बांस के चारकोल से बने सैनिटरी पैड्स और गोबर से बनी लकड़ी...Rajasthan DigiFest में दिख रहीं हटके इनोवेशंस

By yourstory हिन्दी
August 19, 2022, Updated on : Sat Aug 20 2022 07:45:06 GMT+0000
बांस के चारकोल से बने सैनिटरी पैड्स और गोबर से बनी लकड़ी...Rajasthan DigiFest में दिख रहीं हटके इनोवेशंस
Rajasthan DigiFest 2022 का आयोजन डिपार्टमेंट ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एंड कम्युनिकेशंस की तरफ से किया जा रहा है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

राजस्थान सरकार 19-20 अगस्त, 2022 को Rajasthan DigiFest की मेजबानी कर रही है. यह कार्यक्रम जयपुर के बिड़ला ऑडिटोरियम में आयोजित किया गया है. दो दिवसीय कार्यक्रम राजस्थान सरकार के प्रयासों का हिस्सा है. ऐसे प्रयास जो स्टार्टअप्स, इंडस्ट्री लीडर्स, मेंटर्स, स्टूडेंट्स आदि को नेटवर्किंग के लिए एक प्लेटफॉर्म देते हैं. साथ ही यह आईटी और टेक्नोलॉजी में विकास के अवसरों के साथ आंत्रप्रेन्योरशिप और डिजिटाइजेशन को बढ़ावा देने और प्रोत्साहित करने में मददगार हैं. यह समाज के अलग-अलग स्टेकहोल्डर्स के बीच बिजनेस को सरल और सुगम बनाने का प्रयास है.


इस ईवेंट में लगभग 100 स्टार्टअप हिस्सा ले रहे हैं. ये स्टार्टअप अलग-अलग कैटेगरी/सेक्टर में कार्यरत हैं, सस्टेनेबिलिटी, ट्रैवल, एजुकेशन, हॉस्पिटैलिटी आदि. इस रिपोर्ट में हम ईवेंट का हिस्सा बने इनोवेटिव स्टार्टअप्स में से कुछ का जिक्र कर रहे हैं.

many-innovative-startups-are-taking-part-in-rajasthan-digifest-2022-istart-rajasthan-gomay-parivar-merapad-

गोमय स्टार्टअप

‘गोमय परिवार’ नाम का एक स्टार्टअप, पर्यावरण के लिए अपना योगदान दे रहा है. यह जलाने के लिए लकड़ी का विकल्प उपलब्ध करा रहा है. गोमय परिवार जयपुर का स्टार्टअप है और इसने देसी गाय के गोबर और एग्रीकल्चर वेस्ट से हवन योग्य लकड़ी बनाई है. इसे गोमय समिधा नाम दिया गया है. इसके अलावा स्टार्टअप ने अंतिम संस्कार के लिए गो काष्ठ गोमय समिधा को ईजाद किया है. यह भी गोबर और कुछ अन्य पदार्थों को मिलाकर तैयार किया गया है. स्टार्टअप का दावा है कि प्रत्येक दाह संस्कार में लगभग दो पेड़ों को काटकर जला दिया जाता है. गो काष्ठ गोमय समिधा से पेड़ों को बचाने में मदद मिल सकेगी. जिन गायों के गोबर का इस्तेमाल प्रॉडक्ट बनाने के लिए किया जा रहा है, वे गौशाला की गाय हैं और होने वाली अर्निंग गौशाला में जा रही है.


स्टार्टअप ने ग्रेटर नगर निगम के साथ एक एमओयू साइन किया है और शुरुआत में 11 मोक्ष धामों को इसे पायलट प्रोजेक्ट के तौर पर दिया गया है. गोमय परिवार के अभियान को भारत सरकार के स्टार्टअप इंडिया मिशन में चुना गया है.

