[फंडिंग अलर्ट] फूडटेक यूनिकॉर्न ज़ोमैटो ने जुटाया 100 मिलियन डॉलर का नया निवेश

By yourstory हिन्दी
September 11, 2020, Updated on : Mon Sep 14 2020 04:40:56 GMT+0000
[फंडिंग अलर्ट] फूडटेक यूनिकॉर्न ज़ोमैटो ने जुटाया 100 मिलियन डॉलर का नया निवेश
मीडिया रिपोर्टों के अनुसार नए फंड के साथ ज़ोमैटो को अब 3.4 बिलियन डॉलर मूल्य वाली कंपनी बन गई है, जो कि इसके प्रतिद्वंद्वी स्विगी के करीब है, जिसकी कीमत 3.6 बिलियन डॉलर है।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

रजिस्ट्रार ऑफ कंपनीज (RoC) की फाइलिंग के अनुसार, फूडटेक यूनिकॉर्न ज़ोमैटो ने इंटरनेट फंड VI Pte होल्डिंग्स, टाइगर ग्लोबल के सिंगापुर इनवेस्टमेंट आर्म से 100 मिलियन डॉलर जुटाए हैं।


मीडिया रिपोर्टों के अनुसार नवीनतम फंडरेस के साथ, ज़ोमैटो को अब 3.4 बिलियन डॉलर का मूल्य दिया जा सकता है, जो कि इसके प्रतिद्वंद्वी स्विगी के करीब है, जिसकी कीमत 3.6 बिलियन डॉलर है।


आरओसी दस्तावेजों से यह भी पता चला है कि गुरुग्राम-मुख्यालय वाले इस फूडटेक स्टार्टअप में किए गए निवेश का उपयोग कारोबार का विस्तार करने और संपूर्ण कॉर्पोरेट उद्देश्यों का समर्थन करने के लिए किया जाएगा।


यह मौजूदा दौर एक हफ्ते बाद आया है जब ज़ोमैटो ने सिंगापुर स्थित Temasek से 62 मिलियन डॉलर जुटाए थे। इससे पहले, जनवरी में इसने अपने मौजूदा निवेशक आंट फाइनेंशियल से एक नए फंड के रूप में 150 मिलियन डॉलर जुटाए थे। इसके अलावा, अप्रैल में इसने अपने सिरीज़ जे राउंड में पैसिफिक होराइजन इन्वेस्टमेंट ट्रस्ट पीएलसी से 5 मिलियन डॉलर (या लगभग 38 करोड़ रुपये) जुटाए हैं।


महामारी के बावजूद फूडटेक यूनिकॉर्न एक बेहतर वित्तीय प्रदर्शन देख रहा है। पिछले महीने अपनी 12वीं वर्षगांठ पर अपनी वार्षिक प्रदर्शन रिपोर्ट की घोषणा करते हुए ज़ोमैटो ने कहा, "जबकि COVID-19 ने हमारे व्यवसाय के आकार को प्रभावित किया है, इसने हमारी लाभप्रदता की यात्रा को तेज कर दिया है।"
दीपिंदर गोयल, सह-संस्थापक और सीईओ, ज़ोमेटो

दीपिंदर गोयल, सह-संस्थापक और सीईओ, ज़ोमेटो




जुलाई में ज़ोमैटो ने अपनी बर्न-रेट के 1 मिलियन डॉलर से कम होने का अनुमान लगाया और प्रति माह 23 मिलियन डॉलर के राजस्व की बात कही। रिपोर्ट में कहा गया है, ''हम लागत/लाभप्रदता पर कड़ा नियंत्रण बनाए रखने के लिए अगले तीन से छह महीनों में पूरी वसूली करने की उम्मीद करते हैं।”


इसमें यह भी कहा गया है कि Zomato की FY20 इंडिया फूड डिलीवरी GMV वित्त वर्ष 2019 में 108 प्रतिशत बढ़ी है। हालांकि, जब मार्च में COVID-19 मामलों की वृद्धि शुरू हुई, तो फरवरी में Zomato के खाद्य वितरण व्यवसाय GMV अपने चरम की तुलना में 80 प्रतिशत कम था। इसने जनवरी में UberEats के वर्टिकल को भी अधिग्रहित कर लिया था।


रिपोर्ट में ज़ोमैटो के सह-संस्थापक और सीईओम दीपेंद्र गोयल ने कहा,

“हम अपने ऑर्डर वॉल्यूम में तेज रिकवरी की उम्मीद करते हैं क्योंकि लॉकडाउन आसानी से जारी है और ऑपरेटिंग वातावरण में सुधार जारी है। हमारे खाद्य वितरण व्यवसाय की यूनिट इकोनॉमिक्स में पिछले 18 महीनों में लगातार सुधार हुआ है। Q1 FY20 में, हम प्रति ऑर्डर 47 रुपये के नकारात्मक मार्जिन का योगदान करते थे; Q1 FY21 में हमने प्रति ऑर्डर 27 रुपये का सकारात्मक योगदान किया है।”