सिक लीव डालकर Air India की भर्ती में चला गया Indigo केबिन क्रू! यात्री करते रहे फ्लाइट उड़ने का इंतजार

Air India के भर्ती अभियान का दूसरा चरण शनिवार 2 जुलाई को आयोजित किया गया था. रिक्रूटमेंट ड्राइव दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद और बेंगलुरु जैसे मेट्रो शहरों में थी.

सिक लीव डालकर Air India की भर्ती में चला गया Indigo केबिन क्रू! यात्री करते रहे फ्लाइट उड़ने का इंतजार

Monday July 04, 2022,

3 min Read

शनिवार को Indigo की घरेलू उड़ानों में से 55 प्रतिशत उड़ानें देरी से चलीं. सबसे ज्यादा दिल्ली में फ्लाइट डिले हुईं. इसकी वजह यह रही कि बड़ी संख्या में Indigo केबिन क्रू मेंबर्स ने सिक लीव ले ​ली. इस पर भी दिलचस्प यह है कि ऐसी खबर है कि Indigo केबिन क्रू मेंबर्स बीमारी के नाम पर छुट्टी लेकर Air India (AI) की रिक्रूटमेंट ड्राइव में शामिल होने चले गए थे. न्यूज एजेंसी पीटीआई के अनुसार जब इस मामले के बारे में नागर विमानन महानिदेशालय (DGCA) से पूछा गया तो डीजीसीए अरुण कुमार ने कहा कि रेगुलेटर मामले को देख रहा है. न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार डीजीसीए ने इस मामले में इंडिगो से स्पष्टीकरण मांगा है.

Air India के भर्ती अभियान का दूसरा चरण शनिवार 2 जुलाई को आयोजित किया गया था और सिक लीव लेने वाले Indigo के केबिन क्रू के अधिकतर सदस्य इसके लिए गए थे. Air India की रिक्रूटमेंट ड्राइव दिल्ली, मुंबई, कोलकाता, हैदराबाद और बेंगलुरु जैसे मेट्रो शहरों में थी. Indigo केबिन क्रू के अधिकतर सदस्यों के मौजूद न होने के चलते कई Indigo प्लेन्स में पायलट फंस गए और टर्मिनल्स पर पैसेंजर अपनी फ्लाइट के उड़ने का इंतजार करते रहे. कुछ फ्लाइट तो कैंसिल भी करनी पड़ीं.

Indigo की रोज लगभग 1600 उड़ानें होती हैं संचालित

Indigo वर्तमान में घरेलू और अंतरराष्ट्रीय मिलाकर रोजाना लगभग 1,600 उड़ान संचालित करती है. नागर विमानन मंत्रालय की वेबसाइट के मुताबिक, Indigo की 45.2 प्रतिशत घरेलू उड़ानें शनिवार को समय पर संचालित हुईं. इसकी तुलना में शनिवार को एयर इंडिया, स्पाइसजेट, विस्तारा, गो फर्स्ट और एअरएशिया इंडिया की क्रमश: 77.1 प्रतिशत, 80.4 प्रतिशत, 86.3 प्रतिशत, 88 प्रतिशत और 92.3 प्रतिशत उड़ानों का परिचालन समय पर हुआ.

अब टाटा की है Air India

पिछले साल 8 अक्टूबर को Air India के लिए सफलतापूर्वक बोली जीतने के बाद टाटा समूह ने 27 जनवरी को Air India का नियंत्रण अपने हाथ में ले लिया था. Air India की योजना नए विमान खरीदने और अपनी सेवाओं में सुधार करने की है और इसने हाल ही में नए केबिन क्रू सदस्यों के लिए एक भर्ती अभियान शुरू किया है.

Indigo कर्मचारियों में सैलरी को लेकर असंतोष

Indigo की समय से उड़ानें संचालित करने की मजबूत छवि रही है. इस प्रकरण ने उस छवि को भी नुकसान पहुंचाया है. Indigo के कर्मचारियों में पिछले कुछ महीनों से सैलरी को लेकर असंतोष है. ऐसे में टाटा ग्रुप के Air India को लेकर बनाए एक्‍सपेंशन प्‍लान ने दूसरी विमानन कंपनियों की नींद उड़ा रखी है. राकेश झुनझुनवाला (Rakesh Jhunjhunwala) की जल्द शुरू होने वाली एयरलाइन कंपनी Akasa को भी कई आवेदन मिले हैं. ऐसे में पहले से जमी-जमाई विमानन कंपनियों को अचानक बड़ी संख्‍या में कर्मचारियों के जाने का डर सता रहा है. इसलिए Indigo सहित कुछ एयरलाइनों ने Air से अनुरोध किया है कि वह एनओसी के बगैर उनके केबिन क्रू की भर्ती नहीं करे.

Montage of TechSparks Mumbai Sponsors