LugBee

यह स्टार्टअप घूमने जाने वालों को सामान की टेंशन से मुक्ति दिलाने की कोशिश में जुटा है. LugBee होटलों और स्टोर्स का एक नेटवर्क उपलब्ध कराता है, जो यात्रा करने वालों को उनका सामान सुरक्षित रखने में मदद करते हैं. ट्रैवलर्स ऑनलाइन बुकिंग कर अपना सामान होटलों/स्टोर्स में छोड़ सकते हैं और शहर में सामान की टेंशन किए बिना घूम सकते हैं. सामान को कितनी ही अवधि तक के लिए छोड़ा जा सकता है. यह स्टार्टअप सामान पर 10 हजार रुपये तक के इंश्योरेंस की सुविधा भी दे रहा है.

many-innovative-startups-are-taking-part-in-rajasthan-digifest-2022-istart-rajasthan-gomay-parivar-merapad-

VIQR

VIQR (Vehicle Identification Quick Response) स्टार्टअप कार ओनर्स को एक स्टीकर उपलब्ध कराता है. कार पर यह स्टीकर लगा होने का एक फायदा यह है कि अगर इस स्टीकर वाली कार कहीं किसी पार्किंग में खड़ी है और उसकी वजह से किसी दूसरी कार का रास्ता ब्लॉक हो रहा है तो ब्लॉक्ड कार वाला, स्टीकर लगी कार के मालिक से संपर्क कर सकता है. उसे ढूंढने के लिए यहां-वहां भटकना नहीं पड़ेगा. ब्लॉक्ड कार के ओनर/ड्राइवर को दूसरी कार पर लगे स्टीकर को स्कैन करना होगा. इसके बाद एक इंटरफेस खुलेगा, जिसमें कार ओनर को कॉन्टैक्ट करने का ऑप्शन होगा. इस ऑप्शन पर क्लिक करने पर ओनर के पास कॉल चली जाएगी. दिलचस्प बात यह है कि स्टीकर लगी कार के मालिक का नंबर किसी से भी साझा नहीं होगा.

many-innovative-startups-are-taking-part-in-rajasthan-digifest-2022-istart-rajasthan-gomay-parivar-merapad-

मेरा पैड

यह स्टार्टअप बांस के चारकोल से बने इको फ्रेंडली सैनिटरी क्लोथ पैड्स की पेशकश कर रहा है. MeraPad स्टार्टअप महिलाओं द्वारा, महिलाओं के लिए शुरू किया गया है. स्टार्टअप का दावा है कि उनके पैड रियूजेबल, केमिकल फ्री और बायोडिग्रेबल है. चूंकि यह सैनिटरी पैड रियूजेबल है, इसलिए यह 5 साल या उससे ज्यादा वक्त तक चल सकने में सक्षम है. इसके अलावा चूंकि यह बायोडिग्रेबल है, इसलिए इसके माध्यम से सैकड़ों किलोग्राम वेस्ट जनरेट होने से बचाने और हजारों रुपये बचाने में मदद होगी. मेरा पैड स्टार्टअप के पीछे प्रवीनलता संस्थान एनजीओ है.

बहुत कुछ होगा इवेंट में...

इसके अलावा राज्य सरकार की ओर से कई तरह के स्टॉल भी लगाए गए हैं जैसे- गवर्मेंट फॉर यूथ, गवर्मेंट फॉर लॉ एंड ऑर्डर, गवर्मेंट फॉर हेल्थ, गवर्मेंट फॉर फार्मर आदि. इस मेगा इवेंट में राजस्थान के शहरी और ग्रामीण क्षेत्रों से आने वाले युवाओं को शामिल किया जाएगा. यह इसलिए किया जा रहा है ताकि उनके रोजगार का दायरा बढ़ सके और वे आंत्रप्रेन्योरशिप की अवधारणा को समझ सकें. इसमें स्टार्टअप एक्सपो और कॉन्फ्रेंस जैसे प्रोग्राम होंगे. साथ ही स्टार्टअप्स को गाइड करने के लिए नॉलेज सेशन, इंटरव्यू अपस्किलिंग, सरकारी प्रक्रियाओं को ऑटोमेट करने के लिए वर्कशॉप्स आदि बहुत कुछ होगा. Rajasthan DigiFest 2022 का आयोजन डिपार्टमेंट ऑफ इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी एंड कम्युनिकेशंस की तरफ से किया जा रहा है. कोविड-19 महामारी के बाद इतने बड़े पैमाने पर आयोजित होने वाला यह पहला इवेंट है.


Edited by Ritika Singh