Flipkart Foundation ने दिव्यांग जनों को नौकरी दिलाने के लिए TRRAIN के साथ मिलाया हाथ

प्रोग्राम पंख – विंग्‍स ऑफ डेस्टिनी दिव्यांग जनों (PwDs) के लिए स्किल डेवलपमेंट एवं इम्‍प्‍लायमेंट (कौशल विकास तथा रोज़गार) के अवसरों की पेशकश के जरिए समावेशी विकास को प्रेरित और प्रोत्‍साहित करेगा.

Flipkart Foundation ने दिव्यांग जनों को नौकरी दिलाने के लिए TRRAIN के साथ मिलाया हाथ

Wednesday March 29, 2023,

5 min Read

भारत के स्‍वदेशी ई-कॉमर्स मार्केटप्‍लेस फ्लिपकार्ट ग्रुप (Flipkart Group) के तहत कार्यरत फ्लिपकार्ट फाउंउेशन (Flipkart Foundation) ने दिव्यांग जनों के लिए कौशल और रोज़गार अवसरों को बढ़ाने के मकसद से ट्रस्‍ट फॉर रिटेलर्स एंड रिटेल एसोसिएट्स ऑफ इंडिया (TRRAIN) के साथ हाथ मिलाया है. इस पहल पंख – विंग्‍स ऑफ डेस्टिनी (Pankh – Wings of Destiny) के माध्‍यम से दिव्यांग जनों को जॉब-रेडी स्किल्‍स में दक्ष बनाकर उनके लिए समावेशी विकास के अवसरों को बढ़ावा देने की योजना है. आगे चलकर, यह पहल रिटेल समेत अन्‍य संबंधित उद्योगों जैसे कि लॉजिस्टिक्‍स, वेयरहाउस, ई-कॉमर्स, एनबीएफसी एवं आईटी सेक्टर में उनके लिए रोज़गार के अवसरों को भी प्रोत्‍साहित करेगी.

ट्रस्‍ट फॉर रिटेलर्स एंड रिटेल एसोसिएट्स ऑफ इंडिया (TRRAIN) एक गैर-मुनाफा प्राप्‍त संगठन है जो रिटेल सेक्टर में दिव्यांग जनों के लिए आजीविका के अवसरों को तैयार करने के लिए समर्पित है. पंख के जरिए, संगठन ने फ्लिपकार्ट फाउंडेशन के साथ मिलकर लाभान्वित वर्ग को आर्थिक रूप से आत्‍मनिर्भर बनाने तथा उनके लिए सतत रोज़गार के साधनों को उपलब्‍ध कराने की पहल की है. यह गठबंधन कार्पोरेट सेक्टर में समावेशन और विविधता को बढ़ावा देगा. पहल के अंतर्गत दिव्यांग जनों की ट्रेनिंग की व्‍यवस्‍था की जाएगी जो उन्‍हें इंटरेक्टिव तथा आसान तरीके से तीन प्रमुख क्षेत्रों – अंग्रेज़ी भाषा का ज्ञान,सेक्टर विशेष से संबंधित प्रशिक्षण और लाइफ स्किल्‍स,में प्रशिक्षित करेगी.

flipkart-foundation-joins-forces-with-trrain-to-boost-skill-development-and-employment-opportunities-for-persons-with-disabilities-pwds

प्रोग्राम के अंतर्गत मूक-बधिरों और लोकोमोटर अक्षमता से ग्रस्‍त 18 से 28 वर्ष की आयुवर्ग के उन युवाओं को प्रशिक्षण दिया जाएगा जिन्‍होंने एसएससी/एसएसएलसी (सेकंडरी स्‍कूल लीविंग सर्टिफिकेट) पूरा किया है. इनके अलावा, कमज़ोर दृष्टि और अन्‍य शारीरिक अक्षमता के साथ कुछ युवाओं को भी प्रोग्राम के तहत प्रशिक्षित किया जाएगा. कुल 50 लाभान्वितों को गुरुग्राम और बेंगलुरु (प्रत्‍येक में 25) स्थित दो पंख फिजिकल क्‍लासरूम सेंटर्स में प्रशिक्षण दिलाया जाएगा. इस प्रकार, कुल-मिलाकर 200 लाभान्वितों (50 युवाओं को प्रत्‍यक् रूप से और 150 को परोक्ष रूप से उनके पारिवारिक सदस्‍यों) को योजना का लाभ मिलेगा.

