तो क्या अब गौतम अडानी पर छाए संकट के बादल छंट गए? इशारे तो कुछ ऐसे ही मिल रहे हैं

गौतम अडानी की दौलत घटते-घटते करीब 53 अरब डॉलर रह गई है. फोर्ब्स की लिस्ट में वह 23वें नंबर तक पहुंच चुके हैं. हालांकि, अब ऐसा लग रहा है जैसे मुसीबतें खत्म हो रही हैं. पॉजिटिव खबरें आ रही हैं और कई कंपनियों के शेयर चढ़ने भी लगे हैं.

तो क्या अब गौतम अडानी पर छाए संकट के बादल छंट गए? इशारे तो कुछ ऐसे ही मिल रहे हैं

Wednesday February 15, 2023,

3 min Read

गौतम अडानी (Gautam Adani) पर पिछले कई हफ्तों से जो संकट के बादल छाए हैं, ऐसा लग रहा है कि अब वह धीरे-धीरे छंटने लगे हैं. ऐसा लग रहा है कि अब जल्द ही उनकी कंपनी के शेयरों में गिरावट थम जाएगी. ऐसा यूं ही नहीं कहा जा रहा है, बल्कि इन दिनों जो खबरें आ रही हैं, वह भी इसी ओर इशारा कर रही हैं. साथ ही कंपनी के शेयरों में भी अब बढ़त देखने को मिल रही है. हालांकि, अभी गौतम अडानी की दौलत घटते-घटते करीब 53 अरब डॉलर रह गई है और फोर्ब्स की लिस्ट में वह 23वें नंबर तक पहुंच चुके हैं. आइए जानते हैं क्या हैं वो खबरें, जिनकी वजह से लग रहा है कि अडानी पर आई मुसीबतें अब खत्म हो रही हैं.

स्वतंत्र ऑडिट फर्म को किया नियुक्त

अडानी ग्रुप ने हिंडनबर्ग के आरोपों को खारिज करने के लिए कुछ कंपनियों के स्तवंत्र ऑडिट के लिए अकाउंटेंसी फर्म ग्रांट थॉर्नटन को नियुक्त किया है. हिंडनबर्ग की रिपोर्ट आने के बाद ये अडानी ग्रुप का सबसे बड़ा कदम है. सूत्रों के अनुसार अडानी ग्रुप की कुछ कंपनियों के स्वतंत्र ऑडिट का काम ग्रांट थॉर्नटन को दिया है और अभी इस जानकारी को सार्वजनिक नहीं किया गया है.

अबू धाबी की आईएसची कंपनी देगी पैसे!

अडानी समूह पिछले करीब एक हफ्ते से अबू धाबी की इंटरनेशनल हॉल्डिंग कॉर्प्स (International Holding Corp) यानी IHC से बात कर रही है. कंपनी चाहती है कि वह अडानी ग्रुप में निवेश करे, जिससे कंपनी की शाख बचाना आसान हो सके. बातचीत के तहत अडानी एंटरप्राइजेज या अडानी ग्रुप की किसी दूसरी कंपनी में आईएचसी की तरफ से कैपिटल इंफ्यूजन किया जा सकता है, जिससे कंपनी की विश्वसनीयता बढ़ेगी और उसके चलते शेयरों में जो गिरावट जारी है उस पर लगाम लगाई जा सकेगी.

तमाम कंपनियों के नतीजे रहे शानदार

पिछले दिनों में गौतम अडानी की कंपनियों के नतीजे आए हैं. अडानी ग्रुप की सातों लिस्टेड कंपनियों के साथ-साथ बाद में खरीदी गई 3 कंपनियों को मुनाफा हुआ है. यानी सभी 10 कंपनियों को मुनाफा हुआ है. हां कुछ कंपनियों का मुनाफा पिछले साल की तुलना में घटा जरूर है, लेकिन नुकसान नहीं हुआ है. नीचे दिए गए इस इंफोग्राफिक में आप देख सकते हैं कि दिसंबर तिमाही में किस कंपनी को कितना मुनाफा हुआ. साथ ही आप ये भी जान सकते हैं कि किसका मुनाफा बढ़ा और किसका मुनाफा घटा.

adani

शेयरों में तेजी का सिलसिला अब शुरू होगा?

जब तक अडानी एंटरप्राइजेज के नतीजे नहीं आए थे, तब तक तो अडानी ग्रुप की सारी कंपनियों के शेयरों में पिछले कुछ दिनों से भारी गिरावट देखी जा रही थी. अडानी एंटरप्राइजेज के नतीजे आने के बाद कंपनी के बहुत सारे शेयरों में तेजी आनी शुरू हो गई है. यूं लग रहा है कि आने वाले दिनों में गिरावट थम सकती है और फिर से शेयर चढ़ सकते हैं. या फिर कम से कम गिरावट तो थम ही जाएगी.

क्या अभी तक शॉर्ट पोजीशन में होगा हिंडनबर्ग?

इन तमाम खबरों के बीच एक कयास ये भी लगाया जा रहा है कि हो सकता है हिंडनबर्ग रिसर्च फर्म ने अब तक अपनी ट्रांजेक्शन स्क्वायर ऑफ कर ली हो. ऐसा इसलिए कहा जा रहा है क्योंकि अब कंपनी ने उस पर लगे अधिकतर आरोपों का या तो जवाब दे दिया है या फिर उनके कोई निदान निकाल लिया है. तो ये कहना गलत नहीं होगा कि हिंडनबर्ग ने तो अपना मुनाफा कमा लिया है, अब शेयर गिरें या चढ़ें उसे फर्क नहीं पड़ता. देखना दिलचस्प होगा आने वाले दिनों में हिंडनबर्ग की तरफ से इसे लेकर कोई आधिकारिक सूचना आती है या नहीं.