Vodafone से इस्तीफा देंगे CEO निक रीड, कहा- नए लीडर को कमान सौंपने का सही समय

By yourstory हिन्दी
December 05, 2022, Updated on : Mon Dec 05 2022 11:10:24 GMT+0000
Vodafone से इस्तीफा देंगे CEO निक रीड, कहा- नए लीडर को कमान सौंपने का सही समय
अक्टूबर 2018 में रीड के सीईओ बनने के बाद से शेयर 40% से अधिक डाउन हैं और दो दशक पहले के समान स्तर पर कारोबार कर रहे हैं.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

निक रीड (Nick Read) इस वर्ष के अंत तक Vodafone के CEO का पद छोड़ देंगे. उनके वित्त निदेशक अंतरिम आधार पर उनकी जगह लेंगे. निक रीड पिछले 4 वर्षों से वोडाफोन के CEO हैं. उन्होंने साल 2002 में Vodafone UK के CFO के तौर पर कंपनी को जॉइन किया था. रीड ने महामारी के दौरान भी वोडाफोन का नेतृत्व किया, अपने टावरों के इंफ्रास्ट्रक्चर के कारोबार को एक अलग इकाई में बांटा और यूरोप व अफ्रीका पर अपना ध्यान बढ़ाने के लिए एसेट्स भी बेचे.


रॉयटर्स की एक रिपोर्ट के मुताबिक, निक रीड ने एक बयान में कहा, "मैं बोर्ड से सहमत हूं कि अब एक नए लीडर को कमान सौंपने का सही समय है, जो वोडाफोन की ताकत को और बढ़ाए और महत्वपूर्ण अवसरों को भुना सके."

आउटलुक को लेकर घटाया अनुमान

पिछले महीने ही वोडाफोन ने जर्मनी, इटली और स्पेन के अपने बड़े यूरोपीय बाजारों में बढ़ती ऊर्जा लागत और बिगड़ते प्रदर्शन का हवाला देते हुए अपने पूरे साल के आउटलुक में कटौती की. परिवर्तनों के बावजूद वोडाफोन के शेयरों में गिरावट बनी हुई है. अक्टूबर 2018 में रीड के सीईओ बनने के बाद से शेयर 40% से अधिक डाउन हैं और दो दशक पहले के समान स्तर पर कारोबार कर रहे हैं. रीड को मार्गेरिटा डेला वैले द्वारा अंतरिम आधार पर रिप्लेस किया जाएगा. उन्हें परिचालन प्रदर्शन में सुधार करने और शेयरधारक वैल्यू देने के लिए कंपनी की रणनीति के निष्पादन में तेजी लाने का काम सौंपा गया है. कंपनी ने कहा कि बोर्ड ने नए मुख्य कार्यकारी की तलाश की प्रक्रिया शुरू कर दी है.

वोडाफोन आइडिया की भारत में स्थिति

कर्ज में डूबी दूरसंचार कंपनी वोडाफोन आइडिया लिमिटेड (वीआईएल) का एकीकृत शुद्ध घाटा चालू वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में बढ़कर 7,595.5 करोड़ रुपये पर पहुंच गया. कंपनी को इससे पिछले वित्त वर्ष की सितंबर तिमाही में 7,132.3 करोड़ रुपये का शुद्ध घाटा हुआ था. हालांकि, वीआईएल की सेवाओं के जरिये आय 2022-23 की सितंबर तिमाही में 12.8 प्रतिशत बढ़कर 10,614.6 करोड़ रुपये हो गई. यह पिछले वित्त वर्ष की इसी तिमाही में 9,406.4 करोड़ रुपये थी.


कंपनी के विकास का एक प्रमुख पैमाना प्रति ग्राहक औसत कमाई (एआरपीयू) भी सालाना आधार पर 19.5 प्रतिशत बढ़कर 131 रुपये पर पहुंच गई. वोडाफोन आइडिया के ग्राहकों की संख्या बीती तिमाही में घटकर 23.44 करोड़ रह गई. एक साल पहले की इसी अवधि में यह 24 करोड़ थी. हालांकि, कंपनी के 4जी सेवाओं का इस्तेमाल करने वाले ग्राहकों की संख्या 15 लाख बढ़कर 12 करोड़ हो गई.

यह भी पढ़ें
तो क्या 10 हजार नहीं 20,000 कर्मचारियों की छंटनी करेगी Amazon?

Edited by Ritika Singh