एलजीबीटीक्यू को स्वीकार्यता प्रदान करने पर आधारित है “शुभ मंगल ज्यादा सावधान”: आयुष्मान खुराना

By भाषा पीटीआई
January 23, 2020, Updated on : Thu Jan 23 2020 14:01:31 GMT+0000
एलजीबीटीक्यू को स्वीकार्यता प्रदान करने पर आधारित है “शुभ मंगल ज्यादा सावधान”: आयुष्मान खुराना
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अभिनेता आयुष्मान खुराना का कहना है कि उनकी अगली फिल्म “शुभ मंगल ज्यादा सावधान” एलजीबीटीक्यू (समलैंगिक इत्यादि) समुदाय को दिया गया सम्मान है, और यह भारत के लिए एक महत्वपूर्ण फिल्म है।


k

मुंबई, अभिनेता आयुष्मान खुराना का कहना है कि उनकी अगली फिल्म “शुभ मंगल ज्यादा सावधान” एलजीबीटीक्यू (समलैंगिक इत्यादि) समुदाय को दिया गया सम्मान है, और यह भारत के लिए एक महत्वपूर्ण फिल्म है।


यह फिल्म खुराना की 2017 में आई फिल्म “शुभ मंगल सावधान” की अगली कड़ी है।


फिल्म में आयुष्मान और जितेंद्र कुमार समलैंगिक जोड़े की भूमिका में हैं, जो एक दूसरे के परिजनों को मनाने की कोशिश करते हैं।


आयुष्मान ने कहा कि हितेश केवल्य द्वारा निर्देशित फिल्म एलजीबीटीक्यू समुदाय को मुख्यधारा में लाने की कोशिश है।


अभिनेता ने एक बयान में पीटीआई-भाषा से कहा,

“शुभ मंगल ज्यादा सावधान के ट्रेलर के लिए भारत के लोगों का प्यार उत्साहित करने वाला है। यह भारत और सभी भारतीयों के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण फिल्म है। फिल्म देश के लोगों के बीच समावेश, विशिष्टता और निजता का उत्सव मनाने, एलजीबीटीक्यू समुदाय को स्वीकार्यता प्रदान करने पर आधारित है।”


आयुष्मान ने कहा कि लोगों को मनोरंजन देने के अलावा फिल्म एक सकारात्मक सामाजिक संदेश भी देगी।