हेल्थटेक स्टार्टअप Pristyn Care ने टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट के नेतृत्व में सीरीज़ डी राउंड में जुटाए 53 मिलियन डॉलर

गुरुग्राम स्थित हेल्थटेक स्टार्टअप Pristyn Care इन फंड्स को नई चिकित्सा तकनीकों में तैनात करेगा ताकि सर्जरी के मरीजों को विश्वस्तरीय इलाज मुहैया कराया जा सके।

Shreya Ganguly

रविकांत पारीक

हेल्थटेक स्टार्टअप Pristyn Care ने टाइगर ग्लोबल मैनेजमेंट के नेतृत्व में सीरीज़ डी राउंड में जुटाए 53 मिलियन डॉलर

Tuesday April 20, 2021,

3 min Read

गुरुग्राम स्थित हेल्थटेक स्टार्टअप प्रिस्टिन केयर (Pristyn Care) ने अमेरिकी इनवेस्टमेंट फंड Tiger Global Management के नेतृत्व में अपने सीरीज डी राउंड में 53 मिलियन डॉलर जुटाए हैं। मौजूदा निवेशकों, जिसमें Sequoia Capital, Hummingbird Ventures, और Epiq Capital शामिल हैं, ने भी राउंड में भाग लिया।


आधिकारिक बयान के अनुसार, इस राउंड के साथ, प्रिस्टिन केयर की वैल्युएशन 550 मिलियन डॉलर से अधिक हो गयी है।


स्टार्टअप ने खुलासा किया कि फंडिंग का उपयोग मेडिकल टेक्नोलॉजी में इसकी पेशकश को आगे बढ़ाने के लिए किया जाएगा और भारत के पदचिह्न का विस्तार करते हुए सभी प्रकार की न्यूनतम इनवेसिव प्रक्रियाओं की पेशकश करेगा।

Pristyn Care

Pristyn Care के को-फाउंडर्स - डॉ. वैभव कपूर, हरसिमरबीर सिंह, और डॉ. गरिमा साहनी [फोटो साभार: Pristyn Care]

डॉ. वैभव कपूर, डॉ. गरिमा साहनी, और हरसिमरबीर सिंह द्वारा 2018 में स्थापित, प्रिस्टिन केयर अपने patient-first दृष्टिकोण के तहत सेवाओं साथ सर्जरी में माहिर है।


यह स्टार्टअप एंड-टू-एंड सपोर्ट सर्विस प्रदान करता है जैसे डायग्नोस्टिक्स सपोर्ट, हेल्थ-इंश्योरेंस, क्लेम प्रोसेसिंग, हॉस्पिटल कम्फर्ट ऑफ़ होम, कैब पिक-अप और ड्रॉप फॉर सर्जरी, घर पर मेडिसिन डिलीवरी और सर्जरी के बाद मुफ्त परामर्श।


फंड रेज़ पर कमेंट करते हुए डॉ. वैभव ने कहा कि स्टार्टअप अब नई मेडिकल टेक्नोलॉजी में निवेश करेगा ताकि सर्जरी के मरीजों को विश्वस्तरीय इलाज मुहैया कराया जा सके।


हरसिमरबीर सिंह ने एक बयान में कहा, “हमारी सर्जरी के ऑफर्स को बढ़ाने और भारत में एक सहज रोगी अनुभव प्रदान करने पर हमारा ध्यान केंद्रित करने से हमें पिछले 2.5 वर्षों में आधे मिलियन से अधिक रोगियों के इलाज में मदद मिली है। इस नई पूंजी के साथ, हम और अधिक शहरों और कस्बों में अपनी सर्जरी की पेशकश का विस्तार करने और भारत में उपचार की मांग करने वाले अंतरराष्ट्रीय रोगियों को आकर्षित करने, नई बीमारी लाइनों का इलाज करने और ब्रांड निर्माण में निवेश करने की योजना बनाते हैं।”


को-फाउंडर के अनुसार, स्टार्टअप वर्तमान में 100 से अधिक क्लीनिक चलाता है, 400 से अधिक अस्पतालों में काम करता है और इसमें 300 से अधिक विशेषज्ञ सर्जन इन-बोर्ड हैं। वर्तमान में, यह लेजर, लैपरोस्कोपी, माइक्रोडीबायर्स जैसी एडवांस्ड मेडिकल टेक्नोलॉजी का उपयोग कर 50 से अधिक बीमारियों जैसे कि बवासीर, स्त्री रोग, फिमोसिस, वैरिकाज़ नसों, डीवीटी, हर्निया, साइनस, पित्ताशय की पथरी, और मोतियाबिंद जैसी अन्य बीमारियों के लिए सर्जरी प्रदान करता है।


लगभग 30 शहरों और कस्बों में मौजूद इस स्टार्टअप को अब तक कुल 28 मिलियन डॉलर की फंडिंग मिली है।


Tiger Global Management के Scott Shleifer ने कहा, “विभिन्‍न अनुभवों और परिणामों को वितरित करने के लिए टेक्नोलॉजी का उपयोग करके, प्रिस्टिन केयर ने भारत में अग्रणी उपभोक्ता-केंद्रित सर्जरी प्रदाता का निर्माण किया है। बाजार का अवसर बहुत बड़ा है और हम हरसिमरबीर और उनकी टीम के साथ साझेदारी करने के लिए अधिक उत्साहित हैं।