केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने MSME सेक्टर को आगे बढ़ाने के लिए ठोस प्रयास करने का आह्वान किया

By रविकांत पारीक
October 13, 2021, Updated on : Wed Oct 13 2021 12:29:16 GMT+0000
केंद्रीय मंत्री नारायण राणे ने MSME सेक्टर को आगे बढ़ाने के लिए ठोस प्रयास करने का आह्वान किया
MSME मंत्री नई दिल्ली में NSIC, NVCFL और SVL के अधिकारियों द्वारा अंशदान समझौते पर हस्ताक्षर करने के अवसर पर संबोधित कर रहे थे।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

केन्‍द्रीय MSME मंत्री नारायण राणे ने MSME मंत्रालय के अधिकारियों को MSME क्षेत्र का उत्पादन बढ़ाने के लिए तैयार रहने के लिए प्रोत्‍साहित किया है। मंत्री ने स्पष्ट रूप से कहा कि वह इस क्षेत्र के कार्य निष्‍पादन में भारी उछाल देखना चाहते हैं, जिसके लिए मंत्रालय के सभी वर्गों को मिलकर काम करना होगा। उन्होंने समाज की बेहतरी के लिए मंत्रालय द्वारा समग्र रूप से खर्च बढ़ाने का आह्वान किया। राणे ने MSME क्षेत्र के माध्यम से भारत के निर्यात में भारी उछाल की संभावना की ओर इशारा किया, जिससे उच्च सकल घरेलू उत्पाद प्राप्त किया जा सकता है।


MSME मंत्री नई दिल्ली में NSIC, NVCFL और SVL के अधिकारियों द्वारा अंशदान समझौते पर हस्ताक्षर करने के अवसर पर संबोधित कर रहे थे। उनके साथ MSME में राज्‍य मंत्री भानु प्रताप सिंह वर्मा, मंत्रालय में सचिव बी बी स्वैन, NSIC के सीएमडीऔर NVCFL की अध्यक्ष अलका अरोड़ा और SVL के प्रबंध निदेशक और सीईओ, के. सुरेश भी थे।

MSME मंत्री नई दिल्ली में NSIC, NVCFL और SVL के अधिकारियों द्वारा अंशदान समझौते पर हस्ताक्षर करने के अवसर पर संबोधित कर रहे थे।

केन्‍द्रीय MSME मंत्री नारायण राणे नई दिल्ली में NSIC, NVCFL और SVL के अधिकारियों द्वारा अंशदान समझौते पर हस्ताक्षर करने के अवसर पर संबोधित करते हुए (फोटो साभार: PIB)

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी की परिकल्‍पना के अनुरूप, वित्त मंत्री ने वृद्धि पूंजी हासिल करने में MSME के सामने मौजूद भारी कमी को दूर करने के लिए आत्मनिर्भर भारत पैकेज के तहत सूक्ष्म, लघु और मध्यम उद्यमों के लिए फंड ऑफ फंड्स बनाने की घोषणा की थी।


नतीजतन, MSME मंत्रालय के अंतर्गत भारत सरकार के एक मिनी रत्न निगम - राष्ट्रीय लघु उद्योग निगम लिमिटेड – NSIC की 100% सहायक कंपनी NSIC वेंचर कैपिटल फंड लिमिटेड (NVCFL)को शामिल किया गया था। NVCFL नेआत्मनिर्भर भारत कोष (SRI कोष) को मजबूत बनाया जिसका उद्देश्‍य 10,006 करोड़ रुपये के लक्ष्य कोष और पूंजी, आभासी पूंजी और ऋण के माध्यम से वृद्धि पूंजी के रूप में MSME की प्रगति का प्रावधान करने के लिए उद्यमकोष का समर्थन करना था जिसकी AIF नियामक के अंतर्गत इजाजत दी गई है। अन्य बातों के साथ-साथ, इस कोष को संस्‍थागत निवेशक और प्रायोजक के रूप में NSIC द्वारा MSME मंत्रालय में निवेश किया जाएगा।


SBICAP वेंचर्स लिमिटेड (SVL) को निवेश प्रबंधक के रूप में और खेतान एंड कंपनी को NVCFL के कानूनी सलाहकार के रूप में नियुक्त किया गया है। NVCFL ने निवेश की जानकारी देने वाले संभावित निवेशकों को दिए जाने वाले दस्‍तावेज-प्राइवेट प्‍लेसमेंट मेमोरेंडम (PPM) को भारतीय प्रतिभूति और विनिमय बोर्ड के रिकॉर्ड में रखा है ताकि SRI कोष को श्रेणी II वैकल्पिक निवेश कोष के रूप में पंजीकृत किया जा सके जिसे SEBI ने 1 सितंबर 2021 को पंजीकृत किया था।


SRI कोष MSME क्षेत्र की इक्विटी निधीयन चुनौतियों का समाधान करेगा और उन्हें अपनी बाधाओं को तोड़ने, निगमीकरण को प्रोत्साहित करने और वैश्विक चैंपियन बनने के लिए अपनी पूर्ण अंतर्निहित क्षमता को विकसित करने की अनुमति देगा। सरकारी हस्तक्षेप के साथ, कोष विभिन्न प्रकार के कोषों को अपर्याप्‍त सेवा वाले MSME में दिशा देने और व्यवहार्य और उच्च विकास वाले MSME की वृद्धि जरूरतों को पूरा करने में सक्षम होगा।


YourStory की फ्लैगशिप स्टार्टअप-टेक और लीडरशिप कॉन्फ्रेंस 25-30 अक्टूबर, 2021 को अपने 13वें संस्करण के साथ शुरू होने जा रही है। TechSparks के बारे में अधिक अपडेट्स पाने के लिए साइन अप करें या पार्टनरशिप और स्पीकर के अवसरों में अपनी रुचि व्यक्त करने के लिए यहां साइन अप करें।


TechSparks 2021 के बारे में अधिक जानकारी पाने के लिए यहां क्लिक करें।

Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Clap Icon0 Shares
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close