पहली बार वायु सेना की महिला पायलटों ने पैरेलल ट्रैक पर उतारा ड्रोनियर विमान

By yourstory हिन्दी
February 15, 2019, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:31:24 GMT+0000
 पहली बार वायु सेना की महिला पायलटों ने पैरेलल ट्रैक पर उतारा ड्रोनियर विमान
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

स्क्वाड्रन लीडर कमलजीत कौर और राखी भंडारी

अब रनवे पर ट्रैफिक होने की वजह से भारतीय वायु सेना के विमान को इंतजार नहीं करना पड़ेगा। भारतीय वायुसेना के लिए पहली बार पश्चिम वायु कमान के “ऑटर्स” स्क्वाड्रन ने ड्रोनियर 228 विमान में संपूर्ण महिला चालक दल के साथ पैरेलल टैक्सी ट्रैक (पीटीटी) ऑपरेशन प्रारंभ की। पैरेलल टैक्सी ट्रैक ऑपरेशन बाधा रहित कार्रवाई के लिए चलाई जाती है, जब शत्रु कार्रवाई या किसी अन्य कारण से रनवे उपलब्ध नहीं होता।


इस विमान की पायलट स्क्वाड्रन लीडर कमलजीत कौर और उनकी सह-पायलट स्क्वाड्रन लीडर राखी भंडारी ने हरियाणा के सिरसा में सफलतापूर्वक पैरेलल टैक्सी ट्रैक पर विमान को उड़ाया और उतारा। यह उपलब्धि एयरो इंडिया- 2019 की भव्यता को प्रदर्शित करती है। एयरो इंडिया 2019 का आयोजन 23 फरवरी को बेंगलुरु में होगा। इस शो में विमानन क्षेत्र में महिलाओं की उपलब्धि दिखाई जाती है।


पैरेलल टैक्सी ट्रैक (पीटीटी) की कार्रवाई चुनौतीपूर्ण होती है, क्योंकि चालक को टैक्सी ट्रैक से ही विमान की उड़ान भरनी होती है और विमान को टैक्सी ट्रैक पर ही उतारना पड़ता है। यह ट्रैक रनवे की तुलना में कम चौड़ा होता है। विमान के उड़ान भरने तथा उतरने का समय काफी गंभीर होता है, क्योंकि किसी समय चूक हो सकती है।


यह भी पढ़ें: जान पर खेलकर लपटों को काबू करने वाली एयर होस्टेस राधिका