भारत की ये लॉजिस्टिक कंपनी लेकर आई 75,000 नौकरियां, कौन कर सकता है अप्लाई?

भारत की ये लॉजिस्टिक कंपनी लेकर आई 75,000 नौकरियां, कौन कर सकता है अप्लाई?

Saturday August 27, 2022,

3 min Read

बीते कुछ महीनों से दुनियाभर के जॉब मार्केट की हालत खस्ता है. आए दिन कंपनियां कर्मचारियों की छंटनी कर रही है. लेकिन अब भारत की एक कंपनी अच्छी ख़बर लेकर आई है. ये कंपनी है लॉजिस्टिक फर्म Delhivery. कंपनी ने हाल ही में बंपर भर्ती करने का एलान किया है. कूरियर सेवा की क्षमता का विस्तार करने के लिए कंपनी ने यह कदम उठाया है.

कंपनी का कहना है कि यह अगले एक से डेढ़ महीने में 75,000 लोगों को जॉब देगी. Delhivery ने आगामी त्योहारों के सीजन को देखते हुए इतने बड़े लेवल पर भर्तियां करने का फैसला लिया है. हालांकि ज्यादातर नौकरिया सीजनल होंगी.

आने वाले दिनों में नवरात्र, दिवाली समेत कई बड़े त्योहार पड़ने वाले हैं. इस मौके पर लोग खूब खरीदारी करते हैं. इसी को देखते हुए कंपनी अपनी कूरियर सर्विस बढ़ाने का फैसला लिया है. भर्ती के बारे में जानकारी देते हुए Delhivery ने कहा है कि त्योहार के सीजन में बढ़ती कूरियर सर्विस की मांग को पूरा करने के लिए भर्तियां की जाएंगी.

Delhivery की 75000 नौकरियों में से 10000 से ज्यादा नौकरियां ऑफ-पे रोल पर होंगी. इसका मतलब है कि 10 हजार से अधिक उम्मीदवारों को कंपनी सीधे तौर पर हायर नहीं करेगी. इन उम्मीदवारों को थर्ड पार्टी के जरिए हायर किया जाएगा. ऑफ रोल के कर्मचारियों की भर्ती डिलीवरी गेटवेज, वेयरहाउस और लास्ट माइल डिलीवरी के लिए होंगी.

लास्ट-माइल एजेंट प्रोग्राम के तहत कंपनी 50,000 लोगों को बतौर एजेंट हायर करेगी. इस हायरिंग से सेल्फ इम्प्लॉयड, स्टूडेंट्स और रिटायर्ड प्रोफेशनल्स के अलावा कई बेरोजगारों को नौकरी मिलेगी.

इसके साथ ही कंपनी लास्ट माइल राइडर्स के साथ अपनी क्षमता बढ़ाएगी. इसके लिए Delhivery अतिरिक्त 15 हजार से अधिक लोगों को बतौर लास्ट माइल राइडर्स हायर करेगी. इसके आलावा कारोबार में विस्तार के लिए कंपनी दूसरे प्रोजेक्ट को भी मजबूत करेगी.

बिज़नेस स्टैंडर्ड की एक रिपोर्ट के मुताबिक, कंपनी के एक अ​धिकारी अजित पई ने कहा, "डिलिवरी क्षमता के निर्माण के साथ-साथ हमने वित्त वर्ष 2023 की पहली तिमाही के दौरान अपने इन्फ्रास्ट्रक्चर में करीब 10 लाख वर्ग फुट का इजाफा किया है."

लॉजिस्टिक सर्विस प्रोवाइडर 15,000 से अ​धिक लास्ट-माइल राइडर्स को अपने नेटवर्क से जोड़ते हुए अपनी क्षमता बढ़ा रही है ताकि ड्रॉप एट स्टोर और कॉन्सटेलेशन कार्यक्रमों को मजबूत किया जा सके. कंपनी ने कहा कि वह अपने बिजनेस पार्टनर्स प्रोग्राम के जरिये ट्रक ड्राइवरों, बेड़े के मालिकों और बिचौलियों को भी शामिल करेगी.

आपको बता दें कि इतने लोगों को रोजगार देने के साथ ही कंपनी की रोजाना सामान डिलीवर करने की क्षमता को बढ़ाकर 15 लाख तक करने का लक्ष्य है.

(बैनर तस्वीर: pxhere)