Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

मांसपेशियों की सेहत के बारे में जागरूक कर रहे राहुल द्रविड़, अबॉट के #musclesmatter कैंपेन का हिस्सा बने

यह कैंपेन मसल एज टेस्ट और उससे जुड़ी जानकारियां देगा. इसे सभी डिजिटल मीडिया प्लैटफॉर्म चलाया जाएगा ताकी इस कैंपेन से अधिक से अधिक लोग जुड़ सकें.

मांसपेशियों की सेहत के बारे में जागरूक कर रहे राहुल द्रविड़, अबॉट के #musclesmatter कैंपेन का हिस्सा बने

Wednesday September 21, 2022 , 3 min Read

बढ़ती उम्र के साथ हमारा शरीर भी कई तरह के बदलावों से गुजरता है. मसल लॉस इन बदलावों में से एक है और इसका हमारे शरीर के काम करने की क्षमता यानी एक्टिवनेस पर सीधा असर पड़ता है. एक रिपोर्ट के मुताबिक 40 साल की उम्र का एक वयस्क एक दशक में अपने शरीर की पूरी मांसपेशियों का 8फीसदी खो देता है. 70 साल की उम्र के बाद तो ये दर दोगुनी हो जाती है.

हेल्थकेयर कंपनी अबॉट(Abbott India Ltd) ने इस परेशानी को देखते हुए लोगों को न्यूट्रिशन के लेवल पर सपोर्ट देने के लिए नए एनश्योर विद HMB के लॉन्च का ऐलान किया है. इसे एक नए फॉर्म्यूलेशन के साथ बनाया गया है. नए एनश्योर को 32 अहम न्यूट्रिएंट्स जैसे कि हाई क्वॉलिटी प्रोटीन, कैल्शियम और विटामिन डी से मिलाकर बनाया गया है.

यह मांसपेशियों और हड्डियों को मजबूत करने में कारगर होते हैं. अबॉट ने इसमें एक खास नए इंग्रिडिएंट को शामिल किया है वो है HMB यानी बीटा-हाइड्रॉक्सी-बीटा-मिथाइल-ब्यूटीरेट. यह इंग्रिडिएंट मसल लॉस होने से रोकता है और शरीर में एनर्जी और ताकत वापस लाता है.  

कंपनी ने इस बारे में लोगों को जागरूक करने और उन्हें अपने मसल यानी मांसपेशियों पर गंभीरता से काम करने के लिए पूर्व इंडियन क्रिकेटर राहुल द्रविड़ के साथ पार्टनरशिप की है. अबॉट ने राहुल द्रविड़ के साथ मिलकर #MusclesMatter कैंपेन शुरू किया है.

इस कैंपेन के तहत कंपनी सभी डिजिटल मीडिया प्लैटफॉर्म्स पर मसल एज टेस्ट और उससे जुड़ी सभी जानकारियां जारी करेगी.

राहुल ने इस मौके पर कहा, 'स्वस्थ और दुरुस्त रहना हमेशा से मेरी जिंदगी का एक अहम हिस्सा रहा है. मैंने हमेशा से फिटनेस फर्स्ट वाले लाइफस्टाइल की वकालत की है. कई लोगों को ये नहीं पता होता कि बढ़ती उम्र के साथ हमारा शरीर कितने बदलावों से गुजरता है. उनके शरीर को बढ़ती उम्र के साथ किस न्यूट्रिशन या किस खास एक्सरसाइज की जरूरत है. इस कैंपेन से लोगों को उनके मसल और बोन हेल्थ दोनों के लिए आवश्यक न्यूट्रिएंट के बारे में बताया जाएगा.'

मसल जरूरी क्यों होती है?

हमारे शरीर के वजन का 40 फीसदी हिस्सा मसल होती हैं और पूरी बॉडी का 50 फीसदी प्रोटीन मसल में ही स्टोर होता है. शरीर को दुरूस्त रखने में उसे ठीक से काम करने के लिए मसल सबसे जरूरी टिश्यू होती हैं. हमारे शरीर में कितनी मसल है, उसकी सेहत कैसी है, इन चीजों से तय होता है कि हमारी बढ़ती उम्र की यात्रा कैसी होने वाली है.

हर दिन के कामों के लिए जरूरी टिश्यू होने के साथ शरीर के बाकी हिस्सों को दुरुस्त रखने, स्कीन की सेहत, इम्यूनिटी और मेटाबॉलिज्म के लिए भी हेल्दी मसल का होना बहुत जरूरी होता है. 

अबॉट न्यूट्रिशन की एमडी और जनरल मैनेजर स्वाती दलाल कहती हैं, मसल लॉस उन जरूरी टॉपिक में से एक है जिन पर बहुत कम बात होती है. गिने चुने युवाओं को मसल की अहमियत के बारे में मालूम होता है. इसी जागरूकता को बढ़ाने के लिए अबॉट साइंस बेस्ड न्यूट्रिशन पर लगातार रिसर्च कर रही है.


Edited by Upasana