इम्पोर्ट करने के बजाय अब 3 अरब डॉलर के मोबाइल फोन एक्सपोर्ट कर रहा है भारत: पीएम मोदी

देश में उदारीकरण नीतियों को आगे बढ़ाने का परिणाम है कि आज रिकार्ड प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आ रहा है और देश का विदेशी मुद्रा भंडार भी नये रिकार्ड स्तर पर पहुंच गया।

इम्पोर्ट करने के बजाय अब 3 अरब डॉलर के मोबाइल फोन एक्सपोर्ट कर रहा है भारत: पीएम मोदी

Monday August 16, 2021,

2 min Read

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने रविवार को कहा कि भारत सात साल पहले 8 अरब डॉलर मूल्य का मोबाइल फोन आयात (इम्पोर्ट) करता था और अब देश इन्हीं उपकरणों का 3 अरब डॉलर मूल्य का निर्यात (एक्सपोर्ट) कर रहा है।


राष्ट्र को 75वें स्वतंत्रता दिवस के अवसर पर लाल किले की प्राचीर से संबोधित करते हुए मोदी ने कहा कि सरकार ने महत्वपूर्ण कार्यक्रम ‘मेक इन इंडिया’ को बढ़ावा देने के लिये उत्पादन आधारित प्रोत्साहन (PLI) योजना की घोषणा की है।


उन्होंने कहा, ‘‘योजना से जो बदलाव आये हैं, इलेक्ट्रॉनिक विनिर्माण उसका उदाहरण है। सात साल पहले, हम करीब 8 अरब डॉलर मूल्य का मोबाइल फोन आयात करते थे। अब आयात कम हुआ है। आज हम 3 अरब डॉलर मूल्य का मोबाइल फोन आयात कर रहे हैं।’’

f

सांकेतिक चित्र (साभार: TheEconomicTimes)

उल्लेखनीय है कि इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी मंत्रालय ने पीएलआई योजना के तहत 148 अरब डॉलर के निवेश से जुड़े घरेलू तथा अंततरराष्ट्रीय कंपनियों के 16 प्रस्तावों को मंजूरी दी है।


देश में उदारीकरण नीतियों को आगे बढ़ाने का परिणाम है कि आज रिकार्ड प्रत्यक्ष विदेशी निवेश आ रहा है और देश का विदेशी मुद्रा भंडार भी नये रिकार्ड स्तर पर पहुंच गया।


पीएम मोदी ने देश के उद्योगों से ‘वैश्विक स्तरीय विनिर्माण’ का लक्ष्य लेकर आगे बढ़ने का आह्वान किया।


उन्होंने भारतीय उत्पादों को विश्वस्तरीय गुणवत्ता वाला बनाने पर जोर देते हुये कहा, ‘‘जो उत्पाद हम बाहर भेजते हैं वह केवल किसी एक कंपनी का उत्पाद नहीं होता है बल्कि वह उत्पाद भारत की पहचान होता है। उस उत्पाद से भारत की प्रतिष्ठा जुड़ी होती। इसलिये भारत में निर्मित उत्पाद - बेहतर होने चाहिये।’’


(साभार: PTI)