ऑटो रिक्शा चालक के बेटे धनवाड़े ने क्रिकेट में रचा इतिहास, बनाया 1009 रन का विश्व रिकॉर्ड

मुंबई के किशोर ने 1009 रन बनाकर बनाया विश्व रिकार्ड...

15 साल के धनवाड़े ने मुंबई क्रिकेट संघ के भंडारी कप अंतरस्कूल टूर्नामेंट में बनाए रन...

323 गेंदों पर बनाए 1009 रन...

धनवाड़े ने ब्रिटेन के एईजे कोलिन्स के 628 रनों को तोड़ा रिकॉर्ड...



मुंबई के किशोर क्रिकेटर प्रणव धनवाड़े ने अंतर स्कूल टूर्नामेंट में नाबाद 1009 रन बनाकर नया इतिहास रच दिया। वह क्रिकेट इतिहास में चार अंकों का स्कोर बनाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गये हैं। केसी गांधी हायर सेकेंडरी स्कूल की तरफ से खेल रहे 15 वर्षीय धनवाड़े ने मुंबई क्रिकेट संघ द्वारा आयोजित भंडारी कप अंतरस्कूल टूर्नामेंट में आर्य गुरूकुल के खिलाफ केवल 323 गेंदों पर यह स्कोर बनाया और उनका स्ट्राइक रेट 312.38 रहा। धनवाड़े ने 395 मिनट तक चली अपनी इस पारी में 129 चौके और 59 छक्के जमाये। उनकी इस ऐतिहासिक पारी का अंत तब हुआ जब उनकी टीम ने तीन विकेट पर 1495 के स्कोर पर पारी समाप्त घोषित की। यह भी विश्व रिकार्ड है। 

तस्वीर साभार-cricket.yahoo.com

तस्वीर साभार-cricket.yahoo.com


धनवाड़े की स्कूल ने विक्टोरिया के न्यूसाउथ वेल्स के खिलाफ 1926 में बनाये गये 1107 रन के रिकार्ड को पीछे छोड़ा। धनवाड़े के नाम पर अब भी किसी तरह की क्रिकेट में एक पारी में सर्वाधिक स्कोर का रिकार्ड दर्ज हो गया है। उन्होंने ब्रिटेन के एईजे कोलिन्स का क्लार्क हाउस के खिलाफ नार्थ टाउन में 1899 में बनाये गये नाबाद 628 रन के रिकार्ड को तोड़ा। दसवीं में पढ़ने वाला प्रणव एमसीए के अनुभवी कोच मोबिन शेख का शिष्य है और वह आटोरिक्शा चालक का एकमात्र बेटा है। ठाणे के निकट कल्याण के वायलेंगर मैदान पर खेले गये मैच में उनकी टीम ने यह विशाल स्कोर अपने प्रतिद्वंद्वी के 17 ओवर में 31 रन पर आउट होने के जवाब में बनाया।

अपनी पारी के दौरान उन्होंने भारतीय स्कूली क्रिकेट में 546 रन के सर्वाधिक व्यक्तिगत स्कोर के रिकार्ड को पीछे छोड़ा। यह रिकार्ड मुंबई के एक अन्य क्रिकेटर पृथ्वी शॉ ने 2013 में हैरिस शील्ड मैच में रिजवी स्प्रिंगफील्ड की तरफ से सेंट फ्रांसिस डि एसीसी के खिलाफ बनाया था। 

दिग्गज बल्लेबाज सचिन तेंदुलकर ने धनवाड़े को इस प्रदर्शन पर बधाई दी है। सचिन ने अपने ट्विटर हैंडल पर लिखा, 

‘‘प्रणव धनवाड़े को एक पारी में 1000 से अधिक रन बनाने वाला पहला बल्लेबाज बनने पर बधाई। शाबाश और कड़ी मेहनत करो। आपको भी नयी उंचाईयां छूनी चाहिए। ’’ 

धनवाड़े के कोच शेख ने कहा, 

‘‘धनवाड़े जब छह साल का था तब से मेरे पास है। उनके इस प्रदर्शन से इस क्षेत्र में क्रिकेट को काफी बढ़ावा मिलेगा। कल्याण के आसपास हमारे यहां काफी प्रतिभा है लेकिन उचित सुविधाएं नहीं होने से ये खिलाड़ी आगे नहीं बढ़ पा रहे हैं। आज : पूर्व भारतीय कप्तान और एमसीए उपाध्यक्ष : दिलीप वेंगसरकर आये और उन्होंने मैदान उपलब्ध कराने की स्थिति में यहां अकादमी खोलने का वादा किया।’’ 

उन्होंने कहा, ‘‘यह अंडर . 16 मैच के लिये उपयुक्त मैदान था और टूर्नामेंट एमसीए से मान्यता प्राप्त है। मैं विरोधी टीम के रवैये से भी खुश हूं। ’’


पीटीआई