Brands
YSTV
Discover
Events
Newsletter
More

Follow Us

twitterfacebookinstagramyoutube
Yourstory

Brands

Resources

Stories

General

In-Depth

Announcement

Reports

News

Funding

Startup Sectors

Women in tech

Sportstech

Agritech

E-Commerce

Education

Lifestyle

Entertainment

Art & Culture

Travel & Leisure

Curtain Raiser

Wine and Food

Videos

ys-analytics
ADVERTISEMENT
Advertise with us

सरकार का डिजिटल फ्रेमवर्क जनता की भलाई के लिए होगा: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

TechSparks 2022 के मंच पर केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने YourStory की फाउंडर और सीईओ श्रद्धा शर्मा के साथ भारत के विकसित होते टेक इकोसिस्टम और इसे मजबूत करने के लिए सरकार की विभिन्न पहलों पर बात की.

Palak Agarwal

Thimmaya Poojary

रविकांत पारीक

सरकार का डिजिटल फ्रेमवर्क जनता की भलाई के लिए होगा: वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण

Saturday November 12, 2022 , 5 min Read

केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Union Finance Minister Nirmala Sitharaman) विकसित डिजिटल वर्ल्ड में भारत की स्थिति को लेकर आशावादी हैं. उन्होंने YourStory के स्टार्टअप-टेक इवेंट TechSparks 2022 में हाल के वर्षों में देश के टेक ऑन्त्रप्रेन्योर्स द्वारा की गई प्रगति पर प्रकाश डाला.

YourStory की फाउंडर और सीईओ श्रद्धा शर्मा के साथ बातचीत में, सीतारमण ने इंडिया स्टैक जैसी सार्वजनिक-निजी पहलों को प्रोत्साहित करके एक टेक्नोलॉजी पावरहाउस के रूप में भारत के विकास में सरकार की महत्वपूर्ण भूमिका पर प्रकाश डाला.

उन्होंने YourStory की स्थापना (2008 में) के बाद से भारत के स्टार्टअप इकोसिस्टम को मजबूत करने में YourStory के योगदान की भी सराहना की.

सीतारमण ने कहा, "2014 के बाद से, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) स्टार्टअप्स के साथ लगातार जुड़ रहे हैं, और YourStory ने इसमें बेहद अहम भूमिका निभाई है."

श्रद्धा ने 'स्वधर्म' और 'सधर्म' (अपने धर्म और सच्चे विश्वास का अभ्यास) पर बोलते हुए वित्त मंत्री से पूछा कि वह कल्याण और बजटीय अनुशासन के बीच कैसे निर्णय लेती हैं. सीतारमण ने जवाब दिया कि संतुलन बनाना जरूरी है, भारत के टेक इकोसिस्टम के बारे में बोलते हुए उन्होंने इस तथ्य पर प्रकाश डालना कि ऐसे कई सेक्टर हैं जहां भारत को इनोवेशन करने की जरुरत है.

पढ़िए साक्षात्कार के संपादित अंश:

श्रद्धा शर्मा [SS]: सरकार ने एक्सेस को डेमोक्रेटाइज करने और टेक्नोलॉजी को डिसेंट्रलाइज करने के लिए बहुत कुछ किया है. इसे आगे बढ़ाने और समावेशिता (inclusivity) सुनिश्चित करने के लिए आपके एजेंडे में क्या हैं?

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण [FM]: सरकार यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि डिजिटल फ्रेमवर्क और टेक्नोलॉजी-बेस्ड सॉल्यूशन [जनता के लिए] अच्छा होगा और सभी के उपयोग के लिए उपलब्ध होगा.

विनियामक (Regulators) यह सुनिश्चित करने के लिए लगातार काम कर रहे हैं कि विकल्प (सैंडबॉक्स परीक्षणों के माध्यम से) की पेशकश की जाए ताकि हर इनोवेटर के समाधान का परीक्षण किया जा सके, इसलिए अब किसी को आश्चर्य नहीं होना चाहिए कि मैं इसे कैसे लागू करूं - और इस तरह से कि नियामकों को कोई समस्या न हो.

fireside chat at TechSparks 2022, Finance Minister Nirmala Sitharaman speaks with Shradha Sharma, Founder and CEO of YourStory

मैं लगातार आगे रहने वाले नियामकों पर बहुत जोर दे रही हूं. ऐसा नहीं होना चाहिए कि समाधान स्टार्टअप्स से आ रहे हैं और नियामक उन्हें समझने में समय व्यतीत कर रहे हैं. यह एक साथ - और तेजी से होना चाहिए.

