RRR ने रचा इतिहास, बनी गोल्‍डन ग्‍लोब अवॉर्ड पाने वाली पहली भारतीय फिल्‍म

By yourstory हिन्दी
January 11, 2023, Updated on : Wed Jan 11 2023 10:02:32 GMT+0000
RRR ने रचा इतिहास, बनी गोल्‍डन ग्‍लोब अवॉर्ड पाने वाली पहली भारतीय फिल्‍म
फिल्‍म के गीत “नातू नातू” को इस वर्ष के गोल्‍डन ग्‍लाब अवॉर्ड्स में बेस्‍ट सांग के अवॉर्ड से नवाजा गया है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

एकेडमी अवॉर्ड नॉमिनेशन के बाद अब दक्षिण भारत की सुपरहिट फिल्‍म आरआरआर ने एक और रिकॉर्ड अपनी झोली में डाल लिया है. आरआरआर गोल्‍डन ग्‍लोब अवॉर्ड जीतने वाली पहली भारतीय फिल्‍म बन गई है. इस फिल्‍म के गीत “नातू नातू” को इस वर्ष के गोल्‍डन ग्‍लाब अवॉर्ड्स में बेस्‍ट सांग के अवॉर्ड से नवाजा गया है.  


वर्ष 2023 के गोल्डन ग्लोब अवॉर्ड्स के लिए इस फिल्‍म को दो श्रेणियों में नामांकन मिला था. पहली कैटेगरी थी- सर्वश्रेष्ठ नॉ इंग्लिश (गैर अंग्रेजी) फिल्म और दूसरी सर्वश्रेष्ठ ओरिजिनल सांग (मूल गीत). हालांकि इस अवॉर्ड  के लिए नॉमिनेशन पाने वाली यह पहली भारतीय फिल्‍म नहीं है. इसके पहले वर्ष 1988 में फिल्‍म सलाम बॉम्‍बे और 2001 में मॉनसून वेडिंग को भी गोल्‍डन ग्‍लोब अवॉर्ड में नॉमिनेट किया जा चुका है, लेकिन दोनों ही फिल्‍में अवॉर्ड जीत नहीं पाई थीं. इन दोनों फिल्‍मों का निर्देशन प्रसिद्ध फिल्‍म निर्देशक मीरा नायर ने किया था.  

यह फिल्‍म आरआरआर' वर्ष 2002 के मार्च में सिनेमाघरों में रिलीज़ हुई थी.  यह फिल्‍म दुनिया भर में अब तक 1200 करोड़ रुपये से ज्यादा की कमाई कर चुकी है.


फिल्‍म का निर्देशन दक्षिण के बेहद चर्चित और सफल फिल्‍म निर्देशक राजामौली ने किया है. राष्ट्रवाद की मुख्‍य थीम पर आधारित इस फिल्‍म में केंद्रीय भूमिकाओं में हैं अभिनेता राम चरण और जूनियर एनटीआर. इन दोनों अभिनेताओं ने फिल्‍म में क्रांतिकारी अल्लूरी सीताराम राजू और कोमाराम भीम की भूमिका निभाई है. फिल्‍म की कहानी काल्‍पनिक है और दौर से आजादी से पहले का.  


बेस्‍ट नॉन इंग्लिश फिल्‍म कैटेगरी में इस फिल्‍म का मुकाबला दुनिया की जिन फिल्‍मों से था, वह थीं कोरियाई फिल्म 'डिसीज़न टू लीव', जर्मन फिल्म 'ऑल क्वाइट ऑन द वेस्टर्न फ्रंट', अर्जेंटीना की फिल्‍म 'अर्जेंटीना 1985' और फ्रेंच फिल्‍म 'क्लोज़'. अवॉर्ड मिला है 'अर्जेंटीना 1985' को.


गोल्‍डन ग्‍लोब फिल्‍म समारोह के दौरान फिल्‍म के निर्देशक राजामौली समेत सभी कलाकार मौजूद थे. राजामौली अपनी पत्नी रमा राजामौली के साथ वहां पहुंचे थे. रमा भारतीय परिधान साड़ी में थीं, जबकि राजामौली ने काले रंग का कुर्ता और लाल रंग की धोती पहन रखी थी.  


जैसे ही अवॉर्ड की घोषणा हुई, पूरा हॉल तालियों की गड़गड़ाहट से गूंज उठा. भारतीय कलाकारों के चेहरे पर खुशी की लहर दौड़ गई. बाद में मीडिया से बात करते हुए भी वे काफी भावुक हो रहे थे.


वास्‍तव में यह भारत के लिए बहुत बड़ा और गौरव का क्षण है. दुनिया के दूसरे नंबर के सबसे बड़े अवॉर्ड को पाने वाली पहली भारतीय फिल्‍म बनकर आरआरआर ने एक इतिहास रच दिया है.  


Edited by Manisha Pandey