Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ys-analytics
ADVERTISEMENT
Advertise with us

SIIC IIT कानपुर ने NIRMAN एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के लिए 15 स्टार्टअप के समूह की घोषणा की

यह प्रोग्राम SIIC द्वारा 21 जुलाई, 2022 को स्वास्थ्य सेवा और कृषि क्षेत्र में स्टार्टअप के लिए शुरू किया गया था. प्रोग्राम का उद्देश्य मैन्युफैक्चरिंग स्टार्टअप्स को संबंधित डोमेन में प्रोटोटाइप से बाजार तक पहुँचने की यात्रा में आने वाली आम चुनौतियों को दूर करने में मदद करना है.

SIIC IIT कानपुर ने NIRMAN एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के लिए 15 स्टार्टअप के समूह की घोषणा की

Friday October 28, 2022 , 3 min Read

आईआईटी कानपुर (IIT Kanpur) में टेक्नोलॉजी बिजनेस इनक्यूबेटर स्टार्टअप इनक्यूबेशन एंड इनोवेशन सेंटर (SIIC) ने साइंस एण्ड टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट द्वारा समर्थित निर्माण एक्सेलेरेटर प्रोग्राम (NIRMAN Accelerator Program) के तहत 15 स्टार्टअप के समूह की घोषणा की है.


यह प्रोग्राम SIIC द्वारा 21 जुलाई, 2022 को स्वास्थ्य सेवा और कृषि क्षेत्र में स्टार्टअप के लिए शुरू किया गया था. प्रोग्राम का उद्देश्य मैन्युफैक्चरिंग स्टार्टअप्स को संबंधित डोमेन में प्रोटोटाइप से बाजार तक पहुँचने की यात्रा में आने वाली आम चुनौतियों को दूर करने में मदद करना है.


एक सफल अभियान के बाद प्रोग्राम को सूचीबद्ध डोमेन में भारत भर के स्टार्टअप से 94 आवेदन प्राप्त हुए. इन आवेदनों में से SIIC में एक आंतरिक मूल्यांकन समिति ने बाहरी मूल्यांकन दौर के लिए कुल 35 स्टार्टअप आवेदनों का चयन किया. हेल्थटेक और एग्रीटेक डोमेन में कुल 15 स्टार्टअप ने कार्यक्रम के तहत कोहोर्ट की अंतिम सूची में जगह बनाई.


प्रोग्राम के तहत समूह से पंद्रह स्टार्टअप इस प्रकार हैं:


  • LCB Fertilizers Private Limited
  • Saptkrishi Scientific Private Limited
  • BomLife Private Limited
  • Polycycling Solutions Private Limited
  • Surobhi AgroIndustries Private Limited
  • Primary Healthtech Private Limited
  • Lenek Technologies Private Limited
  • Aana Crop Solutions Private Limited
  • Wander Continental Flyer Private Limited
  • Climec lab Private Limited
  • ProPlant Foods Private Limited
  • Meukron Technologies Private Limited
  • Xfinito Biodesigns Private Limited
  • Life and Limb Private Limited
  • NadiPulse Prognostics Private Limited


कॉहोर्ट की घोषणा पर टिप्पणी करते हुए, आईआईटी कानपुर के निदेशक, प्रोफेसर अभय करंदीकर ने कहा, “आईआईटी कानपुर में, एक मजबूत स्टार्टअप और आंत्रप्रेन्योरियल इकोसिस्टम को बनाए रखना हमेशा प्राथमिकता रही है. SIIC संस्थान के उस विजन को साकार करने में अग्रणी रहा है. डीएसटी द्वारा समर्थित यह निर्माण एक्सेलेरेटर प्रोग्राम, दो महत्वपूर्ण क्षेत्रों - स्वास्थ्य देखभाल और कृषि को पूरा करता है. मुझे विश्वास है कि यह कार्यक्रम इन महत्वपूर्ण क्षेत्रों में अत्याधुनिक, टेक्नोलॉजी-संचालित इनोवेशन को विकसित करने वाले स्टार्टअप्स के प्रोटोटाइप-टू-मार्केट की यात्रा को तेज करेगा. मैं चयनित समूह को बधाई देता हूं और साथ-ही-साथ हम वास्तव में विज्ञान और टेक्नोलॉजी डिपार्टमेंट के आभारी हैं कि उन्होंने महत्वपूर्ण प्रासंगिकता के इस महत्वपूर्ण कार्यक्रम को निष्पादित करने के लिए हमें अपना समर्थन दिया."


प्रो. अंकुश शर्मा, प्रोफेसर-इन-चार्ज, इनक्यूबेशन एंड इनोवेशन, आई आई टी (IIT) कानपुर ने निर्माण एक्सेलेरेटर प्रोग्राम के तहत ऑन-बोर्डिंग स्टार्टअप्स के चयन पर टिप्पणी करते हुए कहा कि, “निर्माण एक्सेलेरेटर प्रोग्राम में मैन्युफैक्चरिंग क्षेत्र में काम कर रहे स्टार्टअप्स की विकास यात्रा को बढ़ाने की जबरदस्त क्षमता है - जो समय की आवश्यकता है. इन 15 स्टार्टअप्स को गहन जांच के बाद शॉर्टलिस्ट किया गया है. हम इस कार्यक्रम के दौरान उनके दूरदर्शी टेक्नोलॉजी समाधानों के साथ इस समूह की मेजबानी करने के लिए तत्पर हैं. उन्होंने कहा कि, इस प्रतिष्ठित कार्यक्रम के साथ हमें अपनी विशेषज्ञता और रचनात्मक सोच का विस्तार करने का अवसर देने के लिए मैं डीएसटी का आभारी हूं.”


कोहोर्ट के तहत चुने गए 15 स्टार्टअप को छह महीने के कठोर कार्यक्रम में शामिल किया जाएगा, जो उत्पाद विकास के सिद्धांतों, इंजीनियरिंग ऐक्सेलरैशन, अनुपालन के माध्यम से नेविगेट करने और विकास के अगले चरण की ओर ले जाने के रास्तों को खोल देगा. इन स्टार्टअप्स को कार्यक्रम के तहत प्रयोगशाला से बाजार तक अपनी उत्पाद यात्रा में तेजी लाने के लिए आवश्यक समर्थन प्राप्त होगा. समूह से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन करने वाले स्टार्टअप को कार्यक्रम के अंत में INR 10 लाख तक का नकद पुरस्कार और INR 50 लाख का वित्त पोषण समर्थन भी मिलेगा.


SIIC द्वारा पहले से निष्पादित एक्सेलेरेटर प्रोग्राम ने उल्लेखनीय संख्या में स्टार्टअप को स्नातक किया है, जिन्होंने महत्वपूर्ण लाभ उठाया है, जिसमें Phool.co, E-Spin Nanotech, NOCCARC Robotics, and Acquafront Infrastructure Private Limited. शामिल हैं.