पहली बार मिस यूनीवर्स ऑर्गेनाइजेशन की कमान एक ट्रांसजेंडर महिला के हाथों में

By yourstory हिन्दी
October 31, 2022, Updated on : Mon Oct 31 2022 08:49:57 GMT+0000
पहली बार मिस यूनीवर्स ऑर्गेनाइजेशन की कमान एक ट्रांसजेंडर महिला के हाथों में
थाईलैंड की ट्रांसजेंडर बिजनेसवुमन और रिएलिटी स्‍टार ऐनी जकापोंग जकराजुताटिप ने 2 करोड़ डॉलर में खरीदा ग्‍लोबल ब्‍यूटी पेजेंट ऑर्गेनाइजेशन.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

मिस यूनीवर्स ऑर्गेनाइजेशन का मालिकाना हक अब एक ट्रांसजेंडर महिला के पास है. इस ऑर्गेनाइजेशन के इतिहास में यह पहली बार है कि कोई ट्रांसजेंडर महिला इसे हेड करेगी. थाईलैंड की ट्रांसजेंडर बिजनेसवुमन और रिएलिटी स्‍टार ऐनी जकापोंग जकराजुताटिप (Anne Jakkaphong Jakrajutatip) ने 2 करोड़ डॉलर में ग्‍लोबल ब्‍यूटी पेजेंट ऑर्गेनाइजेशन को खरीद लिया है. ऐनी जकापोंग थाइलैंड की कंपनी जेकेएन ग्‍लोबल ग्रुप (JKN Global Group) की सीईओ हैं.  


आज दुनिया की सबसे सफल और अमीर बिजनेस वुमेन की सूची में शुमार ऐनी जकापोंग का जीवन आसान नहीं रहा है. अपनी जेंडर आइ‍डेंटिटी के कारण उन्‍हें शुरू से ही काफी चुनौतियों का सामना करना पड़ा.


कई साल पहले टाइम्‍स ऑफ इंडिया को दिए एक इंटरव्‍यू में उन्‍होंने कहा था कि मेरे जेंडर की वजह से घर में हमेशा युद्ध जैसा माहौल रहता था. घर में शांति बनी रहे, इसके लिए मुझे घरवालों से भी अपनी पहचान छिपाकर रखनी पड़ती थी. मैं भीतर से एक लड़की थी, लेकिन मुझे घरवालों और दुनिया को दिखाने के लिए लड़का बनकर रहना पड़ता था. वो दोहरी जिंदगी बहुत दमघोंटू थी.


ऐनी जकापोंग का जन्‍म एक बेहद रूढि़वादी चीनी परिवार में हुआ था, जो थाइलैंड जाकर बस गया था. ऐनी पहली संतान थी, इसलिए ऐनी से माता-पिता की उम्‍मीदें भी काफी ज्‍यादा थीं. पिता बैंकॉक में एक वीडियो रेंटल स्‍टोर चलाते थे. इसलिए बचपन से उन्‍हें फिल्‍में देखने का चस्‍का लग गया था.


ऐनी शुरू से पढ़ाई में काफी अच्‍छी थीं. स्‍कूल के दिनों से ही उन्‍होंने अंग्रेजी फिल्‍में देखकर और खुद अपनी मेहनत और कोशिश से अंग्रेजी सीखना शुरू किया. ऐनी के मन में शुरू से ही यह ख्‍याल था कि उन्‍हें घर से दूर जाना है. इस देश और इस घर में वह पूरी जिंदगी नहीं बिता सकतीं. आखिरकार उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया जाकर पढ़ने का फैसला किया और शुरुआती विरोध के बाद उन्‍हें परिवार से इजाजत भी मिल गई.

thai transgender tycoon buys miss universe for 20 million us dollor

जब पहली बार ऐनी ने घर में अपनी जेंडर आइडेंटिटी का खुलासा किया तो घरवालों पर तो मानो पहाड़ ही टूट पड़ा. मां ने धमकी दी कि वो आत्‍महत्‍या कर लेंगी. आखिरकार घरवालों की खुशी के लिए उन्‍होंने अपने मन को मारकर दुनिया वालों के लिए लड़के की तरह रहना शुरू कर दिया. लेकिन उन्‍हें इस जेल से आजादी चाहिए थी और ये आजादी घर से दूर जाकर ही मिल सकती थी.

