ये हैं भारत की 10 सबसे अमीर महिलाएं

By yourstory हिन्दी
July 21, 2022, Updated on : Fri Jul 22 2022 12:46:56 GMT+0000
ये हैं भारत की 10 सबसे अमीर महिलाएं
सावित्री जिंदल से लेकर सारा जॉर्ज तक ये 10 महिलाएं हैं अरबों की संपत्ति की मालिक. दुनिया की सबसे अमीर महिलाओं में भी शुमार.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

जिंदल समूह की चेयरपर्सन सावित्री जिंदल फोर्ब्‍स की नई जारी अमीर महिलाओं की सूची के मुताबिक भारत की सबसे अमीर महिला हो गई हैं. पिछले दो सालों में उनकी कुल संपत्ति में तीन गुना का इजाफा हुआ है और अब कुल 17.7 अरब डॉलर की संपत्ति के साथ वह भारत की सबसे अमीर महिला हैं.


भारत की 10 सबसे अमीर महिलाओं की सूची में और भी कई नामी हस्तियां और बिजनेस वुमेन शुमार हैं. आइए जानते हैं कौन हैं भारत की 10 सबसे अमीर महिलाएं.


सावित्री जिंदल, चेरयपर्सन- जिंदल ग्रुप

नेट वर्थ – 17.7 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री – स्‍टील  


जिंदल समूह की चेयरपर्सन और भारतीय नेशनल कांग्रेस की सक्रिय सदस्‍य सावित्री जिंदल भारत की सबसे अमीर महिला हैं. 20 साल की उम्र में विवाह के बाद तकरीबन 35 साल तक सावित्री जिंदल ने सिर्फ घरेलू जिम्‍मेदारियों का निर्वाह किया. पति की मृत्‍यु के बाद उन्‍होंने बिजनेस की लगाम अपने हाथों में ली और तब से लेकर अब तक जिंदल समूह के सालाना टर्नओवर का ग्राफ लगातार ऊपर की ओर ही बढ़ रहा है.

 

फाल्‍गुनी नायर, फाउंडर और सीईओ- नायिका

नेट वर्थ – 4.4 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री – रीटेल  


1963 में जन्‍मी 59 वर्ष की फाल्‍गुनी नायर ऑनलाइन रीटेल बिजनेस नायका की फाउंडर और सीईओ हैं. साल 2012 में 50 साल की उम्र में 20 लाख डॉलर की लागत के साथ उन्‍होंने नायिका की शुरुआत की और आज यह भारत की सबसे तेजी से बढ़ रही कंपनियों में से एक है.  

 

लीना तिवारी, चेयरपर्सन- USV प्राइवेट लिमिटेड

नेट वर्थ – 4.2 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री – फार्मास्‍यूटिकल्‍स


1956 में जन्‍मी 66 वर्ष की लीना तिवारी यूएसवी प्राइवेट लिमिटेड की चेयरपर्सन हैं, जो एक फार्मास्‍यूटिकल और बायोटेक्‍नोलॉजी कंपनी है. उनके दादा विट्ठल बालकृष्‍ण गांधी ने 1961 में इस कंपनी की शुरुआत की थी. यह कंपनी डायबिटीज और कार्डियोवस्‍कुलर बीमारियों से जुड़ी दवाएं बनाती है.

 

किरण मजूमदार शॉ, फाउंडर और एक्‍जीक्‍यूटिव चेयरपर्सन- बायोकॉन (Biocon)

नेट वर्थ – 3.3 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री – बायोफार्मास्‍यूटिकल्‍स


1953 में जन्‍मी 69 वर्ष की किरण मजूमदार शॉ  बायोफार्मास्‍यूटिकल कंपनी बायोकॉन की फाउंडर और चेयरपर्सन हैं. उन्‍होंने 1978 में बायोकॉन की शुरुआत की थी. 2019 में फोर्ब्‍स मैगजीन ने उन्‍हें दुनिया की सबसे ताकतवर महिलाओं की सूची में 68वां स्‍थान दिया था.


स्मिता कृष्‍णा गोदरेज

नेट वर्थ- 2.4 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री- कंज्‍यूमर गुड्स


स्मिता कृष्‍णा गोदरेज प्रसिद्ध गोदरेज परिवार की कुल संपत्ति के पांचवे हिस्‍से पर मालिकाना हक रखती हैं. गोदरेज समूह का कुल नेट वर्थ 6 अरब डॉलर का है.

 

अनु आगा, हेड - Thermax

नेट वर्थ- 1.8 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री- इंजीनियरिंग


1942 में जन्‍मी 79 वर्ष की अनु आगा भारत की सबसे महिलाओं की सूची में छठे नंबर पर हैं. अनु आगा 1996 से लेकर 2004 तक एनर्जी और इनवायरमेंट इंजीनियरिंग के क्षेत्र में काम करने वाली कंपनी Thermax की चेयरपर्सन रही हैं. इस वक्‍त उनकी बेटी मेहेर पुदुमजी Thermax की चेयरपर्सन है.


राधा वेंबू, हेड – Zoho कॉरपोरेशंस

नेट वर्थ- 1.7 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री- सॉफ्टवेअर


1972 में जन्‍मी 50 वर्षीय राधा वेंबू बिलियनेयर बिजनेसवुमेन हैं और जोहो कॉरपोरेशंस में मेजॉरिटी शेयरहोल्‍डर भी हैं. 1.7 अरब डॉलर की कुल संपत्ति के साथ भारत की सबसे अमीर महिलाओं की सूची में राधा सातवें नंबर पर हैं. उन्‍होंने आईआईटी, मद्रास से इंडस्ट्रियल मैनेजमेंट की पढ़ाई की है.


मृदुला पारेख

नेट वर्थ- 1.7 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री- Adhesive


मृदुला पारेख एधेसिव मैन्‍यूफैक्‍चरिंग कंपनी Pidilite Industries के मालिक पारेख परिवार से ताल्‍लुक रखती हैं. Pidilite कंस्‍ट्रक्‍शन केमिकल्‍स बनाने वाली भारत की प्रमुख कंपनियों में से एक है.


सारा जॉर्ज मुथूट

नेट वर्थ- 1.4 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री- फायनेंशियल सर्विस


फायनेंशियल कंपनी मुथूट फायनेंस के मालिक एम.जी. जॉर्ज मुथूट की 2021 में मृत्‍यु के बाद उनकी पत्‍नी सारा जॉर्ज मुथूट को कंपनी का बड़ा हिस्‍सा मिला. सारा सेंट जॉर्ज हाई स्‍कूल, नई दिल्‍ली की डायरेक्‍टर भी हैं. देश भर में मुथूट फायनेंस की साढ़े पांच हजार शाखाएं हैं और 2 लाख से ज्‍यादा लोग उसके कस्‍टमर हैं.


कविता सिंघानिया

नेट वर्थ- 1.1 अरब डॉलर

इंडस्‍ट्री- सीमेंट


कविता सिंघानिया चेन्‍नई स्थित डेवलपर एक्‍सप्रेस इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर की डायरेक्‍टर हैं और जे.के. सीमेंट में भी उनकी हिस्‍सेदारी है.


Edited by Manisha Pandey

हमारे दैनिक समाचार पत्र के लिए साइन अप करें