मात्र 5 हज़ार रुपये से इस महिला आंत्रेप्रन्योर ने शुरू किया ऑनलाइन सोने और हीरे के आभूषण का कारोबार

By Palak Agarwal
April 12, 2022, Updated on : Tue Apr 12 2022 09:06:13 GMT+0000
मात्र 5 हज़ार रुपये से इस महिला आंत्रेप्रन्योर ने शुरू किया ऑनलाइन सोने और हीरे के आभूषण का कारोबार
दिशी सोमानी ने अपने ऑनलाइन ब्रांड Dishis Designer Jewellery की शुरुआत 2015 में 5,000 रुपये के साथ की थी। आज, ब्रांड भारत और विदेशों के ग्राहकों के साथ 50 लाख रुपये का कारोबार करता है। आइए जानते हैं कि उन्होंने इस ब्रांड को कैसे खड़ा किया।
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

अक्सर कहा जाता है कि कंफर्ट जोन बड़ी खूबसूरत जगह होती है - लेकिन वहां उगता कभी कुछ नहीं। छत्तीस वर्षीय दिशी सोमानी के लिए, उनकी बैंक की नौकरी ने उन्हें आराम तो दिया लेकिन उनके अंदर और अधिक करने की ललक थी। अपनी सांस्कृतिक विरासत और महलों के लिए मशहूर शहर मध्य प्रदेश के ग्वालियर की रहने वाली दिशी अपनी मां और दादी के लिए आभूषण डिजाइन करने के लिए अपने घर आने वाले कारीगरों को देखकर बड़ी हुई हैं।


दिशी बचपन से ही कला प्रेमी रही हैं, लेकिन जब वह बड़ी हुईं तो जीवन की भागदौड़ में लग गईं और एक प्रतिष्ठित नौकरी पाने के लिए शिक्षा पूरी की लेकिन इस सब ने उनके रचनात्मक पक्ष को तलाशने के लिए पर्याप्त जगह ही नहीं छोड़ी। हालांकि, 2015 में, एक तरह से, उन्होंने उद्यमिता को आगे बढ़ाने के लिए लगभग दो-तीन साल तक काम करने के बाद आईसीआईसीआई बैंक में अपनी अच्छी खासी नौकरी छोड़ दी और अपना खुद का ज्वैलरी ब्रांड - Dishis Designer Jewellery लॉन्च किया।


दिशी ने योरस्टोरी को बताया, "मैं अपने काम से संतुष्ट नहीं थी। हालांकि मैंने एमबीए किया था और वास्तव में अच्छी कमाई कर रही थी, लेकिन कला वास्तव में मेरे जीवन से गायब थी। मैं एक रचनात्मक व्यक्ति हूं और 9-5 की नौकरी वास्तव में मुझे भा नहीं रही थी। जब मैंने अपनी नौकरी छोड़ी तो मेरे पिता ने मेरा साथ नहीं दिया, लेकिन मुझे अपना मकसद मिल गया और आखिरकार मैंने अपना खुद का लेबल शुरू कर दिया।"


जब दिशी ने अपना लेबल लॉन्च किया, तो शुरुआती निवेश के रूप में 5,000 रुपये से शुरुआत की। वह दावा करती हैं कि उनका ब्रांड सोने, हीरे और चांदी के आभूषणों को प्रदर्शित करने वाले केवल-ऑनलाइन प्लेटफॉर्म के रूप में शुरू करने वाले पहले कुछ लोगों में से एक था। अब सात सालों की अवधि में उन्होंने 5000 से अधिक डिजाइन केवल ऑनलाइन बेचकर डिलीवर किए हैं। उनका दावा है कि उनका सालाना कारोबार लगभग 50 लाख रुपये है।

खुद के लिए एक जगह बनाना

दिशी नई दिल्ली में अपनी नौकरी कर रही थीं, तभी उनके पास एक ऑनलाइन डिजाइनर ज्वैलरी ब्रांड शुरू करने का विचार आया।


वह बताती हैं, “2015 में, ऑनलाइन बाजार में तेजी आ रही थी और केवल कैरेटलेन और ब्लूस्टोन जैसे ब्रांड ही प्रीमियम ज्वैलरी ऑनलाइन बेच रहे थे। शून्य से कुछ शुरू करना एक जोखिम था क्योंकि मेरे पास व्यवसाय में कोई पारिवारिक पृष्ठभूमि नहीं थी और न ही इसमें गहराई से निवेश करने के लिए पैसा था। लेकिन, मैंने बिल्कुल भी कोशिश न करने का जोखिम उठाना पसंद किया।"


