भारत सभी धर्मों के शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के लिए जाना जाता है : नायडू

By भाषा पीटीआई
February 17, 2020, Updated on : Mon Feb 17 2020 12:31:29 GMT+0000
भारत सभी धर्मों के शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के लिए जाना जाता है : नायडू
रोटरी इंटरनेशनल के वैश्विक सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इन मूल्यों की रक्षा होनी चाहिए और लैंगिक या लोगों के बीच भिन्नताओं के आधार पर भेदभाव नहीं होना चाहिए।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोलकाता, उपराष्ट्रपति एम वेंकैया नायडू ने रविवार को कहा कि भारत विविधता में एकता, बहुलवादी मूल्यों और सभी धर्मों के शांतिपूर्ण सह अस्तित्व के लिए जाना जाता है।


क

फोटो क्रेडिट: prabhasakshi



रोटरी इंटरनेशनल के वैश्विक सम्मेलन को संबोधित करते हुए उन्होंने कहा कि इन मूल्यों की रक्षा होनी चाहिए और लैंगिक या लोगों के बीच भिन्नताओं के आधार पर भेदभाव नहीं होना चाहिए।


नायडू ने देश के युवाओं को सामाजिक सौहार्द्र पर ध्यान देने और समुदायों के बीच रिश्ते की मजबूती के लिए काम करने का आह्वान किया।


उपराष्ट्रपति ने कहा कि भारत अपने सभी पड़ोसियों से अच्छे संबंध चाहता है और शांति और उन्नति के माहौल का हिमायती है।


उन्होंने कहा कि विश्व समुदाय को आतंकवाद को बढ़ावा देने वाली किसी भी ताकत के खिलाफ मुकाबले का संकल्प लेना चाहिए।


नायडू ने कहा,

‘‘हम अपने सभी पड़ोसियों से अच्छे संबंध चाहते हैं । आइए एक रूख अपनाएं... हमें ऐसा महौल बनाना चाहिए जहां शांति को बढ़ावा मिले।’’


किसी देश का नाम लिए बिना उपराष्ट्रपति ने कहा कि कहावत है कि आप दोस्त बदल सकते हैं लेकिन पड़ोसी नहीं बदल सकते हैं।


पश्चिम बंगाल के राज्यपाल जगदीप धनखड़ और राज्य के विज्ञान और प्रौद्योगिकी मंत्री ब्रत्या बसु ने भी उपराष्ट्रपति के साथ मंच साझा किया।