टेक्नोलॉजी के साथ जुड़ने की प्रतिबद्धता है, और हम समर्पण और नीतिगत स्थिरता प्रदान करते हैं. मुझे लगता है कि इससे बहुत फर्क पड़ेगा.

SS: आप निर्णय कैसे लेतीं हैं, यह देखते हुए कि विवेकपूर्ण और मितव्ययी होने के साथ-साथ कई कारकों को ध्यान में रखना चाहिए? क्या कोई ख़ास नियम है?

FM: आपको संतुलन बनाए रखना होता है. हालाँकि, यदि आप मूलभूत आवश्यकताओं के बारे में बात कर रहे हैं जो हर भारतीय तक पहुँचनी है, विशेष रूप से वे जो बहुत लंबे समय से वंचित हैं, तो और इंतजार नहीं किया जा सकता है.

मैं प्रधानमंत्री की बहुत आभारी हूं जो बहुत स्पष्ट रूप से कहते हैं कि 'आप कब तक महिलाओं से जलाऊ लकड़ी से खाना पकाने की उम्मीद करते हैं'? यह केवल संसाधनों को संतुलित करने के बारे में भी नहीं है; यह सिद्धांतों को संतुलित करने के बारे में भी है. क्या आप चाहते हैं कि भारतीय फंडामेंटल और बेसिक्स के लिए प्रतीक्षा करें, और क्या आप चाहते हैं कि भारतीय करदाताओं को बदले में कुछ भी न मिले? शेष राशि करदाताओं के पैसे के लिए मूल्य है और इसका उत्पादक रूप से उपयोग करना ताकि हर चीज का गुणक प्रभाव हो.

SS: प्रधानमंत्री ने इस साल स्टार्टअप्स को राष्ट्र निर्माता की संज्ञा दी. आज आप स्टार्टअप्स को क्या बताना चाहेंगी और आप हमसे किस तरह के स्टार्टअप्स बनाना चाहेंगी?

FM: मुझे नहीं लगता कि मेरे पास कहने के लिए कुछ है क्योंकि आपने [स्टार्टअप] ने पिछले दो-तीन वर्षों में खुद को साबित किया है. अब, आपको यह स्पष्ट करना होगा कि अगले 20-25 वर्षों के लिए कौन सा रास्ता तय करना है, और आपको किन सेक्टर्स में काम करना है.

मैं चाहता हूं कि स्टार्टअप अच्छा परफॉर्म करें और नीतिगत फैसलों के मामले में सरकार की मदद करके इसका फायदा उठाएं. हालांकि, मुझे कहना होगा कि हर तीन विचारों के लिए जो आप मेरे पास लाते हैं, मुझे एक विचार दें कि स्टार्टअप इकोसिस्टम में और अधिक महिलाओं को कैसे लाया जाए.

मैं यह भी नहीं चाहती कि किसी को यह गलतफहमी हो कि महिलाओं को काम करने के लिए समान जगह नहीं मिलने की समस्या केवल भारत में होती है. मैं अमेरिकी ट्रेजरी सेक्रेटरी जेनेट येलेन (Janet Yellen) की जीवनी के कुछ हिस्सों को पढ़ रही थी, जिन्होंने शीर्ष संस्थानों में लीडरशिप भूमिका निभाई थी, और उसमें कई टिप्पणियों से पता चलता है कि हर जगह महिलाओं को वह स्थान नहीं मिलता है. तो, यह एक वैश्विक मुद्दा है लेकिन हम, भारतीय होने के नाते, इसमें एक उदाहरण पेश कर सकते हैं.

SS: अपने व्यस्त कार्यक्रम को देखते हुए आप खुद को कैसे ऊर्जावान करती हैं?

FM: मैं खुद को कुछ समय देती हूं. मैं संगीत सुनती हूं, किताबें पढ़ती हूं, या ऐसे लोगों से बात करती हूं जो मेरे लिए प्रेरक हो सकते हैं, जिनका मैं सम्मान करती हूं और उनके साथ मेरा ख़ास रिश्ता है. उड़ान एक ऐसी चीज है जिसका मैंने कभी आनंद नहीं लिया. एयरपोर्ट पर जाने की दिनचर्या के लिहाज से काफी समय लगता है. मुझे ट्रेन की यात्रा करना पसंद है. यह बेहद आसान है, और आप अपने पैरों को फैला सकते हैं. साथ ही, यह आपको भारत के बदलते स्वरूप को देखने देती है. लेकिन उड़ान, हालांकि नीरस, एक बड़ा फायदा देती है: मेरे पास म्यूजिक का अच्छा कलेक्शन है और यह मुझे उड़ान के दौरान ऊर्जावान बनाए रखता है.

TechSparks2022