चाय बेचकर 26 देश घूम चुका है ये सीनियर कपल, दिया खुलकर जीवन जीने का संदेश

केरल के कोच्चि के निवासी केआर विजयन और उनकी पत्नी मोहना दोनों के लिए विश्व भ्रमण करना उनके बचपन का सपना था और अपने इस सपने को पूरा करने के लिए दोनों ने कोई कसर नहीं छोड़ी। दुर्भाग्यवश इसी साल नवंबर महीने में केआर विजयन का हार्ट अटैक के चलते देहांत हो गया था।

चाय बेचकर 26 देश घूम चुका है ये सीनियर कपल, दिया खुलकर जीवन जीने का संदेश

Monday November 29, 2021,

3 min Read

घूमना किसे पसंद नहीं होता है, हम सभी देश के विभिन्न हिस्सों को घूमने की लालसा अपने अंदर रखते हैं और उसके लिए बचत भी करते हैं। लेकिन आज हम ऐसे कपल के बारे में बात करने जा रहे हैं जिसने दुनिया घूमने के लिए चाय बेचने का काम किया और दुनिया भर के घुमक्कड़ों के लिए प्रेरणास्रोत बन गए।


गौरतलब है कि इस कपल ने एक-दो शहर नहीं बल्कि 26 देशों का भ्रमण किया है और अपनी इन यात्राओं के लिए उन्होंने चाय बेचकर पैसे जुटाये थे। केरल के कोच्चि के निवासी केआर विजयन और उनकी पत्नी मोहना दोनों के लिए विश्व भ्रमण करना उनके बचपन का सपना था और अपने इस सपने को पूरा करने के लिए दोनों ने कोई कसर नहीं छोड़ी। दुर्भाग्यवश इसी साल नवंबर महीने में केआर विजयन का हार्ट अटैक के चलते देहांत हो गया था।

बचपन से था यात्रा का शौक

मीडिया को दिये गए इंटरव्यू में केआर विजयन ने बताया था कि जब वे बच्चे थे तब वे घर से थोड़ा अनाज ले जाकर बेच दिया करते थे और उससे मिले पैसों से वे घूमने निकल जाते थे। बचपन में विजयन के पिता खुद भी उन्हें विभिन्न जगहों पर घुमाने के लिए ले जाया करते थे।

ि

चित्र: सोशल मीडिया

हालांकि उनके पिता देहांत के बाद घर की जिम्मेदारियों का बोझ विजयन के ऊपर आ गया और उन्होंने चाय बनाकर बेचनी शुरू कर दी।

इस दौरान साल 1998 में केआर विजयन अपने बचपन के सपने को फिर से जीने निकल पड़े और उन्होंने देश के अलग-अलग हिस्सों की यात्राएं शुरू कर दीं। इस दौरान उनकी सबसे पहली यात्रा हिमालय क्षेत्र में स्थित धार्मिक स्थलों की थी। इस दौरान एक तीर्थ यात्री ने उन्हें बतौर कुक नौकरी पर रखा था और वे उसी के साथ ये यात्राएं कर रहे थे।

कर डाली 26 देशों की यात्रा

अपनी दूसरी यात्रा के दौरान केआर विजयन ने अपनी पत्नी मोहना को साथ ले जाने का निर्णय किया और अपनी इस यात्रा को पूरा करने के लिए इस कपल ने अगले तीन साल तक हर दिन 300 रुपये जोड़े थे। बचत के पैसों के साथ ही कपल ने लोन भी लिया था और इस तरह उनकी पहली विदेश यात्रा पूरी हो सकी थी। शुरुआत में यह कपल भारत के तमाम हिस्सों की यात्रा पर जाया करता था लेकिन जब उनकी बेटी की शादी हो गई उसके बाद दोनों ने तय किया कि अब वे अन्य देशों के भ्रमण पर भी जाएंगे।


केआर विजयन और उनकी पत्नी मोहना ने अपना पहला विदेश दौरा साल 2005 में मिस्त्र का किया था, इसी के साथ दोनों ने साथ में जॉर्डन, लंदन, पेरिस, स्विट्ज़रलैंड, वेनिस, सिंगापुर और मलेशिया आदि की भी यात्रा की थीं।


गौरतलब है कि अपनी हर यात्रा के बाद कपल अगले कुछ सालों तक बचत कर अपने पुराने लोन चुकाने का काम किया करता था। अपने एक इंटरव्यू में केआर विजयन ने बताया था कि ‘घूमना ही उनके जीवन का लक्ष्य है और अगर वे ऐसा नहीं भी करते हैं तब भी इससे कुछ नहीं बदलेगा। हमारे पास यहीं एक जीवन है जिसे जिया जा सकता है, किसी को भी इससे एक्स्ट्रा समय नहीं मिलता है।‘


Edited by रविकांत पारीक