दिशी ने अपने उन दोस्तों की मदद से अपनी वेबसाइट पर काम करना शुरू किया जो वेबसाइट डेवलपर थे। धीरे-धीरे, उन्होंने अपने आभूषण डिजाइन ऑनलाइन बेचने के लिए दिल्ली स्थित पीसी ज्वैलर और स्नैपडील के साथ भागीदारी की। अपने काम में विशेषज्ञता लाने के लिए, दिशा ने 2014 में इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ जेम्स एंड ज्वैलरी, नई दिल्ली से डिप्लोमा कोर्स भी पूरा किया।


वह याद करती हैं कि कैसे उन्होंने अपनी डिजाइन की तस्वीरें अपनी वेबसाइट पर अपलोड कीं और प्री-बुकिंग ली, जिसे उन्होंने सात दिनों में प्रोसेस किया था। वह इसे जस्ट-इन-टाइम मॉडल कहती हैं, जिसमें उन्हें स्टॉक तैयार रखने के बारे में चिंता करने की जरूरत नहीं थी, इस प्रकार न्यूनतम निवेश करना पड़ता था।


दिशी का दावा है कि वेबसाइट लॉन्च होने के एक महीने के भीतर उन्हें अपना पहला ऑर्डर 10,000 रुपये का मिला। इसके तुरंत बाद, उन्होंने Amazon, Flipkart और अन्य ईकॉमर्स पोर्टल्स पर अपने ब्रांड का प्रदर्शन शुरू कर दिया। डिशीज डिजाइनर ज्वैलरी में अब लगभग 20 फुल टाइम कर्मचारी हैं, जो घरेलू ग्राहकों और यूएस, यूके, यूरोप, ऑस्ट्रेलिया और अन्य के ग्राहकों से कस्टमाइज्ड के साथ-साथ सामान्य ज्वैलरी ऑर्डर भी पूरा करते हैं।

चुनौतियां और प्रतिस्पर्धा

जब दिशी ने अपना ज्वैलरी लेबल शुरू किया, तो ऑनलाइन स्पेस में कुछ ही खिलाड़ी थे, और प्रतिस्पर्धा कम थी। शुरुआती दो-तीन वर्षों में भी वेबसाइट पर धीमी गति से इंगेजमेंट देखा गया क्योंकि ग्राहक महंगे आभूषणों के ऑर्डर को व्यक्तिगत रूप से देखे बिना देने के लिए अनिच्छुक थे।


बड़े खिलाड़ियों के प्रवेश ने समय के साथ मानसिकता को बदलने में मदद की "तनिष्क, जोयलुकास, मालाबार और कल्याण ज्वैलर्स जैसे बड़े प्रसिद्ध ब्रांडों के प्रवेश के साथ, लोगों ने सोना, हीरा और चांदी के आभूषण ऑनलाइन खरीदना शुरू कर दिया। इससे ऑनलाइन बिक्री में उछाल आया; हालाँकि, इसने प्रतिस्पर्धा को भी बढ़ाया।”


भारतीय ऑनलाइन ज्वैलरी बाजार 2019 में 850 मिलियन डॉलर का होने का अनुमान लगाया गया था, और 2025 तक बढ़कर 3.7 बिलियन डॉलर होने का अनुमान है।


दीशी का कहना है कि महामारी ने ऑनलाइन ज्वैलरी विक्रेताओं को एक बड़ी छलांग दी क्योंकि लोग ऑनलाइन खरीदारी करने लगे। इस अवधि में डिशीज डिजाइनर ज्वैलरी की बिक्री में 30 प्रतिशत की वृद्धि देखी गई, और दिशी को अपने ब्रांड में और विश्वास बनाने में मदद मिली। यह पूछे जाने पर कि क्या उन्हें ऑर्डर रिटर्न में किसी चुनौती का सामना करना पड़ता है, उन्होंने कहा कि अब तक उन्होंने कोई रिटर्न ऑर्डर अनुरोध नहीं देखा है।

आगे का रास्ता

भविष्य के बारे में बात करते हुए दिशी का कहना है कि वह जापान में बिक्री संचालन का विस्तार करना चाहती हैं।


नए डिजाइनों पर काम करना एक सतत प्रक्रिया है और उनका लक्ष्य दिशीज डिजाइनर ज्वैलरी को वैश्विक ब्रांड नाम बनाना है। निकट भविष्य में, दिशी रणनीतिक साझेदारी और निवेश की भी उम्मीद कर रही हैं।


Edited by Ranjana Tripathi