Business Idea : सिर्फ एक बार करें निवेश, 10 साल तक घर बैठे लाखों की कमाई

By Manisha Pandey
June 04, 2022, Updated on : Fri Aug 26 2022 09:39:04 GMT+0000
Business Idea : सिर्फ एक बार करें निवेश, 10 साल तक घर बैठे लाखों की कमाई
एक एकड़ जमीन पर 1200 सहजन के पेड़ लगाए जा सकते हैं. एक पेड़ साल में 60 हजार रु. के सहजन पैदा करता है और इन 1200 पेड़ों को लगाने का खर्च सिर्फ 50 हजार रु. आता है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

जैसे आज हजारों-लाखों मील दूर पैदा होने वाला ऑलिव, ओट्स और एवाकाडो के लिए भारत एक बड़ा मुनाफे वाला बाजार बन गया है, वैसे ही आपके देश, मौसम और जमीन पर पैदा होने वाली एक ऐसी जादुई चीज है, जिसकी पूरी दुनिया में मांग है. इसकी वजह से उसमें पाए जाने वाले औषधीय गुण.


हम बात कर रहे हैं सहजन की. सहजन जिसे अंग्रेजी में ड्रमस्टिक या मॉरिंगा भी कहते हैं. क्‍या आपको पता है कि पूरी दुनिया में धरती पर कोई ऐसी दूसरी चीज पैदा नहीं होती, जिसकी जड़ों से लेकर फल, फूल, पत्‍ती, तना, टहनी और डाली तक सबकुछ उपयोगी और सेहत के लिए चमत्‍कारिक गुणों से भरपूर है.


सहजन की खेती एक शानदार बिजनेस आइडिया भी है. वैसे भी आजकल लंदन-अमेरिका से एमबीए की डिग्री लेकर भी लोग महंगी तंख्‍वाहों वाली नौकरी छोड़कर खेती का रुख कर रहे हैं. लेकिन यह ऐसा कमाल का बिजनेस है कि जिसे करने के लिए आपको नौकरी छोड़ने की भी जरूरत नहीं. नौकरी के साथ-साथ आप इस बिजनेस से घर बैठे लाखों की कमाई कर सकते हैं.

भारत से 23 करोड़ यूएस डॉलर के सहजन का  निर्यात

पूरी दुनिया में सबसे ज्‍यादा सहजन का निर्यात भारत से होता है. अमेरिका और कनाडा का नंबर भारत के बाद है.


पिछले कुछ सालों में भारत से निर्यात होने वाले सहजन के बिजनेस में भारी बढ़त हुई है. 2016 में भारत में 12 करोड़ यूएस डॉलर के सहजन का निर्यात किया था, जो अब बढ़कर 23 करोड़ यूएस डॉलर का हो गया है. भारत से कतर, सऊदी अरब, कुवैत, यूनाइटेड अरब अमीरात और यूके में सहजन का निर्यात होता है. इसका सबसे बड़ा कारण यह है कि कुछ महत्‍वपूर्ण दवाइयों के निर्माण में इसका प्रयोग किया जाता है.


भारत के अलावा कनाडा, अमेरिका के कुछ हिस्‍सों, फिलीपींस और श्रीलंका में भी सहजन की खेती होती है. भारत में सबसे सहजन की खेती दक्षिण भारत में होती है.

बंजर जमीन पर भी उग सकता है सहजन

सहजन का पेड़ होता है, लेकिन इसकी सबसे बड़ी खासियत ये है कि इसे पौधे से पेड़ बनने में सिर्फ एक साल का वक्‍त लगता है. एक बार बड़ा हो जाने पर यह छह साल तक फल देता रहता है.

सहजन का पेड़ बहुत कम सावधानी और देखभाल की मांग करता है. इसके लिए खास तरह की मिट्टी, खाद, कीटनाशक आदि की भी जरूरत नहीं होती. कहते हैं, इस पेड़ की जरूरतें इतनी कम है कि यह बंजर जमीन पर भी उग आता है. सिर्फ मौसम गर्म होना चाहिए और भारत का गर्म मौसम इसकी खेती के लिए हर लिहाज से उपयुक्‍त है.

you-can-earn-lakhs-of-rs-every-year-by-drumstick-farmings-business

कैसे करें सहजन की खेती

अगर आप सहजन की खेती करना चाहते हैं तो एक एकड़ जमीन से शुरुआत कर सकते हैं. जमीन चुनने के लिए आपको मिट्टी, मौसम, धूप, बारिश आदि के बारे में ज्‍यादा चिंता करने की जरूरत नहीं, क्‍योंकि यह हर तरह के उतार-चढ़ाव को आसानी से झेल जाने वाला पौधा है.


एक एकड़ जमीन पर आप तकरीबन 1200 सहजन के पौधे लगा सकते हैं. एक एकड़ जमीन पर पौधे लगाने का खर्च तकरीबन 40,00 रु. तक होता है.  

इसके बीज को सीधे जमीन में बोया जा सकता है. या फिर एक छोटी थैली में भी बीज लगाते हैं. एक महीने के भीतर बीज पौधा बन जाता है. फिर उस पौधे को जमीन में रोप देते हैं.

एक साल के भीतर यह पौधा पेड़ जाता है और फल देने लगता है. जून से सितंबर के महीने में इसे बोना सबसे मुफीद रहता है.

एक एकड़ जमीन से कमाएं सालाना 60 लाख रु.

1. सहजन के एक पेड़ में करीब 300 से 500 सहजन उगते हैं यानि करीब 40 से 60 किलो के आसपास, जिसकी बाजार में कीमत 50 हजार रु. तक होती है.

2. यदि आपने 1200 पेड़ लगाए हैं तो प्रति पेड़ एक लाख रु. के हिसाब से आप 60 लाख रु. की कमाई कर सकते हैं.

3. घरेलू बाजार में सहजन इतना महंगा नहीं है, लेकिन विदेशी बाजार में इसकी अच्‍छी कीमत

मिलती है.

गांव-घर से लेकर सुपर मार्केट तक सहजन की यात्रा

यदि आप याद करें तो शायद आपके बचपन के शहर में भी आसपास यूं ही सहजन का पेड़ दिख जाता होगा, जिस पर तब कोई ज्‍यादा ध्‍यान भी नहीं देता था. जहां बीज गिर जाएं, बिना किसी देखभाल के पेड़ अपने आप ही उग आता था.


यह तो ग्‍लोबलाइज्‍ड बाजार की देन है कि ऐसे पुराने लाभदायक पेड़, पौधों को लोग एक बार फिर न सिर्फ गंभीरता से लेने लगे हैं, बल्कि हमारे खेतों से निकलकर बड़े शॉपिंग मॉलों और सुपरमार्केट तक पहुंचकर इनकी वैल्‍यू भी सैकड़ों गुना बढ़ गई है.