दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर लगने वाला जुर्माना समाप्त किया जा सकता है: DDMA

By Prerna Bhardwaj
September 23, 2022, Updated on : Sat Sep 24 2022 17:50:38 GMT+0000
दिल्ली में मास्क नहीं पहनने पर लगने वाला जुर्माना समाप्त किया जा सकता है: DDMA
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोविड की वजह से दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क अनिवार्य कर दिया गया था और नहीं पहनने वालों पर कड़े फाइन का प्रावधान था.


दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल की उपस्थिति और उपराज्यपाल वी. के. सक्सेना की अध्यक्षता में डीडीएमए (दिल्ली आपदा प्रबंधन प्राधिकरण) की गुरूवार को बैठक हुई जिसमें राष्ट्रीय राजधानी में कोविड हालात की समीक्षा की गई और कोरोना वायरस संक्रमण से निपटने के लिए अस्पतालों को दिए गए संसाधनों की भी समीक्षा की गई.


इस बैठक में फैसला लिया गया कि अब दिल्ली में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क नहीं लगाने पर लगने वाले 500 रुपये के जुर्माने को समाप्त किया जा सकता है. फेस मास्क नहीं पहनने पर जुर्माना नहीं लिया जाएगा. शहर में कोविड-19 के मामलों में लगातार हो रही कमी के मद्देनजर अस्पतालों में तैनात कर्मचारियों तथा उपकरणों को भी चरणबद्ध तरीके से कम करने की योजना बनाई गई है.


बता दें डीडीएमए ने अप्रैल में हुई अपनी अंतिम बैठक में सार्वजनिक स्थानों पर मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया था और इसका उल्लंघन करने वालो पर 500 रुपये जुर्माने का प्रावधान किया था.


बैठक में यह भी तय हुआ कि आईएलआई-एसएआरआई (ILI-SARI) इन्फ्लुएंजा जैसे मामलों की निगरानी बढाई जायेगी ताकि शुरुआती चेतावनी का पता चल सके.


वहीं, एहतियाती टीके की खुराक लगवाने को मौजूदा 24 फीसदी से बढ़ाकर कम से कम 40-50 प्रतिशत करने पर भी सहमति बनी.


केजरीवाल ने ट्वीट किया है, ‘‘उपराज्यपाल साहिब की अध्यक्षता में आज डीडीएमए की मीटिंग (बैठक) हुई. कोरोना की मौजूदा स्थिति का जायज़ा लिया. कई अहम निर्णय हुए. सभी दिल्लीवासियों से अपील है कि सब लोग वैक्सीन (टीके) की बूस्टर डोज़ ज़रूर लगवायें. त्योहारों के सीज़न में अपने परिवार को कोरोना से सुरक्षित रखें. कोरोना से बचने के लिए सभी एहतियात बरतें.’’