एक ही परिवार के 11 सदस्यों ने दी कोरोना को मात, शेयर किया अनुभव

एक ही परिवार के 11 सदस्यों ने दी कोरोना को मात, शेयर किया अनुभव

Tuesday July 07, 2020,

2 min Read

घर में जब एक सदस्य को कोरोना संक्रमण हुआ, तब मुकुल यह समझ गए थे कि यह महज एक शुरुआत है।

अपना अनुभव शेयर करने वाले मुकुल गर्ग (चित्र: एनडीटीवी)

महामारी से जुड़ा अपना अनुभव शेयर करने वाले मुकुल गर्ग (चित्र: एनडीटीवी)



कोरोना वायरस ने देश को बुरी तरह प्रभावित किया है। सोमवार शाम तक देश में कोरोना वायरस के 7 लाख 19 हज़ार से अधिक मामले पाये गए हैं, जबकि महज दिल्ली में यह आंकड़ा 1 लाख मामलों को पार कर गया है। इस बीच दिल्ली से ही एक ऐसा वाकया सामने आया है, जहां पूरा परिवार कोरोना संक्रमित पाया गया और परिवार ने एक साथ ही उस पर जीत भी हासिल की।


यह परिवार दिल्ली के निवासी मुकुल गर्ग का है, जिनके घर में जब एक सदस्य को कोरोना संक्रमण हुआ तब मुकुल यह समझ गए थे कि यह महज एक शुरुआत है। उनके परिवार में 3 महीने से लेकर 90 साल की उम्र के कुल 17 सदस्य हैं।


एनडीटीवी के अनुसार इस दौरान मुकुल को यह पता था कि अभी और भी सदस्य संक्रमित पाये जा सकते हैं, लेकिन इसी के साथ उनका सबसे बड़ा डर ये था कि क्या वो इसके चलते किसी अपने को खो देंगे!


इस बीच कुछ ही दिनों के भीतर परिवार के कुल 11 सदस्य कोरोना वायरस संक्रमित पाये गए। संक्रमित हुए सदस्यों में मुकुल के 90 वर्षीय दादा, 87 वर्षीय दादी, 62 वर्षीय पिता और 60 वर्षीय चाचा शामिल थे। मुकुल के पिता मधुमेह और उच्च रक्तचाप की बीमारी से भी पीड़ित हैं, जिसके चलते मुकुल और अधिक चिंतित थे।


गौरतलब है कि परिवार के कुछ सदस्य जो कोरोना वायरस से संक्रमित पाये गए थे, उनमें इस बीमारी से जुड़े कोई लक्षण नज़र नहीं आए थे।


यह सब अप्रैल के आखिरी दिनों में शुरू हुआ और जून आखिरी तक परिवार के सभी सदस्यों ने इस बीमारी पर जीत हासिल की और सकुशल घर वापस आ गए। मुकुल ने अपने ब्लॉग में यह अनुभव शेयर किया है, जहां उन्होने लिखा है कि ‘बीमारी के खिलाफ इस लड़ाई को जीतना आसान नहीं था।'