एक नहीं इन 3 लोगों को मिला है फिजिक्स में नोबेल पुरस्कार

By Rajat Pandey
October 04, 2022, Updated on : Tue Oct 04 2022 14:57:40 GMT+0000
एक नहीं इन 3 लोगों को मिला है फिजिक्स में नोबेल पुरस्कार
वर्ष 2022 के लिए एलेन एस्पेक्ट (Alain Aspect), जॉन एफ क्लॉजर (John F. Clauser) और एंटोन ज़िलिंगर (Anton Zeilinger) को भौतिकी के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की गयी है.
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
  • +0
    Clap Icon
Share on
close
Share on
close

बीते सोमवार से नोबेल पुरस्कार विजेताओं के नामों के एलान की शुरुआत हो गयी है. चिकित्सा(Medicine) के क्षेत्र में स्वीडिश वैज्ञानिक Svante Paabo को नोबेल पुरस्कार मिलने की घोषणा के एक दिन बाद यानी आज(4 अक्टूबर) भौतिकी(Physics) के लिए दिए जाने वाले नोबेल पुरस्कार की घोषणा करदी गई है.


इस बार भौतिकी के क्षेत्र में नोबेल एक नहीं बल्कि 3 वैज्ञानिकों को दिया गया है. रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज(Royal Swedish Academy of Sciences) ने वर्ष 2022 के लिए फ्रेंच फिजिसिस्ट एलेन एस्पेक्ट (Alain Aspect), अमरीकी फिजिसिस्ट जॉन एफ क्लॉजर (John F. Clauser) और ऑस्ट्रेलियाई फिजिसिस्ट एंटोन ज़िलिंगर (Anton Zeilinger) को भौतिकी के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित करने की घोषणा की है. इन तीनों वैज्ञानिकों को ‘क्वांटम मेकैनिक्स’ में अभूतपूर्व योगदान देने के लिए नोबेल दिया गया है. रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज के महासचिव हैंस एल्लेग्रेन(Hans Ellegren) ने स्टॉकहोम के कैरोलिस्का इंस्टीट्यूट में मंगलवार को विजेता की घोषणा की.


रॉयल स्वीडिश एकेडमी ऑफ साइंसेज एक स्वतंत्र संगठन है, जिसका समग्र उद्देश्य विज्ञान को बढ़ावा देना और समाज में उनके प्रभाव को मजबूत करना है. अकादमी स्वीडिश अनुसंधान में विकास और नवाचार को बढ़ावा देकर उच्चतम गुणवत्ता के विज्ञान को बढ़ावा देती है.


अकादमी की ओर से जारी एक बयान में बताया गया कि भौतिकी के क्षेत्र में 2022 का नोबेल पुरस्कार "ट्विस्टेड फोटॉनों(Photon) के साथ एक्सपेरिमेंट करने, Bell inequalities के उल्लंघन को स्थापित करने और क्वांटम सूचना विज्ञान(Quantum Information Science) की दिशा में कार्य," करने के लिए दिया गया है.


2022 के भौतिकी पुरस्कार विजेताओं के प्रयोगों ने क्वांटम प्रौद्योगिकी(Quantum Technology) के क्षेत्र में नई संभावनाओं के लिए मार्ग प्रशस्त करदिया है. क्वांटम स्टेट और उनके गुणों की सभी परतों(Layers) के बारे ने जानकारी प्राप्त करने के बाद हम अपार क्षमता वाले उपकरणों का अध्यन भी कर सकेंगे.


अकादमी की वेबसाइट द्वारा जारी जानकारी के अनुसार "क्वांटम यांत्रिकी(Quantum Mechanics) के मूल सिद्धांत केवल सैद्धांतिक या दार्शनिक मुद्दे नहीं हैं. एक पार्टिकल के स्पेशल प्रॉपर्टीज का इस्तेमाल कर क्वांटम कंप्यूटर बनाने, माप(Measurement) में सुधार करने, क्वांटम नेटवर्क बनाने और सुरक्षित क्वांटम इनस्क्रिप्टेड संचार स्थापित करने के लिए गहन शोध और विकास निरंतर चल रहा है."


पिछले साल 2021 में भोतिकी के लिए वैज्ञानिक स्यूकुरो मनाबे(Syukuro Manabe)

, क्लॉस हैसलमैन(Klaus Hasselmann) और जियोर्जियो पेरिस(Giorgio Parisi) को नोबेल पुरस्कार मिला था.

आने वाले दिनों में इन नोबेल पुरस्कारों की होगी घोषणा

इस सप्ताह के बुधवार को रसायन शास्त्र और गुरुवार को साहित्य के लिए नोबेल पुरस्कार की घोषणा की जाएगी. नोबेल शांति पुरस्कार की घोषणा शुक्रवार को और अर्थशास्त्र में नोबेल की घोषणा 10 अक्टूबर को होगी.