करेंसी को क्रिप्टो से रुपये में बदलना अब बेहद आसान! OnMeta कर रहा ये काम

Onmeta फिएट मनी और क्रिप्टोकरेंसी के बीच एक्सचेंज करने के लिए ऑन-रैंप सर्विस देता करता है. इस तरह ये इन दोनों दुनियाओं के बीच की खाई को पाटता है.

करेंसी को क्रिप्टो से रुपये में बदलना अब बेहद आसान! OnMeta कर रहा ये काम

Sunday February 19, 2023,

4 min Read

क्रिप्टो-क्रिप्टो-क्रिप्टो. ये शब्द आपने कई बार सुना होगा. बिज़नस की ख़बरों में इंटरेस्ट रखते हैं तो शायद आप ये सुनसुनकर पाक गए हों. लेकिन क्या आपने सोचा है कि जब क्रिप्टो में पेमेंट होने लगेंगे तो ये ट्रांसैक्शन कैसे होंगे? रेजरपे और पेटीएम जैसे पेमेंट गेटवेज़ अभी हमारे लिए उपलब्ध हैं. लेकिन अगर क्रिप्टो से रुपया या रुपये से क्रिप्टो में पेमेंट करना हो, तो कैसे होगा?

ये काम करने आ रहा है स्टार्टअप Onmeta

ऑनमेटा फिएट मनी और क्रिप्टोकरेंसी के बीच एक्सचेंज करने के लिए ऑन-रैंप सर्विस देता करता है. इस तरह ये इन दोनों दुनियाओं के बीच की खाई को पाटता है. विदेश में ऐसी कई कंपनियां हैं जो ऐसी सर्विस प्रदान करती हैं. मगर ऑनमेटा का ध्यान विकासशील क्षेत्रों, विशेष रूप से भारतीय करेंसी पर है. इनकी सर्विसेज जल्द ही फिलीपीन पेसो (पीएचपी) और इंडोनेशियाई रुपिया (आईडीआर) का समर्थन करेंगी. ऑनमेटा की ऑफ-रैंप सेवाओं की पेशकश करने का भी प्लान है.

Razorpay जैसे मौजूदा पेमेंट गेटवेज़ के बारे में आपने सुना ही होगा. ऑनमेटा भी क्रिप्टो के क्षेत्र में इसी तरह काम करता है. ये Web3 कंपनियों के पेमेंट गेटवे को सर्विस मुहैया करवाता है. कोई भी बिजनेस एक विजेट या एपीआई की मदद से ऑनमेटा को डीएपी यानी डीसेंट्रलाइज्ड ऐप में जोड़ सकते हैं. ऑनमेटा के 91% ट्रांजैक्शन एक मिनट के भीतर हो जाते हैं. कुछ Web3 बिज़नस जैसे TickEth, Unifarm, Polysports, Voax, Cerclex, वगैरह Onmeta का इस्तेमाल करते हैं. शुरू होने के बाद से, इसने भारतीय बाजार पर ध्यान केंद्रित करते हुए 20 से अधिक वेब3 ऐप्स के लिए 10 लाख से ज्यादा ट्रांजैक्शन को मुमकिन किया है. इनका लक्ष्य अधिक देशों और अलग अलग ब्लॉकचेन में अपनी सेवाओं को एक्सपैंड करना है.

फाउंडर्स भरत और कृष्ण आईआईटी खड़गपुर से पढ़े हुए हैं. भरत ने पहले कई स्टार्टअप्स के साथ काम किया, जिनमें मोबिलिटी इंडस्ट्री की जानी-मानी फर्म्स शामिल हैं. उन्होंने रैपिडो के बेंगलुरु-हेड ऑफिस में डेवलपमेंट हेड के तौर पर और Housing.com में रीजनल हेड के रूप में काम किया है. भरत बेंगलुरु बेस्ड एक डिजिटल वेंडिंग मशीन कंपनी Pikbox के को-फाउंडर रहे. उन्हें पेमेंट गेटवेज़ के बारे में भी काफी जानकारी है. सीटीओ कृष्ण तेजा के पास स्टार्टअप्स के साथ भी काम करने का भी अनुभव है. उन्होंने पहले ओला में प्रिंसिपल इंजिनियर और रैपिडो में डायरेक्टर ऑफ़ इंजीनियरिंग के तौर पर काम किया है.

फाउंडर्स भरत टी और कृष्णा तेजा नेमानी ने पहले ओला और रैपिडो जैसी कंपनियों के लिए पेमेंट्स संभाला था. अपनी पेमेंट एक्सपरटीज़ को वेब3 पर लाने के लक्ष्य से उन्होंने 2022 में ऑनमेटा की स्थापना की. शुरू होने के बाद से, स्टार्टअप ने स्काईकैचर फंड और पॉलीगॉन स्टूडियो जैसे मार्की निवेशकों के नेतृत्व में सीड राउंड में 1.5 मिलियन डॉलर जुटाए हैं. यह बिजनेस-टू-बिजनेस मॉडल पर काम करता है और पॉलीगॉन, एथेरियम और बीएनबी चेन जैसे कई ब्लॉकचेन में समर्थन प्रदान करता है.

यह स्टार्टअप YourStory की साल 2022 की Tech30 लिस्ट का हिस्सा है.

YourStory हर साल अपने सिग्नेचर इवेंट TechSparks में आपके लिए कई हज़ारों में से चुनकर लाता है Tech30 लिस्ट में ऐसे 30 स्टार्टअप जो देश को बदल देने के साथ साथ अरबों की कंपनियां बनने की ताकत रखते हैं.

Tech30 ने बीते 11 साल में 330 से ज्यादा स्टार्टअप्स को प्रोफाइल कर उनके बारे में दुनिया को बताया है, 35,000 से ज्यादा नौकरियां देने में मदद की है, 300 करोड़ डॉलर से भी ज्यादा की फंडिंग इसकी मदद से आई है और 675 से भी ज्यादा युवा फाउंडर्स को हमने कुछ कर दिखाने की ताकत दी है. Tech30 लिस्ट का हिस्सा रहे 5 ऐसे स्टार्टअप हैं जो यूनिकॉर्न बन चुके हैं. यानी उनका वैल्यूएशन 100 करोड़ डॉलर से ज्यादा है और ये सिलसिला अभी रुका नहीं है.

.


Edited by Prateeksha Pandey