इस पार्टनरशिप के बारे में, रजनीश कुमार, चीफ कार्पोरेट अफेयर्स ऑफिसर, फ्लिपकार्ट एवं बोर्ड ऑफ डायरेक्‍टर,फ्लिपकार्ट फाउंडेशन ने कहा, "फ्लिपकार्ट फाउंडेशन में, हमारा ज़ोर इस धारणा को बदलने पर रहता है कि नि:शक्‍तता लोगों को सीखने, जिंदगी में आगे बढ़ने और सफलता की राह में कोई बाधा है. हम इस प्रोग्राम के लिए ट्रस्‍ट फॉर रिटेलर्स एंड रिटेल एसोसिएट्स ऑफ इंडिया (TRRAIN) के साथ हाथ मिलाकरबेहद खुशी महसूस कर रहे हैं क्‍योंकि इसके माध्‍यम से दिव्यांग जनों को उनके कार्यक्षेत्रों समेत जीवन के अन्‍य क्षेत्रों में भी कामयाबी हासिल करने के लिए जरूरी कौशलों और जानकारी के साथ दक्ष किया जाएगा. यह समन्वित प्रयास समाज को अधिक समावेशी और समान बनाने की दिशा में बढ़ाया गया कदम है, क्‍योंकि ऐसी कोशिशों के अभाव में अक्‍सर प्रतिभाओं के समान वितरण के बावजूद सभी के लिए समान अवसरों की कमी बनी रहती है."

इस कोर्स के तहत 45 दिनों की रिहाइशी प्रशिक्षण (रेसिडेंशियल ट्रेनिंग) की व्‍यवस्‍था की गई है जो प्रशिक्षुओं को रोल प्‍ले तथा गेम्‍स, मॉल्‍स एवं रिटेल लैब्‍स में एक्‍सपोज़र विज़‍िट्स तथा इंडस्‍ट्री एक्‍सपर्ट्स के लेक्चर्स के जरिए व्‍यावहारिक जानकारी प्रदान करेगा. प्रशिक्षण पूरा होने के बाद, इन प्रतिभागियों को रिटेनर्स एसोसिएशन स्किल काउंसिल ऑफ इंडिया (RASCI) की ओर से सर्टिफिकेट प्रदान किए जाएंगे और साथ ही, इन उम्‍मीदवारों के मूल्‍यांकन तथा इंटरव्‍यू के लिए विभिन्‍न पार्टनर नियोक्‍ताओं को भी आमंत्रित किया जाएगा.

ट्रस्‍ट फॉर रिटेलर्स एंड रिटेल एसोसिएट्स ऑफ इंडिया (TRRAIN) की सीईओ अमीषा प्रभु ने कहा, "पंख – विंग्‍स ऑफ डेस्टिनी के माध्‍यम से, हमारा प्रयास देशभर में विभिन्‍न क्षेत्रों के लिए समावेशी विकास को बढ़ावा देना है, और हम इस पहल में सहयोग करने के लिए फ्लिपकार्ट के आभारी हैं. हमारा उद्देश्‍य कुशल प्रतिभागियों को रोज़गार दिलाकर उन्‍हें आजीविका से जोड़ने के साथ-साथ रिटेल उद्योग को भी दिव्यांग जनों के लिए नौकरियों के अवसरों को पैदा करने के लिए प्रेरित करना है. यह पहल, रिटेल, ई-कॉमर्स, फूड डिलीवरी और अन्‍य संबंधित सेवा क्षेत्रों में उन युवाओं के लिए नौकरियों के सतत अवसरों को उपलब्‍ध कराने के लिए समाज को प्रेरित करेगी जो अपनी शारीरिक सीमाओं और सामाजिक अड़चनों के बावजूद जीवन में अपनी प्रतिभा के दम पर आगे बढ़ रहे हैं."

मुख्‍य अतिथि निशांत कुमार यादव, डिप्‍टी कमिश्‍नर, गुरुग्राम ने फ्लिपकार्ट फाउंडेशन एवं TRRAIN टीम के साथ मुलाकात के दौरान कहा, "हम किसी देश को तभी प्रगतिशील कह सकते हैं जब उसके हाशिए पर गुजर-बसर करने वाले और अन्‍य वंचित वर्गों को भी सशक्‍त बनाएं. मुझे आज यहां उपस्थित होने और ऐसी पहल से जुड़ने का गर्व है जो दिव्यांग जनों को कौशल प्रदान कर उनके लिए नौकरियों के अवसरों को भी पैदा करने में जुटी है. मैं TRRAIN तथा फ्लिपकार्ट फाउंडेशन को उनके इन प्रयासों और समर्पण के लिए बधाई देता हूं."

यह प्रशिक्षण कार्यक्रम फ्लिपकार्ट फाउंडेशन द्वारा समावेशी वर्कफोर्स का निर्माण करने तथा वंचित वर्गों के लिए रोज़गार के समान अवसरों को बढ़ावा देने की दिशा में बढ़ाया गया महत्‍वपूर्ण कदम है.

पिछले साल, फ्लिपकार्ट फाउउेशन ने देश के अन्‍य कई राज्‍यों जैसे आंध्र प्रदेश, असम, हरियाणा, कर्नाटक, तेनंगाना, उत्‍तराखंड, उत्तर प्रदेश और पश्चिम बंगाल में भी विभिन्‍न क्षेत्रों में वंचित वर्गों के साथ काम उन्‍हें सहयोग और समर्थन दिया ताकि उनकी पहुंच अधिकतम हो और बेहतर ढंग से प्रभाव पड़े.

यह भी पढ़ें
कैसे 10 लाख मरीजों के लिए मददगार साबित हुई ABHA-बेस्ड स्कैन-एंड-शेयर सेवा


Edited by रविकांत पारीक