हैदराबाद ने जीता 'वर्ल्ड ग्रीन सिटी' का अवार्ड

हैदराबाद को 'लिविंग ग्रीन फॉर इकोनॉमिक रिकवरी एंड इनक्लूसिव ग्रोथ' की कैटेगरी में भी एक पुरस्कार मिला है.

हैदराबाद ने जीता 'वर्ल्ड ग्रीन सिटी' का अवार्ड

Sunday October 16, 2022,

2 min Read

दक्षिण कोरिया (South Korea) के जेजू (Jeju) में 14 अक्टूबर को आयोजित इंटरनेशनल एसोसिएशन ऑफ हॉर्टिकल्चर प्रोड्यूसर्स 2022 वर्ल्ड ग्रीन सिटी अवार्ड्स में हैदराबाद को 'वर्ल्ड ग्रीन सिटी' का अवार्ड से नवाज़ा गया है. इस अवार्ड कार्यक्रम में हैदराबाद को 'लिविंग ग्रीन फॉर इकोनॉमिक रिकवरी एंड इनक्लूसिव ग्रोथ' की कैटेगरी में भी पुरस्कार दिया गया है.


इस कार्यक्रम में 6 श्रेणियों में अवार्ड दिया गया है जिसके लिए 18 फाइनलिस्ट का चयन हुआ था. श्रेणियां और शॉर्टलिस्ट किए गए देश हैं- लिविंग ग्रीन फॉर बायोडायवर्सिटी (कोलंबिया, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस), लिविंग ग्रीन फॉर क्लाइमेट चेंज (तुर्की, ऑस्ट्रेलिया, मैक्सिको), लिविंग ग्रीन फॉर हेल्थ एंड वेलबीइंग (ब्राजील, नीदरलैंड, ऑस्ट्रेलिया), लिविंग ग्रीन फॉर वॉटर (कनाडा, ऑस्ट्रेलिया, दक्षिण अफ्रीका), लिविंग ग्रीन फॉर सोशल कॉन्सिजन (अर्जेंटीना, दक्षिण कोरिया, फ्रांस) और लिविंग ग्रीन फॉर इकोनॉमिक रिकवरी एंड इनक्लूसिव ग्रोथ (कनाडा, ईरान, भारत).


'लिविंग ग्रीन फॉर इकोनॉमिक रिकवरी एंड इनक्लूसिव ग्रोथ' की कैटेगरी में हैदराबाद को पुरस्कार दिया गया.


हैदराबाद ने न केवल कैटेगरी पुरस्कार जीता है बल्कि समग्र 'वर्ल्ड ग्रीन सिटी 2022' पुरस्कार भी जीता है. हैदराबाद को 'लिविंग ग्रीन फॉर इकोनॉमिक रिकवरी एंड इनक्लूसिव ग्रोथ' श्रेणी में, आउटर रिंग रोड (ओआरआर) की हरियाली को देखते हुए दिया गया है जो हैदराबाद की प्रविष्टि के रूप में प्रस्तुत किया गया था. यह श्रेणी ऐसे सिस्टम और समाधान बनाने पर केंद्रित है जो शहर के निवासियों को आर्थिक संकट से उबारने और फलने-फूलने की अनुमति देते हैं. ओआरआर को 'तेलंगाना राज्य के लिए ग्रीन नेकलेस' कहा भी जाता है. आउटर रिंग रोड (ORR) की खासियत यह है कि ये सड़कें विकसित देशों की सड़कों के बराबर चौड़ी हैं. इस प्रोजेक्ट में सोलर रूफ साइकलिंग ट्रैक, सर्विस रोड का चौड़ीकरण, मूर्तियों को स्थापित करके सौंदर्यीकरण, हरे-भरे हरियाली का विकास, नियोपोलिस लेआउट में एक तुरही के आकार के इंटरचेंज का निर्माण, और ओआरआर के आसपास के इलाकों को जोड़ने के लिए प्रवेश और निकास रैंप ऐसी सुविधाएं होंगी.


अपनी तरह की अनूठी सुविधा एक 3-लेन, 4.5 मीटर चौड़ा, साइकिल ट्रैक होगा जो नानकरंगुडा से तेलंगाना राज्य पुलिस अकादमी (TSPA) तक 8.5 किमी और नरसिंगी से कोल्लूर तक 14.5 किमी तक फैला होगा. साइकिल ट्रैक चौबीसों घंटे इस्तेमाल किया जा सकेगा क्योंकि यह 16 मेगावाट की क्षमता वाली सोलर रूफ के ज़रिये रौशनी से लैस होगी.


आउटर रिंग रोड की परिकल्पना के तहत तेलंगाना सरकार ने पर्यावरण संरक्षण के उपायों को बुनियादी ढांचे के विकास के साथ जोड़ दिया है, जिसके लिए हैदराबाद को यह पुरस्कार दिया गया है.