 

आज ऐनी जकापोंग वो डरी-सहमी लड़की नहीं हैं. आज वह मीडिया इंडस्‍ट्री का बड़ा नाम हैं. सेलिब्रिटी और मीडिया टाइकून हैं. जिस जेकेएन ग्लोबल ग्रुप की वह सीईओ हैं, उस कंपनी के सबसे ज्‍यादा शेयर उनके पास हैं. जेकेएन ग्लोबल ग्रुप एक मीडिया इंटरटेन्‍मेंट कंपनी है, जो विदेशी टीवी ड्रामा, रिएलिटी शोज और डॉक्‍यूमेंट्री फिल्‍में बनाती, खरीदती और डिस्‍ट्रीब्‍यूट करती है. दुनिया भर के टीवी सीरिल्‍स के अलावा भारतीय टीवी सीरियल्‍स भी थाइलैंड में काफी मशहूर हैं और इस पूरा श्रेय ऐनी जकापोंग की इंटरटेन्‍मेंट कंपनी को जाता है.


ऐनी जकापोंग थाइलैंड में रिएलिटी टेलीविजन शो 'प्रोजेक्ट रनवे' को होस्‍ट कर चुकी हैं और थाइलैंड के शार्क टैंक में भी अपनी उपस्थिति दर्ज करवा चुकी हैं.

 

मिस यूनीवर्स ऑर्गेनाइजेशन तरह-तरह रूढि़वादी और परंपरावादी विचारों को समय- समय पर चुनौती देता रहता है. मिस यूनीवर्स कंपटीशन के दरवाजे ट्रांसजेंडर महिलाओं के लिए साल 2012 में ही खुल गए थे. साल 2018 में पहली बार एक ट्रांसजेंडर महिला एंजेला पोंस को मिस यूनिवर्स स्पेन का खिताब मिला.


जनवरी 2023 में अमेरिका के न्यू अर्लिएंस में मिस यूनीवर्स प्रतियोगिता आयोजित होने जा रही है और पहली बार इस प्रतियोगिता के दरवाजे उन महिलाओं के लिए भी खोल दिए गए हैं, जो विवाहित हैं और जिनके बच्‍चे भी हैं. 


मिस यूनिवर्स ऑर्गनाइजेशन हर साल विश्‍व सौंदर्य प्रतियोगिता का आयोजन करता है. ये आयोजन पिछले 71 सालों से होर हा है और दुनिया के 165 देशों में इसका प्रसारण होता है. 1996 से लेकर 2002 तक अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्‍ड ट्रंप भी इस ऑर्गेनाइजेशन के को-ओनर थे.


ऐनी का कहना है कि मिस यूनीवर्स आयोजित करने वाले ऑर्गेनाइजेशन का मालिकाना हक अपने हाथों में लेने के पीछे सिर्फ बिजनेस बढ़ाने का विचार नहीं है. यह एक ऐसा आयोजन है, जिसकी चर्चा पूरी दुनिया में होती है और जिसके माध्‍यम से हम एक नई सोच और विचारों को पूरी दुनिया के सामने ला सकते हैं.


ऐनी कहती हैं, “मैं चाहती हूं कि ट्रांसजेंडर लोगों और जेंडर आइडेंटिटी के संघर्ष से जूझ रहे लोगों को इस माध्‍यम से एक नया मंच मिले. मिस यूनीवर्स प्रतियोगिता के जरिए इन विचारों को फैलाया जा सके और इन सवालों पर एक जागरूकता पैदा की जा सके.”


Edited by Manisha Pandey