भारत में iPhone उत्पादन: Wistron के प्लांट को खरीदने के करीब है Tata Group

By yourstory हिन्दी
January 10, 2023, Updated on : Tue Jan 10 2023 07:59:44 GMT+0000
भारत में iPhone उत्पादन: Wistron के प्लांट को खरीदने के करीब है Tata Group
दुनिया की सबसे अधिक प्रॉफिटेबल स्मार्टफोन निर्माता कंपनी Apple, चीन पर अपनी निर्भरता को कम करने की कोशिश कर रही है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

टाटा समूह (Tata Group) दक्षिण भारत में एक बड़े आईफोन संयंत्र (iPhone Plant) को खरीदने के करीब है. अगर यह सौदा हो जाता है तो देश को अपना पहला घरेलू आईफोन निर्माता मिलेगा. ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट में दो लोगों के हवाले से कहा गया है कि टाटा समूह इस संयंत्र की मालिक, ताइवान की विस्ट्रॉन कॉर्प (Wistron Corp) के साथ महीनों से बातचीत कर रहा है और मार्च के अंत तक खरीद पूरी करना चाहता है.


खबर है कि दोनों फर्मों ने विभिन्न संभावित गठजोड़ों पर चर्चा की है, लेकिन वार्ता अब टाटा पर केंद्रित है, जो कि जॉइंट वेंचर में बहुमत हिस्सेदारी लेना चाहता है. विस्ट्रॉन के समर्थन से टाटा मुख्य विनिर्माण संचालन की देखरेख करने के लिए तैयार है. Apple Inc. के iPhone मुख्य रूप से Wistron और Foxconn Technology Group जैसे ताइवानी मैन्युफैक्चरिंग दिग्गजों द्वारा असेंबल किए जाते हैं. टाटा का सौदा इलेक्ट्रॉनिक्स में चीन के प्रभुत्व को चुनौती देने के लिए स्थानीय दावेदार बनाने के भारत के प्रयासों को आगे बढ़ाएगा.

31 मार्च तक डील पूरी करना चाहता है टाटा

रिपोर्ट के मुताबिक, मामले की जानकारी रखने वाले लोगों में से एक ने कहा है कि टाटा समूह का लक्ष्य 31 मार्च 2023 तक एक ड्यू डिलीजेंस प्रॉसेस को पूरा करना है ताकि इसकी टाटा इलेक्ट्रॉनिक्स शाखा, सरकारी इंसेंटिव प्रदान करने वाले एक कार्यक्रम में औपचारिक रूप से विस्ट्रॉन की पोजिशन ले सके. यह भी कहा गया है कि अगर विस्ट्रॉन मौजूदा वित्तीय वर्ष के लिए अपेक्षित इंसेंटिव प्राप्त करने के लिए जरूरी चीजों को पूरा करती है, तो अधिग्रहण भारत में विस्ट्रॉन के एकमात्र आईफोन विनिर्माण संचालन को 60 करोड़ डॉलर से अधिक का मूल्य दे सकता है.


विस्ट्रॉन का 22 लाख वर्ग फुट का कारखाना बेंगलुरु के पूर्व में 30 मील (50 किलोमीटर) की दूरी पर स्थित है. यदि अधिग्रहण हो जाता है, तो टाटा ग्रुप इसकी सभी 8 आईफोन लाइन्स के साथ-साथ संयंत्र के 10,000 कर्मचारियों का भी अधिग्रहण कर लेगा. Wistron भारत में iPhones के लिए सर्विस पार्टनर के रूप में काम करना जारी रखेगी.

चीन में मैन्युफैक्चरिंग कम करना चाह रही है Apple

Wistron के अलावा Foxconn और Pegatron Corp भी भारत में iPhone बनाते हैं. हालांकि जब Wistron भारत में iPhone-निर्माण से बाहर निकलने की योजना बना रही है, तो इसके ताइवानी साथी अपने iPhone उत्पादन लाइनों का विस्तार कर रहे हैं. बता दें कि दुनिया की सबसे अधिक प्रॉफिटेबल स्मार्टफोन निर्माता कंपनी एप्पल, चीन पर अपनी निर्भरता को कम करने की कोशिश कर रही है. चीन में महामारी के चलते आपूर्ति श्रृंखला में व्यवधान और कठोर प्रतिबंधों ने एप्पल डिवाइसेज के उत्पादन को काफी ज्यादा प्रभाावित किया है.

Apple के साथ कारोबार को और कैसे आगे बढ़ा रहा टाटा

टाटा ने एप्पल के साथ अपने कारोबार को बढ़ाने के लिए अन्य कदम उठाए हैं. यह बेंगलुरु के पास होसुर में अपने कारखाने में नियुक्तियों में तेजी लाया है, जहां यह iPhone कंपोनेंट्स का उत्पादन करता है. होसुर का कारखाना कई सौ एकड़ भूमि पर खड़ा है, जहां आने वाले वर्षों में टाटा ग्रुप, आईफोन मैन्युफैक्चरिंग लाइन्स जोड़ सकता है. टाटा ने यह भी घोषणा की है कि वह देश में 100 एप्पल स्टोर लॉन्च करेगी, जिनमें से पहला जनवरी-मार्च तिमाही में मुंबई में खुलने वाला है.


Edited by Ritika Singh