविधा के साथ ही दवाओं आदि का भी पूरा इंतजाम किया गया है।


KSRTC के अनुसार इस बस को तैयार करने में 50 हज़ार रुपये का खर्च आया है। गौरतलब है कि कर्नाटक में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले 500 पार कर चुके हैं, जबकि खबर लिखे जाने तक राज्य में 100 लोग इससे रिकवर भी हो चुके हैं।


देश में भी कोरोना वायरस संक्रमण के मामलों में लगातार वृद्धि देखी जा रही है। देश में अब तक 25,031 मामले पाए गए हैं, जबकि 5730 लोग इससे रिकवर हुए हैं।