अनुष्का शर्मा के 'ब्रेकअप सॉन्ग' से पहले मनीषा पांडेय लिख चुकी हैं ब्रेकअप पोस्ट

By yourstory हिन्दी
March 22, 2017, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:16:30 GMT+0000
अनुष्का शर्मा के 'ब्रेकअप सॉन्ग' से पहले मनीषा पांडेय लिख चुकी हैं ब्रेकअप पोस्ट
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

"यदि आप फेसबुक पर हैं और हिन्दी पढ़ने वालों में से हैं, तो शायद ही आप मनीषा पांडेय को न जानते हों और यदि नहीं जानते हैं, तो हम आपको बताने के लिए बता देते हैं, कि मनीषा पांडेय कौन हैं। पेशे से मनीषा पांडेय पत्रकार हैं और सोशल मीडिया पर महिलाओं के मुद्दों पर अपनी बेबाक राय के लिए पहचानी जाती हैं। मनीषा ने आज से चार साल पहले अपनी फेसबुक वॉल पर एक ब्रेकअप पोस्ट लिखी थी, जिसे उन्होंने नाम दिया "चौथा ब्रेकअप"। यदि आप मनीषा पांडेय की ये पोस्ट पढ़ेंगे, तो आपको लगेगा कि अनुष्का शर्मा पर फिल्माया गया 'ब्रेकअप सॉन्ग...' मनीषा की पोस्ट से होते हुए गीतकार अमिताभ भट्टाचार्य तक पहुंचा होगा।"

<div style=

पहली फोटो में मनीषा पांडेय हैं और दूसरी फोटो में ब्रेकअप सॉन्ग पर थिरकती बॉलिवुड अभिनेत्री अनुष्का शर्माa12bc34de56fgmedium"/>

पिछले साल 2016 में 28 अक्टूबर को रिलीज़ हुई फिल्म अये दिल है मुश्किल का ब्रेकअप सॉन्ग... काफी चर्चा में रहा था। दरअसल ये गाना था ही ऐसा कि इसे गुनगुनाये बिना कोई रह नहीं सकता और सबसे अच्छी बात इस गाने की ये थी, कि गाना प्रेम में रोना-धोना करने वाली लड़कियों को एक बोल्ड संदेश देते हुए ज़िंदगी को फिर से जीना सीखाता है। अनुष्का का ब्रेकअप सॉन्ग कई हफ्तों तक एफएम पर नंबर वन बना रहा, जिसे मशहूर गीतकार अमिताभ भट्टाचार्य ने लिखा है। अमिताभ भट्टाचार्य एक से एक सुपरहिट गाना फिल्म इंडस्ट्री को दे चुके हैं। उन सुपर हिट सॉन्ग्स में से एक हैं, ब्रेकअप सॉन्ग... 

आज से चार साल पहले अपनी फेसबुक वॉल पर मनीषा पांडेय ने एक पोस्ट डाली थी, जिसमें लिखा था-

"चौथे ब्रेकअप के बाद लड़की घर लौटकर आई। अपना पर्स और सैंडिल जगह पर रखा, कुछ बिखरी किताबों को करीने से बुक शेल्‍फ में सजाया, कुशन को सलीके से रखा, अपने बिस्‍तर पर आसमानी रंग की नई चादर बिछाई, गुलदस्‍ते में नए फूल सजाए और फिर बड़े प्‍यार से आंखों में भर-भरकर अपने सुंदर से कमरे का देखा। फिर खुद से कहा, "मुझे अपने घर से प्‍यार है, मुझे खुद से प्‍यार है।" उस दिन चेहरे पर स्‍क्रब किया, देह मल-मलकर नहाई, अपना सबसे खूबसूरत गाउन पहना (किसी लड़के के लिए नहीं, अपने लिए, अपनी खुशी के लिए), सिरहाने रखा पीली रौशनी वाला लैंप जलाया फिर अपने साफ-सजीले बिस्‍तर पर पैर फैलाकर डॉरिस लेसिंग की "गोल्‍डन नोटबुक" पढ़ने लगी।

