अप्रैल में 38.19 बिलियन डॉलर के रिकॉर्ड निर्यात के साथ आरंभ हुआ नया वित्तीय वर्ष

By रविकांत पारीक
May 04, 2022, Updated on : Wed May 04 2022 04:11:49 GMT+0000
अप्रैल में 38.19 बिलियन डॉलर के रिकॉर्ड निर्यात के साथ आरंभ हुआ नया वित्तीय वर्ष
अप्रैल में निर्यात वित्त वर्ष 2021-22 के ऐतिहासिक प्रदर्शन को जारी रखते हुए उछल कर 24.22 प्रतिशत तक जा पहुंचा, जिसके परिणामस्वरूप अप्रैल में अब तक का सबसे अधिक निर्यात हुआ। गैर पेट्रोलियम निर्यात में अप्रैल में 12.3 प्रतिशत की वृद्धि हुई, गैर पेट्रोलियम आयात केवल 9.8 प्रतिशत बढ़ा।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

भारत ने अप्रैल 2022 में 38.19 बिलियन डॉलर के बराबर के वस्तु निर्यात का मासिक मूल्य अर्जित किया है जो अप्रैल 2021 में अर्जित 30.75 बिलियन डॉलर की तुलना में 24.22 प्रतिशत अधिक है। अप्रैल 2022 में गैर पेट्रोलियम निर्यात का मूल्य 30.46 बिलियन डॉलर था जो अप्रैल 2021 में अर्जित 27.12 बिलियन डॉलर के गैर पेट्रोलियम निर्यात के मूल्य की तुलना में 12.32 प्रतिशत की सकारात्मक वृद्धि दर्ज कराती है।


अप्रैल 2022 में गैर पेट्रोलियम तथा गैर रत्न एवं आभूषण निर्यात का मूल्य 27.16 बिलियन डॉलर था जो अप्रैल 2021 में अर्जित 23.74 बिलियन डॉलर के गैर पेट्रोलियम तथा गैर रत्न एवं आभूषण के मूल्य के निर्यात की तुलना में 14.38 प्रतिशत की सकारात्मक वृद्धि दर्ज कराती है।


अप्रैल 2022 के दौरान पेट्रोलियम उत्पादों (113.21 प्रतिशत), इलेक्ट्रिोनिक वस्तुओं (64.04 प्रतिशत) तथा रसायनों (26.71 प्रतिशत) ने निर्यात में उच्च बढ़ोत्तरी का रास्ता प्रशस्त किया।


अप्रैल 2022 के दौरान भारत का वस्तु आयात 58.26 बिलियन डॉलर का था जो अप्रैल 2021 के 46.04 बिलियन डॉलर की तुलना में 26.55 प्रतिशत अधिक है। अप्रैल 2022 में गैर पेट्रोलियम आयात का मूल्य 38.75 बिलियन डॉलर था जो अप्रैल 2021 के 35.27 बिलियन डॉलर के गैर पेट्रोलियम निर्यात के मूल्य की तुलना में 9.87 प्रतिशत की सकारात्मक वृद्धि दर्ज कराती है।


अप्रैल 2022 में गैर तेल तथा गैर जीजे (स्वर्ण, रजत तथा बहुमूल्य धातुएं) के आयात का मूल्य 34.43 बिलियन डॉलर था जो अप्रैल 2021 में अर्जित 26.55 बिलियन डॉलर के गैर तेल तथा गैर जीजे (स्वर्ण, रजत तथा बहुमूल्य धातुएं) के आयात की तुलना में 29.68 प्रतिशत की सकारात्मक वृद्धि दर्ज कराती है।


अप्रैल 2022 के दौरान व्यापार घाटा 20.07 बिलियन डॉलर था।