इस जज ने खुद को ‘माय लॉर्ड’ बुलाने पर लगाई रोक, कहा- मुझे 'इस शब्द' से करें संबोधित!

By भाषा पीटीआई
July 17, 2020, Updated on : Fri Jul 17 2020 09:01:30 GMT+0000
इस जज ने खुद को ‘माय लॉर्ड’ बुलाने पर लगाई रोक, कहा- मुझे 'इस शब्द' से करें संबोधित!
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

आमतौर पर दुनिया के सभी हिस्सों में न्यायाधीशों को ‘माय लॉर्ड’ या ‘योर ऑनर’ जैसे शब्दों के साथ समोधित करने की परंपरा है।

court

(सांकेतिक चित्र)



कोलकाता, कलकत्ता उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश टीबीएन राधाकृष्णन ने कहा कि बंगाल और अंडमान के सभी न्यायिक अधिकारी उन्हें ‘माय लॉर्ड’ या ‘लॉर्डशिप’ कहकर नहीं बल्कि ‘सर’ कहकर संबोधित करें।


एक अधिकारी ने बृहस्पतिवार को बताया कि उच्च न्यायालय के महापंजीयक राय चटोपाध्याय की ओर से राज्य तथा अंडमान-निकोबार के जिला न्यायाधीशों और निचली अदालतों के मुख्य न्यायाधीशों को पत्र भेज कर मुख्य न्यायाधीश के इस संदेश से अवगत करवाया गया है।


पत्र में कहा गया है कि मुख्य न्यायाधीश चाहते हैं कि ‘‘अब आगे से जिला न्यायपालिका, माननीय उच्च न्यायालय की रजिस्ट्री के सदस्य माननीय मुख्य न्यायाधीश को ‘माय लॉर्ड’ और ‘लॉर्डशिप’ के स्थान पर ‘सर’ कहकर संबोधित करें।’’

आमतौर पर दुनिया के सभी हिस्सों में न्यायाधीशों को ‘माय लॉर्ड’ या ‘योर ऑनर’ जैसे शब्दों के साथ समोधित करने की परंपरा है।


Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close