फोर्टिस-IHH डील पर रोक जारी, सुप्रीम कोर्ट ने पुराने सौदे के फॉरेंसिक ऑडिट का आदेश दिया

By yourstory हिन्दी
September 22, 2022, Updated on : Thu Sep 22 2022 12:23:28 GMT+0000
फोर्टिस-IHH डील पर रोक जारी, सुप्रीम कोर्ट ने पुराने सौदे के फॉरेंसिक ऑडिट का आदेश दिया
मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को मलविंदर और शिविंदर सिंह को 6 महीने की जेल की सजा सुनाई है. साथ ही फोर्टिस-IHH डील के खिलाफ दाइची सांक्यो की याचिका रद्द करते हुए फोर्टिस-IHH में हुई पिछली डील के फॉरेंसिक ऑडिट का आदेश दिया है.
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 claps
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

हॉस्पिटल चेन फोर्टिस हेल्थकेयर, और IHH हेल्थकेयर दोनों ने गुरुवार को कहा कि वो सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर आगे की कार्रवाई के लिए कानूनी सलाह लेंगे. मालूम हो कि सुप्रीम कोर्ट ने गुरुवार को मलविंदर और शिविंदर सिंह बंधुओं को 6 महीने की जेल के साथ, फोर्टिस-IHH के बीच पुरानी डील के फॉरेंसिक ऑर्डर का आदेश दिया है. साथ में IHH के ओपन ऑफर पर स्टे को जारी रखने का आदेश दिया है.


फोर्टिस ने गुरुवार को एक बयान जारी कर कहा, 'हम जानते हैं कि सुप्रीम कोर्ट ने अपनी कार्यवाही में कुछ निर्देश जारी किए हैं. हम उसी के मुताबिक आगे बढ़ेंगे और आगे के अपने फैसलों के लिए कानूनी सलाह लेंगे.' 


आपको बता दें कि मलेशिया के हेल्थकेयर ग्रुप IHH हेल्थकेयर ने बहुत लंबे समय तक चली जद्दोजहद के बाद फोर्टिस के लिए बोली जीती थी, और 31 फीसदी हिस्सेदारी ली थी. उसने अब फोर्टिस में और 26 फीसदी हिस्सेदारी लेने का ओपन ऑफर पेश किया था, जिसके विरोध में जापान की एक ड्रग बनाने वाली कंपनी डाइची सांक्यो ने कोर्ट में याचिका पेश कर दी.


इधर दाइची का पहले से ही रैनबैक्सी प्रमोटर्स, मलविंदर और शिविंदर सिंह दोनों से  रैनबैक्सी डील को लेकर विवाद चल रहा था. सिंह फैमिली इस फोर्टिस चेन में भी प्रमोटर थी. दाइची ने फोर्टिस डील में अड़ंगा लगाकर सिंह बंधुओं के सामने एक और मुश्किल खड़ी कर दी है. 


सुप्रीम कोर्ट के हालिया निर्देश के बाद फोर्टिस हेल्थकेयर के शेयरों के दाम 18 पर्सेंट तक नीचे आ गए हैं. हालांकि कारोबार के आखिर में निचले स्तरों से कुछ रिकवरी भी देखने को मिली. गुरुवार को इसके शेयर 14.75 फीसदी नीचे 265.30 पर बंद हुए. 


फोर्टिस ने कहा, ‘हमारा मकसद हमेशा से मरीज का खयाल रखना रहा है और हम इस पर काम करते रहेंगे. साथ ही हेल्थकेयर नेटवर्क को और मजबूत और बढ़ाने के लिए स्ट्रैटजिक और ऑपरेशनल तरीकों पर भी काम करते रहेंगे. स्टेकहोल्डर्स को सभी जानकारियों से अपडेट किया जाता रहेगा.’  


हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें