क्रिकेट NFT प्लेटफॉर्म Rario से जुड़े सचिन तेंदुलकर, बने स्ट्रेटजिक इन्वेस्टर

By yourstory हिन्दी
October 21, 2022, Updated on : Fri Oct 21 2022 12:53:01 GMT+0000
क्रिकेट NFT प्लेटफॉर्म Rario से जुड़े सचिन तेंदुलकर, बने स्ट्रेटजिक इन्वेस्टर
सचिन भारत और दुनिया भर में अरबों लोगों के दिलों में एक विशेष स्थान बनाए हुए हैं और उनके प्रशंसक पीढ़ी-दर-पीढ़ी बढ़ते ही जा रहे हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

डिजिटल क्रिकेट कलेक्शन प्लेटफॉर्म रारियो (Rario) ने नॉन-फंजीबल टोकन (एनएफटी) मार्केट में प्रवेश करने के लिए क्रिकेटर मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर (Sachin Tendulkar) के साथ भागीदारी की है. इस साझेदारी में न केवल सचिन एक रणनीतिक निवेशक के रूप में शामिल हैं बल्कि यह उनके दुनिया भर के प्रशंसकों को रारियो डॉट कॉम पर अपने डिजिटल कलेक्शन योग्य सामान को रखने की अनुमति देती है. Rario, दुनिया का पहला आधिकारिक रूप से लाइसेंस प्राप्त डिजिटल क्रिकेट कलेक्शन प्लेटफॉर्म है.


सचिन भारत और दुनिया भर में अरबों लोगों के दिलों में एक विशेष स्थान बनाए हुए हैं और उनके प्रशंसक पीढ़ी-दर-पीढ़ी बढ़ते ही जा रहे हैं. इस सहयोग की मदद से, तेंदुलकर के प्रशंसकों के पास अब अपने पसंदीदा खिलाड़ी की डिजिटल संग्रहणीय वस्तुओं को रखने का मौका है और उनका उपयोग कई यूटिलिटी में किया जा सकता है. एरॉन फिंच, फाफ डू प्लेसिस, क्विंटन डी कॉक, शाकिब अल हसन, ऋषभ पंत, वीरेंद्र सहवाग, जहीर खान, स्मृति मंधाना, अर्शदीप सिंह, अक्षर पटेल सहित कई अनुभवी और नए क्रिकेटर पहले से ही रारियो के प्लेटफार्म पर हैं.

'सचिन का जुड़ना सपना सच होने जैसा'

रारियो के को-फाउंडर और सीईओ अंकित वाधवा ने कहा, 'वर्ष 1996 में मैंने सचिन तेंदुलकर को पहली बार दिल्ली के कोटला में भारत-श्रीलंका विश्व कप मैच में लाइव देखा था. दुनिया के महानतम खिलाड़ी ने उस मैच में 137 रनों की पारी खेली थी, वह पूरे भारत के हीरो हैं. 26 साल बाद, मास्टर ब्लास्टर के साथ रारियो में निवेश करना, उनके साथ साझेदारी करना सपनों के सच होने जैसा है. यह कल्पना को हकीकत बनाने के हमाने विजन के अनुरूप भी है. एक ऐसी दुनिया जहां सितारे सिर्फ दूर की टिमटिमाती स्क्रीन या भीड़ भरे स्टेडियम में मौजूद नहीं हैं, वहीं फैन भी सिर्फ ऑडियंस नहीं बल्कि सक्रिय पार्टनर हैं. वह व्यक्ति जिससे कभी एक अरब लोगों ने उम्मीदें रखीं, क्रिकेट का भगवान माना, वह अब एक अरब प्रशंसकों के लिए फैंटेसी को फिर से परिभाषित करने की हमारी यात्रा में हमें आशीर्वाद दे रहा है. क्रिकेट के भगवान हमें समर्थन दे रहे हैं तो सारा आकाश हमारा है.'

प्रशंसकों के बिना खेल का आनंद नहीं

इस साझेदारी पर बोलते हुए सचिन तेंदुलकर ने कहा, 'प्रशंसकों के बिना खेल का आनंद नहीं होता. ऑन-फील्ड एक्शन तो कुछ ही घंटों का होता है, वे प्रशंसक ही हैं जो इसकी यादों को आगे बढ़ाते हुए उन पलों को हमेशा के लिए अमर कर देते हैं. देखना रोमांचक है कि एनएफटी तकनीक प्रशंसकों को खेल के करीब ला रही है, जिससे उन्हें अपने पसंदीदा पलों को संजोने का मौका मिलता है. इसलिए मैं विशेष रूप से रारियो प्लेटफॉर्म पर अपने डिजिटल कलेक्शन को लॉन्च करने के लिए टीम के साथ साझेदारी करके खुश हूं.'

NFT का बाजार मूल्य

जब से एनएफटी ने बाजार में प्रवेश किया है, डिजिटल एसेट्स के दृष्टिकोण में आमूल-चूल परिवर्तन आया है. एनएफटी डिजिटल एसेट्स का एक वर्ग है जो संपत्ति के स्वामित्व और ट्रांसफर को ट्रैक करने के लिए ब्लॉकचेन का उपयोग करता है. एनएफटी के आने के बाद से कला, मीडिया, फैशन और खेल के सभी रूपों को शामिल करने के लिए चलन तेजी से फैल गया है. आर्ट के सभी रूपों में एनएफटी का बाजार मूल्य 40 अरब डॉलर है, जो 50 अरब डॉलर के बाजार मूल्य के करीब पहुंच रहा है.

2021 में शुरू हुआ था रारियो

रारियो की शुरुआत 2021 में हुई थी. इसे IIT एल्युमनी अंकित वाधवा और सनी भनोत ने शुरू किया था. Rario की Cricket Australia, New Zealand Cricket, Big Bash League, Women’s Big Bash League, Super Smash, Hero Caribbean Premier League, Lanka Premier League, Abu Dhabi T10 League और Legends League Cricket समेत कई के साथ एक्सक्लूसिव पार्टनरशिप हैं. साथ ही इसके साथ 900 से ज्यादा अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर और 30 से ज्यादा एक्सक्लूसिव ब्रांड एंबेस्डर जुड़े हैं. 2021 से अब तक Rario 75 से ज्यादा देशों में स्पोर्ट्स फैन्स को 150,000 से ज्यादा NFT की बिक्री कर चुका है.



Edited by Ritika Singh