PPF पर चाहते हैं ब्याज का फुल फायदा, तो समझ लें 5 तारीख का फंडा

PPF में एक वित्त वर्ष के दौरान 500 रुपये के न्‍यूनतम निवेश से लेकर 1.5 लाख रुपये तक का अधिकतम निवेश किया जा सकता है.

PPF पर चाहते हैं ब्याज का फुल फायदा, तो समझ लें 5 तारीख का फंडा

Friday March 24, 2023,

3 min Read

पब्लिक प्रोविडेंट फंड (PPF or Public Provident Fund), टैक्‍स सेविंग, फ्यूचर सेविंग्‍स और रिटर्न के मामले में एक अच्‍छा लॉन्ग टर्म विकल्‍प बनकर उभरा है. जमा किए गए अमाउंट, आने वाले ब्‍याज और मैच्‍योरिटी पीरियड पूरा होने के बाद मिलने वाली रकम टैक्‍स फ्री होने की वजह से यह स्कीम लोगों को लुभा रही है. जनवरी-मार्च अवधि के लिए PPF पर ब्‍याज दर 7.1 प्रतिशत है. अगर आप इस ब्याज का फुल फायदा उठाना चाहते हैं तो 5 तारीख का ध्यान रखना जरूरी है.

आखिर यह 5 तारीख का फंडा क्या है? इसे जानने के लिए पहले यह जान लेना जरूरी है कि PPF में निवेश किस तरीके से होता है. दरअसल PPF में एक वित्त वर्ष के दौरान 500 रुपये के न्‍यूनतम निवेश से लेकर 1.5 लाख रुपये तक का अधिकतम निवेश किया जा सकता है. जमाकर्ता चाहे तो निवेश वित्त वर्ष में एकबार एकमुश्त तरीके से कर सकता है. वहीं चाहे तो वित्त वर्ष के दौरान कितने ही इंस्‍टॉलमेंट में जमा कर सकता है. इंस्टॉलमेंट में जमा करने पर ब्‍याज, सालाना ब्‍याज दर को मंथली ब्‍याज दर में बांटकर काउंट होता है. हालांकि ब्याज साल खत्‍म होने के बाद ही क्रेडिट होता है.

अब जानिए 5 तारीख का फंडा

पहले इंस्टॉलमेंट में जमा को लेकर बात करते हैं. PPF में मंथली बेसिस पर इंस्‍टॉलमेंट कर रहे हैं तो इसे महीने की 5 तारीख से पहले जमा कर दें. दरअसल 5 तारीख का नाता PPF पर ब्याज की कैलकुलेशन से है. PPF अकाउंट पर ब्याज दर की कैलकुलेशन महीने के 5वें और आखिरी दिन के बीच मौजूद मिनिमम बैलेंस पर की जाती है. इसलिए अगर PPF में जमा पर ब्याज का पूरा फायदा चाहते हैं तो इंस्टॉलमेंट महीने की 5 तारीख से पहले जमा कर दें.

उदाहरण से समझें

मान लीजिए अप्रैल माह में 500 रुपये से PPF अकाउंट खुलवाया और मंथली इंस्टॉलमेंट भी 500 रुपये है. अब अगर मई माह की 5 तारीख से पहले अगला इंस्टॉलमेंट जमा नहीं करते हैं तो मई आखिर पर PPF में टोटल अमाउंट 500 रुपये ही काउंट होगा और ब्याज भी केवल इसी पर मिलेगा. 5 तारीख के बाद जमा किए अमाउंट को मिलाकर टोटल अमांउट अगले महीने काउंट होगा. वहीं जून में भी 5 तारीख के बाद इंस्टॉलमेंट डालने पर उस माह के लिए टोटल अमांउट 1000 रुपये ही काउंट होगा और इसी पर ब्याज मिलेगा. वहीं अगर अप्रैल की 5 तारीख से पहले इंस्टॉलमेंट जमा करते हैं तो मई माह में PPF में टोटल अमाउंट 1000 रुपये काउंट होगा और ब्याज भी इसी के आधार पर मिलेगा.

अगर साल में एक बार डाल रहे हैं पैसा

अगर आप PPF में वित्त वर्ष में केवल एक बार एकमुश्त अमांउट जमा करते हैं तो कोशिश करें कि इसे वित्त वर्ष की शुरुआत में अप्रैल माह में ही जमा कर दें और वह भी 5 तारीख से पहले. भारत में वित्त वर्ष अप्रैल से मार्च काउंट होता है और बैंकों व डाकघर की सेविंग्स स्कीम के ब्याज के लिए भी साल अप्रैल से मार्च ही काउंट होता है. इसलिए पूरे साल ब्याज का पूरा फायदा लेने के लिए सालाना अमाउंट को PPF में 5 अप्रैल से पहले जमा करना फायदेमंद है.

यह भी पढ़ें
डाकघर में है खाता तो ध्यान दें! 1 अप्रैल से होने जा रहा एक बदलाव