आश्‍चर्य नहीं कि इस बार ब्रेकअप पर उसने एक आंसू भी नहीं बहाया। सच तो ये है कि उस मक्‍कार का ख्‍याल तक नहीं आया। अच्‍छा हुआ गया। चूल्‍हे में जाए। बास्‍टर्ड। उसकी हिम्‍मत कैसे हुई मेरा मोबाइल चेक करने की। अविश्‍वास मुझमें नहीं, उसके थर्ड क्‍लास मर्दाने दिमाग में है।

------

अब लड़की को मर्दों के ऐसे मूर्खतापूर्ण, घटिया, इंसिक्‍योर और कंटोलिंग दिमाग पर आश्‍चर्य नहीं होता। उसे आश्‍चर्य होता है अपनी हिम्‍मत पर और इस बेपनाह भरोसे और मुहब्‍बत पर, जो वो खुद से करने लगी है। पहले प्रेमी की कमीनगियों को जिंदगी से आउट कहने में चार साल लग गए। दूसरी बार जब दिल टूटा तो कुछ आंसू तो आंखों से फूट ही पड़े थे। लेकिन अब वो अपने कीमती आंसू चिरकुटों पर नहीं खर्च करती। अब वो खुद अपना घर बना रही है, अपनी जिंदगी गढ़ रही है और अपने फैसले ले रही है।

अपने घर, अपनी आजादी और अपने फैसलों से भरी जिंदगी का मजा ही कुछ और है। इसका स्‍वाद बस वही जानती है, जिसने उस जिंदगी को चखकर देखा है।"

इस पोस्ट को पढ़ने के बाद कोई भी कह सकता है, कि अमिताभ भट्टाचार्य ने मनीषा पांडेय की कहानी 'चौथा-ब्रेकअप' फेसबुक पर पढ़ने के बाद ब्रेकअप सॉन्ग... लिखा होगा या फिर हो सकता है ये सबकुछ महज़ एक इत्तेफाक हो।

मनीषा पांडेय सोशली मीडिया पर अपनी बेबाक और बोल्ड राय रखने के लिए जानी जाती हैं। उनके फॉलोवर्स की संख्या भी बहुत ज्यादा है। वो जो भी लिख देती हैं, उसे अनिगनत शेयरिंग और लाइक्स मिलते हैं। वैसे सही तरह से देखा जाये, तो जिन दिनों लड़कियां फेसबुक पर फूल-पत्तियों की तस्वीरें चिपका रही थीं, उन दिनों मनीषा पांडेय लड़कियों/औरतों के मन की बात को फेसबुक जैसे सोशल मीडिया प्लेफॉर्म पर काफी बोल्ड तरीके से रख रही थीं। ये सच है, कि उन्हें पढ़कर कई लड़कियों ने फेसबुक पर बोल्डली अपनी बात रखनी सीखी।

खैर, फिलहाल सिर्फ इतना ही कि ये सोचना अपने आप में दिलचस्प है, जिस पोस्ट को मनीषा ने आज से चार साल पहले अपनी फेसबुक वॉल पर लिखा था, ठीक उसी पोस्ट से मेल खाता हुआ सॉन्ग अमिताभ भट्टाचार्य नें फिल्म अये दिल है मुश्किल के लिए पिछले साल लिख दिया। बात अनुष्का के ठुमकों में जितनी थी, उससे कहीं ज्यादा इस गीत के बोलों में है और लड़की के गीत को लड़की बनकर महसूस करने में है।

यदि आप चाहें तो मनीषा पांडेय की असल पोस्ट उनकी फेसबुक वॉल पर भी पढ़ सकते हैं,

मनीषा पांडेय की फेसबुक पोस्ट, चौथा ब्रेकअप...

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close