ग्रैमी विजेता रिकी केज क्यों परेशान हैं पीयूष बंसल के Lenskart से?

ग्रैमी विजेता रिकी केज क्यों परेशान हैं पीयूष बंसल के Lenskart से?

Tuesday March 07, 2023,

3 min Read

ग्रैमी पुरस्कार विजेता संगीतकार रिकी केज (Grammy-winning musician Ricky Kej) ने ऑर्डर देने के बाद आईवियर ब्रांड लेंसकार्ट (Lenskart) के कॉल से परेशान होने की ऑनलाइन शिकायत की है.

कंपनी के साथ-साथ सीईओ पीयूष बंसल (Lenskart CEO Peyush Bansal) के हैंडल को टैग करते हुए एक ट्वीट में केज ने कहा कि वह अनचाही कॉल्स (unwanted calls) को बंद करने के लिए कानूनी कार्रवाई पर विचार कर रहे हैं.

केज ने 6 मार्च को ट्वीट किया, "डियर @Lenskart_com और @peyushbansal, मैं आपके ब्रांड का सम्मान करता हूं, लेकिन लगातार उत्पीड़न (harassment) बंद होना चाहिए."

संगीतकार ने कहा कि उन्होंने लेंसकार्ट की वेबसाइट से खरीदारी करने के लिए "शापित" महसूस किया और इसका एकमात्र समाधान उन्हें अपना नंबर बदलना नज़र आया.

केज ने कहा कि उन्होंने बार-बार लेंसकार्ट से अपने टेलीमार्केटिंग डेटाबेस से उनका नंबर हटाने का आग्रह किया था.

"इसका वादा किया गया था.. लेकिन मुझे अभी भी फोन आ रहे हैं. क्या कानूनी कार्रवाई से मदद मिलेगी?" उन्होंने कहा.

इस आर्टिकल के पब्लिश होने तक लेंसकार्ट ने उनके ट्वीट का जवाब नहीं दिया था.

बेंगलुरु के संगीतकार केज ने 2023 पुरस्कार समारोह में अपना तीसरा ग्रैमी जीता. उन्हें एल्बम डिवाइन टाइड्स (Divine Tides) के लिए जाना जाता है, जो प्राकृतिक दुनिया की भव्यता की पड़ताल करता है. इससे पहले उन्होंने पहला ग्रैमी 2015 और दूसरा ग्रैमी 2022 में जीता था.

एक अन्य लोकप्रिय सोशल मीडिया यूजर ने हाल ही में अंतहीन कॉल्स से परेशान होने की शिकायत की थी.

जेट एयरवेज के सीईओ संजीव कपूर ने फरवरी के मध्य में ट्वीट किया कि उन्हें वोडाफोन से लगातार कॉल आई थी क्योंकि उन्हें बताया गया था कि वह दूसरे कैरियर में स्विच करना चाहते हैं.

भले ही उन्होंने उनसे संपर्क करना बंद करने के लिए कहा, कंपनी ने उनसे संपर्क करने और उनकी चिंताओं को हल करने की पेशकश की.

कौन हैं रिकी केज?

रिकी केज का जन्म 5 अगस्त 1981 में हुआ था. वह आधे पंजाबी और आधे मारवाड़ी हैं. जब रिकी केज 8 साल के थे, तभी बेंगलुरू चले गए और वहीं रहने लगे. वहां उन्होंने स्कूल की पढ़ाई पूरी करने के बाद ऑक्सफोर्ड डेंटल कॉलेज में एडमिशन लिया. चूंकि परिवार में सारे लोग डॉक्टरी लाइन में ही थे. इसलिए रिकी केज ने भी इसी में करियर बनाने के इरादे से आगे की पढ़ाई की. रिकी केज डेंटिस्ट की पढ़ाई पूरी करके इस फील्ड में शुरुआत करने के लिए तैयार थे. पर उन्होंने डेंटिस्ट बनने का सपना छोड़ दिया और फिर म्यूजिक की दुनिया में ही कदम रखे.