फ्लाइट में अब मास्क पहनना अनिवार्य नहीं, लेकिन सुरक्षा के लिए मास्क इस्तेमाल करने की सरकार की सलाह

By yourstory हिन्दी
November 17, 2022, Updated on : Thu Nov 17 2022 11:56:59 GMT+0000
फ्लाइट में अब मास्क पहनना अनिवार्य नहीं, लेकिन सुरक्षा के लिए मास्क इस्तेमाल करने की सरकार की सलाह
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

कोविड-19 (covid-19) महामारी के वक़्त देशवासियों ने कई प्रकार के प्रतिबंधों का पालन किया. कई तरह के प्रतिबंधों में हवाई यात्रा से सम्बंधित प्रतिबंध भी शामिल थे. इस साल धीरे-धीरे देश में लगे कई तरह के प्रतिबंध हटा दिए गए, यहां तक कि मास्क की अनिवार्यता भी खत्म कर दी गई. वहीँ, हवाई यात्रा करने के दौरान मास्क की अनिवार्यता खत्म नहीं की गई थी. बल्कि यात्रियों को हवाई यात्रा के दौरान मास्क पहनना जरूरी हुआ करता था. हालांकि, अब जब कोरोना के मामलों में काफी तेजी से गिरावट देखने को मिली है तब सिविल एविएशन मिनिस्ट्री ने मास्क की अनिवार्यता को खत्म करने का फैसला किया है.


नागरिक उड्डयन मंत्रालय (Ministry of Civil Aviation) ने बुधवार को एयरलाइंस के लिए एक आदेश जारी करते हुए कहा कि विमान में सवार होने पर अब मास्क पहनना व्यक्ति की ‘मर्जी’ पर निर्भर करेगा लेकिन अब यह अनिवार्य नहीं है. सरकार द्वारा दिए गए आदेश में कहा गया है कि, 'फ्लाइट अनाउंसमेंट में फेस मास्क के इस्तेमाल की एडवाइज दी जा सकती है, लेकिन पेनल्टी का अनाउंसमेंट नहीं किया जा सकता.’


आदेश में आगे कहा गया है कि भारत सरकार की कोविड-19 प्रबंधन प्रतिक्रिया नीति के अनुरूप, फ्लाइट के अंदर (चालक दल) केवल यह कह सकते हैं कि कोविड-19 से उत्पन्न खतरे के मद्देनजर, सभी यात्रियों को बेहतर होगा कि मास्क/फेस कवर का इस्तेमाल करें. यानि कि यह एयरलाइंस यात्रियों को अपनी सुरक्षा के लिए फेस मास्क लगाने के लिए अनुरोध कर सकती है, हालांकि यह व्यक्ति पर निर्भर होगा कि वो मास्क लगाए या नहीं. इसमें आगे कहा गया कि फ्लाइट के अंदर अब मास्क न पहनने पर जुर्माना/दंडात्मक कार्रवाई आदि के बारे में घोषणा करने की आवश्यकता नहीं है. मंत्रालय ने हालांकि इसके साथ ही कहा कि कोरोना वायरस मामलों की घटती संख्या के बावजूद सुरक्षा के लिहाज़ से यात्रियों को मास्क का इस्तेमाल करना चाहिए.


फ्लाइट्स में सफर करते समय मास्क पहने रहना अब तक अनिवार्य था और ऐसा नहीं करने पर आर्थिक दंड तथा सज़ा तक का प्रावधान था. लेकिन कोविड-19 मैनेजमेंट के लिए अलग-अलग क्षेत्रों में अपनाए जाने वाले सिलसिलेवार कदमों के अनुरूप ही अब विमानों में मास्क लगाने की अनिवार्यता को खत्म करने का निर्णय लिया गया है.


देश में कोरोना वायरस संक्रमण के मामले में लगातार कमी देखी जा रही है. ताज़ा आधिकारिक आंकड़ों के मुताबिक, देश में कोविड-19 संक्रमण के एक्टिव मरीजों की संख्या घटकर 7,561 रह गई है, जो कुल मामलों का महज 0.02 प्रतिशत है. वहीं, मरीजों के ठीक होने की राष्ट्रीय दर 98.79 प्रतिशत है. देश में अब तक कुल 4,41,28,580 लोग कोरोना संक्रमण से मुक्त हो चुके हैं, जबकि कोविड-19 से मृत्यु दर 1.19 प्रतिशत है.


Edited by Prerna Bhardwaj