अमेरिकी जॉब मार्केट में आ रही मजबूती, फिर भी बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन बढ़कर 8 माह के हाई पर!

By yourstory हिन्दी
August 12, 2022, Updated on : Fri Aug 12 2022 08:43:43 GMT+0000
अमेरिकी जॉब मार्केट में आ रही मजबूती, फिर भी बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन बढ़कर 8 माह के हाई पर!
बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन 14000 बढ़कर 262000 पर पहुंच गए हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अमेरिका में बेरोजगारी दावे (Unemployment Claims) पिछले सप्ताह बढ़कर नवंबर के बाद के उच्चतम स्तर पर पहुंच गए. ऐसा तब है, जब अमेरिकी जॉब मार्केट में मजबूती के संकेत दिख रहे हैं. श्रम विभाग ने गुरुवार को बताया कि बेरोजगारी भत्ते के लिए आवेदन 14000 बढ़कर 262000 पर पहुंच गए हैं. पिछले छह में से पांच सप्ताह के दौरान इसमें वृद्धि हुई है.


विभाग के अनुसार, दावों के लिए चार सप्ताह का औसत 4500 की वृद्धि के साथ 252000 हो गया, जो नवंबर के बाद से सबसे अधिक है. पहली बार बेरोजगारी लाभ के लिए आवेदन, आमतौर पर नौकरी बाजार की स्थिति के बारे में दर्शाता है. बेरोजगारी के आवेदन छंटनी के लिए एक प्रॉक्सी हैं और अक्सर इसे इस बात के शुरुआती संकेतक के रूप में देखा जाता है कि जॉब मार्केट किस दिशा में जा रहा है.

भर्ती उल्लेखनीय रूप से मजबूत और लचीली

इस साल अब तक बढ़ती ब्याज दरों और कमजोर आर्थिक विकास के बीच संयुक्त राज्य अमेरिका में भर्ती उल्लेखनीय रूप से मजबूत और लचीली रही है. श्रम विभाग ने पिछले हफ्ते बताया कि अमेरिकी नियोक्ताओं ने पिछले महीने 528000 नौकरियों को एड किया जो कि पूर्वानुमानकर्ताओं की अपेक्षा की तुलना में दोगुने से अधिक था. अमेरिका में जुलाई में बेरोजगारी की दर 3.5 प्रतिशत तक गिर गई. 2020 की शुरुआत में कोरोनवायरस महामारी के अमेरिकी अर्थव्यवस्था को पटकने से ठीक पहले यह 50 साल के निचले स्तर पर पहुंच गई थी.

चुनौतियों का सामना कर रही अमेरिकी अर्थव्यवस्था

अमेरिकी अर्थव्यवस्था को चुनौतियों का सामना करना पड़ रहा है. उपभोक्ता कीमतों में एक साल पहले की तुलना में जुलाई में 8.5 प्रतिशत की वृद्धि हुई है, जो जून के 40 साल के उच्च स्तर 9.1 प्रतिशत से थोड़ा कम है. महंगाई से निपटने के लिए फेडरल रिजर्व ने इस साल अपनी बेंचमार्क शॉर्ट टर्म ब्याज दर चार बार बढ़ाई है. अमेरिकी अर्थव्यवस्था में वर्ष की पहली छमाही में गिरावट देखी गई है. आगे मंदी आने की आशंका है. लेकिन आर्थिक मंदी के साथ रोजगार बाजार की ताकत असंगत है.

भारत में कितनी है बेरोजगारी दर

ब्लूमबर्ग की एक रिपोर्ट के मुताबिक, मानसून के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में कृषि गतिविधियां बढ़ने से जुलाई महीने में देश की बेरोजगारी दर घटकर 6.80 प्रतिशत पर आ गई. यह 6 माह का निचला स्तर है. इससे पहले जनवरी 2022 में बेरोजगारी दर 6.56 प्रतिशत दर्ज की गई थी. एक महीने पहले जून 2022 में यह दर 7.80 प्रतिशत पर थी. आर्थिक गतिविधियों पर नजर रखने वाली संस्था ‘सेंटर फॉर मॉनिटरिंग ऑफ इंडियन इकनॉमी’ (CMIE) ने जुलाई 2022 के आंकड़े जारी करते हुए बेरोजगारी दर में कमी आने का दावा किया है.


हालांकि ग्रामीण क्षेत्र के मुकाबले शहरी क्षेत्र में बेरोजगारी बढ़ी है. सीएमआईई के मुताबिक, जुलाई में ग्रामीण क्षेत्रों में बेरोजगारी दर घटकर 6.14 प्रतिशत रह गई, जबकि जून में यह 8.03 प्रतिशत थी. वहीं शहरी क्षेत्रों में बेरोजगारी दर बढ़कर 8.21 प्रतिशत हो गई जो एक महीने पहले 7.30 प्रतिशत थी. शहरी क्षेत्रों में बेरोजगारी बढ़ने के पीछे उद्योग जगत एवं सेवा क्षेत्र, दोनों में ही नौकरियों में आई कमी को जिम्मेदार बताया गया है. 30 डे मूविंग एवरेज के आधार पर 11 अगस्त 2022 को देश में बेरोजगारी दर CMIE के आंकड़ों के मुताबिक, 7.7 प्रतिशत है.


Edited by Ritika Singh