1.5 लाख पदों पर रोजगार प्रक्रिया पूरी: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा, "हमने हाल ही में एक लाख पचास हजार कर्मचारियों के लिए रोजगार प्रक्रिया पूरी की है और उसके समापन के तुरंत बाद, हमने सहायक लोका पायलट (ALP) के चयन से नई प्रक्रिया शुरू कर दी है. यह पहला कदम है."

1.5 लाख पदों पर रोजगार प्रक्रिया पूरी: रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव

Sunday January 28, 2024,

2 min Read

केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि रेलवे अधिक रोजगार के अवसर पैदा करने की योजना बना रहा है और 1.5 लाख पदों के लिए रोजगार प्रक्रिया पूरी हो चुकी है.

उन्होंने कहा, "हमने हाल ही में एक लाख पचास हजार कर्मचारियों के लिए रोजगार प्रक्रिया पूरी की है और उसके समापन के तुरंत बाद, हमने सहायक लोका पायलट (ALP) के चयन से नई प्रक्रिया शुरू कर दी है. यह पहला कदम है."

वैष्णव ने वार्षिक रोजगार प्रक्रिया और इसके पीछे के उद्देश्य पर प्रकाश डाला.

उन्होंने आगे कहा, "ग्रुप डी में तकनीकी और गैर-तकनीकी लोकप्रिय श्रेणियों में रोजगार के अधिक अवसर होंगे. सब कुछ एक साथ करने के बजाय, हमारा उद्देश्य अब अधिक रोजगार प्राप्त करना है. एक वार्षिक भर्ती प्रक्रिया शुरू की गई है ताकि अधिक से अधिक लोगों को अवसर मिल सकें."

ईटी की एक रिपोर्ट के अनुसार, पूर्व मध्य रेलवे के महाप्रबंधक अनिल कुमार खंडेलवाल ने कहा, "रेलवे ने एक नई भर्ती प्रक्रिया शुरू की है. रेलवे हर साल नियमित आधार पर वैकेंसी निकालेगा. रेलवे के इन्फ्रास्ट्रक्चर और संचालन में हर साल वृद्धि हो रही है. वैकेंसी कई श्रेणियों में वार्षिक आधार पर भरी जाएंगी. इस दिशा में 20 जनवरी से 5,696 एएलपी (सहायक लोको पायलट) की भर्ती शुरू हो चुकी है. आवेदकों को हर साल भर्ती प्रक्रिया में भाग लेने का अवसर मिलेगा."

उन्होंने आगे कहा कि, किसी कारण से, यदि वे चालू वर्ष में असफल होते हैं, तो वे अगले वर्ष फिर से उपस्थित हो सकते हैं.

उन्होंने कहा, "पहले, रेलवे हर तीन या चार साल में एक बार भर्ती करता था. अब रेलवे हर साल वैकेंसी निकालेगा और भर्ती प्रक्रिया को अंजाम देगा. 5,696 लोको पायलटों की पहली अधिसूचना 20 जनवरी को जारी की जा चुकी है. अब उम्मीदवार को रेलवे में अधिक अवसर मिलेंगे."