आयकर विभाग की लगी लॉटरी! अलग-अलग जगहों पर छापेमारी में बरामद हुई इतनी राशि, सुनकर होंश उड़ जाएंगे आपके

By yourstory हिन्दी
February 15, 2020, Updated on : Sat Feb 15 2020 08:31:30 GMT+0000
आयकर विभाग की लगी लॉटरी! अलग-अलग जगहों पर छापेमारी में बरामद हुई इतनी राशि, सुनकर होंश उड़ जाएंगे आपके
आयकर विभाग ने तलाशी के दौरान 2000 करोड़ रुपये से अधिक की बेहिसाब सम्पत्ति का पता लगाया।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आयकर विभाग ने 6 फरवरी, 2020 को हैदराबाद, विजयवाड़ा, कडप्पा, विशाखापतनम, दिल्ली और पुणे में 40 से अधिक परिसरों में तलाशी और जब्ती की कार्रवाई की।


k

फोटो क्रेडिट: Hindustan Times



तलाशी का काम आंध्र प्रदेश और तेलंगाना स्थित तीन प्रमुख बुनियादी ढांचा समूहों में किया गया। जांच में फर्जी उप-ठेकों, एक ही भुगतान के लिए बार-बार बिल देने और फर्जी बिलिंग के जरिए नकदी कमाने के एक बड़े रैकेट का भंडाफोड़ हुआ। तलाशी के दौरान ईमेल, व्हाट्सएप संदेशों और अस्पष्ट विदेशी लेनदेन के अलावा अपराध संबंधी अनेक दस्तावेज और खुले कागजात बरामद कर जब्त किए गए।


एक जाने-माने व्यक्ति के पूर्व-निजी सचिव सहित करीबी सहयोगियों के खिलाफ भी तलाशी की कार्रवाई की गई।


तलाशी से पता चला कि बुनियादी ढांचा कंपनियों ने कई गैर-मौजूद / फर्जी संस्थाओं को उप-ठेका दे दिया था। प्रारंभिक अनुमान लेन-देन के माध्यम से 2000 करोड़ रुपये बेइमानी से निकालने की जानकारी देते हैं, जिन्हें अनेक कंपनियों के जरिए रखा गया था।


बही खातों और करों के ऑडिट के रखरखाव से बचने के लिए श्रृंखला के अंत में छोटी कंपनियों को रखा गया था, जिनका कारोबार 2 करोड़ रुपये से भी कम था।


ऐसी कंपनियां या तो अपने पंजीकृत पते पर नहीं पाई गईं या शेल कंपनियों में पाई गईं। ऐसे अनेक उप-ठेकेदारों को मुख्य ठेकेदार उनकी सभी आईटीआर फाइलिंग और मुख्य कॉर्पोरेट कार्यालय के आईपी पते से किए जा रहे अन्य अनुपालनों द्वारा नियंत्रित कर रहा था।


संदेह है कि बुनियादी ढांचा कंपनियों में से एक की समूह कंपनियों में कई करोड़ रुपये की एफडीआई प्राप्तियों की बेहिसाब धनराशि की राउंड-ट्रिपिंग की गई।


तलाशी के दौरान 85 लाख और रुपये की नकद राशि और 71 लाख रुपये के आभूषण जब्त किए गए। 25 से अधिक बैंक लॉकरों पर नियंत्रण लगा दिया गया है।


(सौजन्य से: PIB_Delhi)


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close