भारत के नौ राज्यों के बारह स्टार्टअप यूथ को:लैब नेशनल इनोवेशन डायलॉग 2022 में विजेता बने

12 विजयी स्टार्टअप को अपने इनोवेशंस को आगे बढ़ाने के लिए 5,000 डॉलर तक की सीड फंडिंग प्राप्‍त हुई है.

एग्रीटेक, एड-टेक, महिलाओं की आजीविका, सर्कुलर इकोनॉमी और बायो टेक्नोलॉजी में काम करने वाले 9 भारतीय राज्यों के बारह शीर्ष स्टार्टअप को यूथ को: लैब नेशनल इनोवेशन डायलॉग इंडिया (Youth Co:Lab National Innovation Dialogue India) के 5वें संस्करण में विजेता घोषित किया गया.

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम (UNDP) और सिटी फाउंडेशन द्वारा 2017 में सह-निर्मित यूथ को: लैब का उद्देश्य युवाओं को सशक्त बनाने और उनमें निवेश करने के लिए एशिया-प्रशांत क्षेत्र के देशों के लिए एक साझा एजेंडा स्थापित करना है, जिससे कि वे नेतृत्व, सामाजिक नवोन्‍मेषण और उद्यमिता के माध्यम से सतत विकास लक्ष्य (एसडीजी) कार्यान्वयन में तेजी ला सकें.

यूथ को: लैब को 2019 में नीति आयोग के अटल इनोवेशन मिशन (AIM) के साथ साझेदारी में भारत में लॉन्च किया गया था. वर्ष 2022-23 के संस्करण में देश भर के 28 राज्यों से 378 आवेदन प्राप्त हुए.

अटल इनोवेशन मिशन के मिशन निदेशक डॉ. चिंतन वैष्णव, यूएनडीपी भारत की रेजिडेंट प्रतिनिधि सुश्री शोको नोडा और अभिनेता तथा यूएनडीपी चैंपियन सुश्री संजना सांघी ने विजेताओं को सम्मानित किया.

AIM के मिशन निदेशक डॉ. चिंतन वैष्णव ने घोषणा करते हुए कहा कि "सामाजिक स्टार्टअप सिर्फ व्यवसाय नहीं हैं; वे सामाजिक परिवर्तन के उत्प्रेरक हैं. वे गंभीर सामाजिक और पर्यावरणीय चुनौतियों का समाधान करते हैं, आर्थिक विकास को प्रोत्साहित करते हैं, अन्य व्यवसायों को प्रेरित करते हैं, प्रौद्योगिकी का लाभ उठाते हैं और सहयोग को बढ़ावा देते हैं. उनकी नवोन्मेषी और उद्यमशीलता की भावना हमें अधिक न्यायसंगत, टिकाऊ और समावेशी भविष्य की ओर ले जाती है. आइए हम सामाजिक स्टार्टअप का लाभ उठाएं और उनकी सहायता करें क्योंकि वे हमारी दुनिया को बेहतरी के लिए आकार देना जारी रखते हैं."

सिटी इंडिया के सीईओ आशु खुल्लर ने कहा कि "सिटी युवाओं और युवा उद्यमियों की आकांक्षाओं की सहायता करने पर बहुत जोर देती है. यूथ को:लैब के माध्यम से विभिन्न सामाजिक चुनौतियों से निपटने में अत्‍याधिक नवोन्‍मेषण और रचनात्मकता आई है. देश के सतत विकास के लिए महत्वपूर्ण क्षेत्रों में काम करने वाले शीर्ष 12 फाइनलिस्टों को मेरी बधाई."

कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यूएनडीपी इंडिया की रेजिडेंट प्रतिनिधि, शोको नोडा ने कहा कि "15 से 24 वर्ष की आयु वर्ग के 254 मिलियन युवाओं के साथ, भारत के पास नवोन्‍मेषण और सामाजिक उद्यमिता का नेतृत्व करने तथा युवाओं की आवाज को महत्वपूर्ण बनाने का एक अनूठा अवसर है. मैं इस वर्ष विजेताओं द्वारा प्रस्‍तुत किए विचारों की विविधता और मितव्ययी नवोन्‍मेषण को देखकर उत्साहित हूं. यूथ को: लैब के साथ, यूएनडीपी को युवा सामाजिक उद्यमियों को उनकी पहल को बढ़ाने और उनके द्वारा प्रस्‍तुत किए गए समाधानों को स्‍वीकार करने, उन्‍हें महत्व देने और उनकी सहायता करने के लिए एक मंच प्रदान करने में प्रसन्नता का अनुभव हो रहा है."

प्रत्येक विषयगत क्षेत्र के विजेताओं को 5,000 डॉलर का सीड ग्रांट प्राप्त हुआ; जबकि उपविजेता को 3,000 डॉलर प्राप्‍त हुए है. यह वित्‍त पोषण विजेताओं को अपने विचारों को मूर्त उत्पादों या सेवाओं में ढालने में मदद करेगा.

विजेताओं को सम्मानित करते हुए, अभिनेत्री और यूएनडीपी चैंपियन, संजना सांघी ने कहा कि "मेरा मानना ​​है कि आज के युवाओं में नवोन्‍मेषण को प्रेरित करने और सामाजिक उद्यमिता के माध्यम से सार्थक बदलाव लाने की असीम शक्ति है. यूथ को: लैब उन्हें अपने विचारों को ऐसे समाधानों में बदलने के लिए एक मंच प्रदान करता है, जो जीवन और समुदायों को रूपांतरित कर देता है. युवाओं में विश्‍व में परिवर्तन लाने का जुनून, विचार और उत्साह है."

यूथ को : लैब इंडिया 2022-23 ने 6 विषयगत क्षेत्रों युवाओं के लिए डिजिटल और वित्तीय साक्षरता, जेंडर समानता और महिलाओं का आर्थिक सशक्तिकरण, जैव विविधता संरक्षण पर केंद्रित फिनटेक समाधान विकसित करना, फिनटेक के समाधानों के माध्यम से जैव विविधता के अनुकूल जीवन शैली को बढ़ावा देना, अपसाइक्लिंग नवोन्‍मेषणों के माध्यम से चक्रीय अर्थव्यवस्था में तेजी लाना और लाइफ (पर्यावरण के लिए जीवन शैली) के लिए व्यवहारिक सुझाव पर ध्‍यान केंद्रित किया.

आवेदनों में से 47 चयनित स्टार्ट-अप को एसडीजी इनोवेटर्स के लिए एक स्टार्ट-अप सपोर्ट प्लेटफॉर्म यूथ को: लैब स्प्रिंगबोर्ड प्रोग्राम के माध्यम से दो महीने के लिए विशेषज्ञों से प्रत्‍यक्ष परामर्श और क्षमता-निर्माण सत्र आयोजित किए गए. इन स्टार्ट-अप्स ने इसके बाद मई 2023 में एक प्रतिष्ठित जूरी के समक्ष अपने विचार प्रस्तुत किए, जिसमें से 12 विजेताओं का चयन किया गया.

2017 से यूथ को: लैब ने एशिया और प्रशांत क्षेत्र के 28 देशों और क्षेत्रों में युवा आकांक्षी और प्रेरक सामाजिक उद्यमियों की सहायता की है. राष्ट्रीय संवाद, क्षेत्रीय शिखर सम्मेलन, सामाजिक नवोन्‍मेषण चुनौतियां और कार्यशालाएं 240,000 से अधिक प्रतिभागियों तक पहुँच चुकी हैं. राष्ट्रीय युवा सामाजिक नवोन्‍मेषण और उद्यमशीलता कौशल विकास गतिविधियों ने 14,000 से अधिक युवाओं को सेवा प्रदान की है और 1,530 युवाओं के नेतृत्व वाली सामाजिक नवोन्‍मेषण टीमों को लॉन्च किया है या बेहतर बनाया है.

यह भी पढ़ें
केंद्र सरकार ने 16 राज्यों को पूंजी निवेश के लिए 56,415 करोड़ रुपये की मंजूरी दी