बिड़ला ग्रुप की इस कंपनी ने की निवेशकों की चांदी, 3 साल में 1 लाख को बनाया 76 लाख

मल्टीबैगर शेयर में निवेश करने वाले निवेशकों की चांदी होना तय है. ऐसा ही एक मल्टीबैगर शेयर है एक्सप्रो इंडिया (Xpro India), जो बिड़ला ग्रुप की एक कंपनी है. इस शेयर ने 3 साल में करीब 7500 फीसदी रिटर्न दिया है.

बिड़ला ग्रुप की इस कंपनी ने की निवेशकों की चांदी, 3 साल में 1 लाख को बनाया 76 लाख

Monday January 16, 2023,

3 min Read

शेयर बाजार (Share Market) से उन लोगों को तगड़ा मुनाफा होता है, जो किसी मल्टीबैगर शेयर (Multibagger Stock) में निवेश करते हैं. ऐसा ही एक मल्टीबैगर शेयर है एक्सप्रो इंडिया (Xpro India), जो बिड़ला ग्रुप की एक कंपनी है. करीब 3 सालों में इस कंपनी का शेयर 10 रुपये से 700 रुपये तक पहुंच चुका है. कंपनी ने अपने निवेशकों को करीब 7500 फीसदी का रिटर्न दिया है.

1 लाख को बनाया 76 लाख रुपये

मार्च 2020 में कंपनी का शेयर 9.60 रुपये यानी करीब 10 रुपये के करीब था. वहीं 15 जनवरी को कंपनी का शेयर करीब 729 रुपये के लेवल पर बंद हुआ है. यानी तीन सालों से भी कम समय में कंपनी ने करीब 7500 फीसदी का रिटर्न दिया है. कंपनी का शेयर इस अवधि में 76 गुना उछल गया है. मतलब जिसने इस कंपनी में मार्च 2020 के दौरान 1 लाख रुपये लगाए होंगे, आज उसके पैसे 76 लाख रुपये बन चुके हैं.

अगर कंपनी के सिर्फ 2 साल के रिटर्न को देखें. तो भी कंपनी ने धांसू रिटर्न दिया है. 18 जनवरी 2021 को कंपनी का शेयर करीब 25 रुपये के लेवल पर था. अभी यह शेयर 729 रुपये का हो गया है. यानी इस दौरान भी कंपनी ने करीब 2800 फीसदी का रिटर्न दिया है. इस तरह देखा जाए तो कंपनी ने करीब 28 गुना रिटर्न दिया है. जिसने दो साल पहले कंपनी में 1 लाख रुपये लगाए होंगे, आज उसके पैसे 28 लाख रुपये बन चुके हैं. एक्सप्रो इंडिया के शेयरों का 52 हफ्ते का लो लेवल 587.25 रुपये है.

शेयर बाजार में अच्छा स्टॉक कैसे चुनें?

शेयर बाजार में निवेश करने में सबसे अहम होता है शेयरों का चुनाव. आपको जिस भी कंपनी का शेयर खरीदना है सबसे पहले उसके बारे में पूरी एनालिसिस करें. देखें कि कंपनी का बिजनस क्या है और कैसा चल रहा है. चेक करें कि कंपनी को फायदा हो रहा है या नुकसान. ये भी देखें कि कंपनी भविष्य को लेकर क्या प्लान बना रही है. इतना ही नहीं, कंपनी के मैनेजमेंट के बारे में भी जरूर स्टडी करें, क्योंकि अगर मैनेजमेंट में ही गड़बड़ होगी तो तगड़ा मुनाफा देने वाली कंपनी भी भारी नुकसान का सबब बन सकती है.

शेयर बाजार में पैसा लगाने का मतलब अधिकतर लोग ये समझते हैं कि हर रोज सुबह से शाम तक शेयर बाजार ही देखते रहें. उन्हें लगता है कि जैसे ही दाम बढ़ेंगे, शेयर बेचकर मुनाफा कमा लेंगे. कई लोग एक ही दिन में शेयर खरीद कर बेच देते हैं, जिसे इंट्रा डे ट्रेडिंग कहा जाता है. वहीं कुछ लोग कुछ दिनों, हफ्तों या महीनों में मुनाफा काट लेते हैं, जिसे स्विंग ट्रेडिंग कहते हैं. वहीं सबसे तगड़ा मुनाफा मिलता है निवेश से, जो लंबे वक्त के लिए किया जाता है. राकेश झुनझुनवाला से लेकर वॉरेन बफे तक सभी निवेश की सलाह देते हैं. कभी-कभी ट्रेडिंग बुरी बात नहीं, लेकिन अधिकतर समय निवेश के बारे में सोचना चाहिए तभी मल्टीबैगर रिटर्न मिलते हैं.