सेंसेक्स 235 अंक चढ़कर फिर 61000 के पार, Britannia 9% उछला

भारी उतार-चढ़ाव के बीच तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 234.79 अंकों की बढ़त के साथ 61,185.15 पर बंद हुआ.

सेंसेक्स 235 अंक चढ़कर फिर 61000 के पार, Britannia 9% उछला

Monday November 07, 2022,

3 min Read

घरेलू शेयर बाजारों (Stock Markets) में सोमवार को तेजी रही और BSE Sensex 230 अंक से अधिक चढ़कर फिर 61,000 के स्तर को पार कर गया. वैश्विक बाजारों में मजबूत रुख के बीच वाहन, ऊर्जा और धातु शेयरों में अच्छी लिवाली से बाजार में तेजी रही. कारोबारियों के अनुसार, अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपये में मजबूती और विदेशी पूंजी प्रवाह जारी रहने से भी घरेलू शेयर बाजारों को समर्थन मिला.

भारी उतार-चढ़ाव के बीच तीस शेयरों पर आधारित सेंसेक्स 234.79 अंकों की बढ़त के साथ 61,185.15 पर बंद हुआ. कारोबार के दौरान सेंसेक्स ने 61,401.54 का उच्च स्तर और 60,714.34 का निम्न स्तर छुआ. सेंसेक्स के शेयरों में भारतीय स्टेट बैंक (SBI) सबसे अधिक 3.44 प्रतिशत चढ़ा. इसके अलावा टाटा स्टील, अल्ट्राटेक सीमेंट, ICICI बैंक, महिंद्रा एंड महिंद्रा, मारुति और पावरग्रिड भी प्रमुख रूप से लाभ में रहे. इसके उलट, नुकसान में रहने वाले शेयरों में एशियन पेंट्स, बजाज फिनसर्व, सन फार्मा और टाइटन शामिल हैं. इनमें 2.37 प्रतिशत तक की गिरावट रही. सेंसेक्स पर लिस्टेड 30 कंपनियों में से 12 के शेयर गिरावट के साथ बंद हुए हैं.

Nifty50 का हाल

एनएसई का निफ्टी 85.65 अंकों की तेजी के साथ 18,202.80 पर बंद हुआ है. एनएसई निफ्टी पर निफ्टी फार्मा, हेल्थकेयर इंडेक्स, कंज्यूमर ड्यूरेबल्स को छोड़कर अन्य सभी सेक्टोरल इंडेक्स हरे निशान में बंद हुए हैं. सबसे ज्यादा 4.46 प्रतिशत निफ्टी पीएसयू बैंक चढ़ा है. निफ्टी पर ब्रिटानिया, एसबीआई, अडानी एंटरप्राइजेस, बीपीसीएल, आयशर मोटर्स टॉप गेनर्स रहे. दूसरी ओर डिविस लैब, एशियन पेंट्स, सिप्ला, सनफार्मा, अडानी पोर्ट्स टॉप लूजर्स रहे.

ब्रिटानिया 9% चढ़ा, डिविस लैब 9% गिरा

भारत की ​Britannia Industries Ltd का शेयर सोमवार को लगभग 9 प्रतिशत चढ़कर बंद हुआ है. इसकी वजह जुलाई-सितंबर ​2022 तिमाही में कंपनी के कंसोलिडेटेड नेट प्रॉफिट में आया 28.4% का उछाल है. सितंबर तिमाही में कंपनी का मुनाफा 4.93 अरब रुपये रहा है. वहीं परिचालनों से रेवेन्यु 21.4 प्रतिशत बढ़कर 43.8 अरब रुपये रहा.

दूसरी ओर डिविस लैब का शेयर लगभग 9 प्रतिशत टूटा है. इसकी भी वजह कंपनी के दूसरी तिमाही नतीजे हैं. दरअसल सितंबर तिमाही में कंपनी के कंसोलिडेटेड प्रॉफिट में टैक्स निकालकर सालाना आधार पर 18.5 प्रतिशत की गिरावट आई है और यह 494 करोड़ रुपये रहा है. वहीं रेवेन्यु 3.6 प्रतिशत गिरकर 1,935 करोड़ रुपये रहा है.

वैश्विक बाजारों पर कैसा रहा ट्रेंड

एशिया के अन्य बाजारों में चीन का शंघाई कंपोजिट, जापान का निक्केई, हांगकांग का हैंगसेंग और दक्षिण कोरिया का कॉस्पी लाभ में रहे. यूरोप के प्रमुख बाजारों में भी शुरुआती कारोबार में तेजी का रुख रहा. अमेरिकी शेयर बाजार शुक्रवार को बढ़त में रहा था. इस बीच, अंतरराष्ट्रीय तेल मानक ब्रेंट क्रूड 0.19 प्रतिशत टूटकर 98.38 डॉलर प्रति बैरल पर रहा. शेयर बाजार के आंकड़ों के अनुसार, विदेशी संस्थागत निवेशक शुक्रवार को शुद्ध लिवाल रहे। उन्होंने 1,436.25 करोड़ रुपये मूल्य के शेयर खरीदे. सोमवार को अमेरिकी डॉलर के मुकाबले रुपया 45 पैसे चढ़कर 81.90 (अस्थायी) पर बंद हुआ.