बादल बरसे टूट कर: 1974 के बाद मुंबई में सबसे अधिक बारिश दर्ज

By yourstory हिन्दी
July 03, 2019, Updated on : Thu Sep 05 2019 07:33:06 GMT+0000
बादल बरसे टूट कर: 1974 के बाद मुंबई में सबसे अधिक बारिश दर्ज
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

"मुंबई में 2005 में आयी बाढ़ को छोड़ दें तो यह पांच जुलाई 1974 के बाद महानगर में एक दिन में हुई सबसे अधिक बारिश है। सांताक्रुज वेधशाला ने उस दिन मुंबई में 375.2 मिमी बारिश दर्ज की थी।"



Mumbai Rain

'मुंबई की बारिश', सांकेतिक तस्वीर (साभार: Shutterstock)


मुंबई में मंगलवार को सुबह साढ़े आठ बजे से पहले तक पिछले 24 घंटे के दौरान सबसे अधिक बारिश हुई। इससे पहले 26 जुलाई 2005 को मुंबई ऐसे ही जलप्रलय का गवाह बना था। पीटीआई के मुताबिक अधिकारियों ने यह जानकारी दी। सांता क्रुज में भारत मौसम विज्ञान विभाग (आईएमडी) के मुंबई क्षेत्रीय केंद्र से मिले आकंड़े का हवाला देते हुए एक अधिकारी ने बताया कि पिछले 24 घंटे के दौरान 375.2 मिमी बारिश हुई है।


मुंबई में 2005 में आयी बाढ़ को छोड़ दें तो यह पांच जुलाई 1974 के बाद महानगर में एक दिन में हुई सबसे अधिक बारिश है। सांताक्रुज वेधशाला ने उस दिन मुंबई में 375.2 मिमी बारिश दर्ज की थी। महाराष्ट्र में बारिश जनित घटनाओं में 27 लोगों की मौत हो गयी है। इनमें 18 लोगों की मौत मुंबई में एक दीवार के ढह जाने के कारण हुई है। अधिकारियों ने मंगलवार को शहर एवं आसपास के इलाकों में अवकाश घोषित किया है और लोगों से अपने घरों से बाहर निकलने से बचने को कहा है।


मुंबई में उत्तरी उपनगर मलाड में भारी बारिश के बाद मंगलवार सुबह दीवार ढहने की घटना में 18 लोगों की मौत हो गयी जबकि 50 से अधिक लोग घायल हो गये। अधिकारियों ने बताया कि पुणे के अम्बेगांव इलाके में सोमवार रात एक दीवार के ढह जाने के कारण छह मजदूरों की मौत हो गयी और तीन लोग घायल हो गये। ठाणे के कल्याण में मंगलवार सुबह दीवार ढहने की एक और घटना में तीन लोगों की मौत हो गयी।


उधर दूसरी तरफ मुंबई हवाई अड्डे की मुख्य हवाई पट्टी बंद होने के बाद बुधवार को करीब 75 उड़ानों को रद्द करना पड़ गया। स्पाइसजेट के एक विमान के दो दिन पहले दुर्घटनाग्रस्त होने के बाद मुख्य हवाई पट्टी को बंद कर दिया गया था। मुंबई हवाई अड्डा संचालकों ने मुख्य हवाई पट्टी के लिए मध्यरात्रि तक ‘नोटम’ (वायुकर्मियों के लिए नोटिस) प्राप्त किया है जहां एयर इंडिया के इंजीनियर और कर्मी सोमवार रात दुर्घटनाग्रस्त बोइंग 737-800 विमान को हटाने के लिए काम कर रहे हैं। ‘नोटम’ पायलटों को दिया जाता है और इसमें विमान मार्ग पर खतरों की जानकारी दी जाती है। अधिकारी ने कहा, ‘‘देर शाम तक कुल 75 उड़ानों को रद्द किया गया है। हवाई अड्डे पर आने वाली विभिन्न ऑपरेटरों की 40 उड़ानों को रद्द किया गया है जबकि यहां से रवाना होने वाली 35 उड़ानों का भी संचालन नहीं किया जा रहा है।’’ 


अधिकारी ने कहा कि सोमवार रात से दूसरी हवाईपट्टी से संचालन जारी है। मुंबई हवाई अड्डे की मुख्य हवाई पट्टी पर बृहस्पतिवार तक उड़ान संचालन बंद रहने की संभावना है। शहर में हुई भारी बारिश से हवाईअड्डे पर मंगलवार को संचालन बाधित रहा था।