स्मार्ट तरीके से यूजर्स को बचत करने में मदद कर रहा है फिनटेक स्टार्टअप Multipl

स्मार्ट तरीके से यूजर्स को बचत करने में मदद कर रहा है फिनटेक स्टार्टअप Multipl

Wednesday January 05, 2022,

4 min Read

ऑनलाइन फिनटेक प्लेटफॉर्म Multipl के सह-संस्थापक और सीईओ पेड्डी राघवन का मानना है कि बचत को लेकर अधिक स्मार्ट बना जा सकता है। वे 'अभी खरीदें, बाद में भुगतान करें' मॉडल के बजाय, "अभी योजना बनाएं, बेहतर भुगतान करें" के रास्ते का सुझाव देते हैं।

और यही उनके फिनटेक स्टार्टअप मल्टीप्ल के पीछे का मूल मंत्र रहा है, जो 2021 में योरस्टोरी के टेक50 सूची का हिस्सा है।

Multipl अपने यूजर्स को शादी, आभूषण, घर के सामान, छुट्टी आदि जैसे अनुमानित खर्चों के लिए पैसे बचाने की अनुमति देता है, लेकिन यह इसे बचत खाते में रखने के बजाय इसे शेयर बाजार में निवेश करता है।

स्टार्टअप का दावा है कि इसके साथ बचत करने वाले लोगों को पैसे के लिए 5 गुना अधिक मूल्य मिलता है। स्टार्टअप न केवल यूजर्स को ऐप पर म्यूचुअल फंड और अन्य वित्तीय साधनों में निवेश करने में मदद करता है, बल्कि सीधे उनके संभावित खर्चों से जुड़ी कंपनियों के साथ भी उन्हें मदद मुहैया कराता है। उदाहरण के लिए, यदि कोई छुट्टी के लिए बचत कर रहा था, तो वे अपना पैसा Yatra.com के साथ जमा कर सकते थे, जहां बदले में यूजर्स को ट्रैवल वाउचर और बड़ी छूट मिलती है।

अपने सह-संस्थापकों, जग्स राघवन और विकास जैन के साथ Multipl की शुरुआत करने वाले पेड्डी कहते हैं,

"हम अनिवार्य रूप से लोगों को मनमाने ढंग से कुछ करने के बजाय एक ठोस खर्च (बल्कि) बचाने में मदद करते हैं। हमारा लक्ष्य लोगों के लिए पैसे बचाने पर है और आमतौर पर लोग इसे एक अंतिम लक्ष्य की तरह देखते हैं।"

यह काम कैसे करता है?

इसके लिए कोई यूजर ऐप पर एक प्रोफ़ाइल सेट करता है और ऑटो-डेबिट के लिए अपने बैंक विवरण में प्लग करता है।

यूजर्स को या तो म्यूचुअल फंड या वित्तीय साधनों के क्रमपरिवर्तन-संयोजन में निवेश करने का विकल्प दिया जाता है या अपने पैसे को किसी ऐसे ब्रांड के साथ जोड़ने करने का विकल्प दिया जाता है, जिसके लिए वे बचत कर रहे हैं।

स्टार्टअप ने अपने बचत उत्पाद को सक्षम करने के लिए एथर, वेदांतु, वेकफिट और पेपरफ्राई जैसी कंपनियों के साथ कई अन्य कंपनियों के साथ भागीदारी की है।

हर बार जब कोई यूजर अपनी बचत करता है, तो स्टार्टअप उन्हें Mbit कॉइन के साथ पुरस्कृत करता है। ये डिजिटल कॉइन हैं जो स्टार्टअप यूजर्स को जारी करता है, जिसे अमेज़न, मिंत्रा, जियो-सावन के साथ ही 200 से अधिक ब्रांडों के लिए रिडीम किया जा सकता है।

पेड्डी कहते हैं, "बचत मज़ेदार होनी चाहिए, नहीं तो यह इनाम से ज़्यादा एक काम जैसा लगता है।"

राजस्व मॉडल

बेंगलुरू आधारित स्टार्टअप अपने यूजर्स द्वारा वित्तीय साधनों में बचत और निवेश के पैसे में कटौती नहीं करता है, न ही यह म्यूचुअल फंड जारीकर्ताओं से कोई कमीशन अर्जित करता है। इसके बजाय, यदि कोई यूजर अपना पैसा सीधे किसी ब्रांड के साथ पार्क करने का विकल्प चुनता है, तो स्टार्टअप ब्रांड की कमाई में अपने हिस्सा लेता है।

जल्द ही यह यूजर्स के लिए एक सदस्यता सेवा शुरू करने की उम्मीद कर रहा है, जिसकी कीमत लगभग 999 रुपये प्रति वर्ष है, जो एआई-संचालित निवेश सलाहकार सेवाएं और इनसाइट प्रदान करेगी, साथ ही वित्तीय नियोजन सहायता भी प्रदान करेगी।

नवंबर तक यूजर्स ने 25 करोड़ रुपये से अधिक के बचत लक्ष्य निर्धारित किए थे। स्टार्टअप को Google Play Store पर 10,000 से अधिक बार डाउनलोड किया जा चुका है। यह अगले छह महीनों में 50,000 से अधिक यूजर्स को जोड़ने की उम्मीद करता है।

स्टार्टअप के प्रतियोगी में जार और राउंडअप शामिल हैं जो लोगों को म्यूचुअल फंड और अन्य बाजार साधनों में निवेश करके बचत पर उनके रिटर्न को बढ़ाने में मदद करते हैं। अपस्टॉक्स, ग्रो, ज़ेरोधा जैसे स्टार्टअप भी मल्टीप्ल के प्रतिस्पर्धी हैं क्योंकि वे लोगों को अपनी बचत पूंजी और ऋण बाजारों में निवेश करने की अनुमति देते हैं।

k

खुदरा निवेशकों के बड़ी संख्या में बाजारों में आने के साथ बाजार के साधन न केवल सक्रिय निवेश का बल्कि निष्क्रिय भी एक महत्वपूर्ण हिस्सा बन गए हैं। वित्त वर्ष 2019 में भारत ने 3.4 मिलियन सक्रिय डीमैट खाते जोड़े हैं। 2021 में यह संख्या बढ़कर 14.1 मिलियन हो गई, जिसने12 महीनों की अवधि में 4.7 गुना की छलांग लगाई है।

NSDL (नेशनल सिक्योरिटीज डिपॉजिटरी लिमिटेड) और CDS (सेंट्रल डिपॉजिटरी सर्विसेज लिमिटेड) के डेटा से पता चलता है कि वित्त वर्ष 2012 की पहली तिमाही में लगभग 7.1 मिलियन डीमैट खाते खोले गए।


Edited by Ranjana Tripathi